#MeToo / नाना के खिलाफ नहीं मिले यौन शोषण के सुबूत, 7 महीनों में पुलिस के पास नहीं एक भी गवाह



Witness statements don't support Tanushree claims aginst nana patekar
Witness statements don't support Tanushree claims aginst nana patekar
Witness statements don't support Tanushree claims aginst nana patekar
X
Witness statements don't support Tanushree claims aginst nana patekar
Witness statements don't support Tanushree claims aginst nana patekar
Witness statements don't support Tanushree claims aginst nana patekar

  • 2008 में फिल्म हॉर्न ओके प्लीज की शूटिंग के दौरान हुई थी घटना 
  • नवम्बर 2018 में तनुश्री ने दर्ज कराई थी नाना के खिलाफ एफआईआर

Dainik Bhaskar

May 16, 2019, 12:54 PM IST

बॉलीवुड डेस्क. तनुश्री दत्ता के नाना पाटेकर के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों की जांच अब कमजोर पड़ती नजर आ रही है। ओशिवारा पुलिस के अनुसार पिछले सात महीनों के दौरान जब से तनुश्री ने एफआईआर दर्ज करवाई थी तब से वे अपने दावों का समर्थन करने के लिए कोई गवाह नहीं ला सकी हैं। और जिन्होंने बयान दिए भी थे तनुश्री के आराेपों से नहीं मेल नहीं खाते। 

मामले में अब तक हुआ ये

  1. मिड डे की एक रिपोर्ट के अनुसार तनुश्री और नाना के मामले में पुलिस ने करीब 15 लोगों के बयान रिकॉर्ड किए थे। जिनमें डेजी शाह भी शामिल थीं, जो हॉर्न ओके प्लीज फिल्म के कोरियोग्राफर गणेश आचार्य की असिस्टेंट थीं। कोई भी गवाह तनुश्री के बयानों की पुष्टि नहीं कर सका। यहां तक कि डेजी भी नहीं, उन्होंने पुलिस को बताया कि उन्हें घटना पूरी तरह याद नहीं।

  2. पुलिस के एक उच्चाधिकारी ने बताया कि बयान तो कई आए लेकिन कोई भी तनुश्री द्वारा लगाए आरोपों का सपोर्ट नहीं कर सका। इसके पीछे कारण था कि वे  गवाह उस घटना को याद नहीं कर पा रहे थे। कुछ ने शूटिंग में हो रही देरी को तो याद रखा लेकिन तनुश्री के शोषण से जुड़ी कोई बात उन्हें याद नहीं। 

  3. क्योंकि मामला 10 साल पुराना है, इसलिए घटना के समय मौजूद लोगों को ट्रैक करने में काफी समय लग रहा है। अधिकारी ने कहा कि जांच को आगे बढ़ाने के लिए गवाहों के बयान बहुत महत्वपूर्ण हैं। हालांकि इस बीच पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी शैलेष पसलवाड़ ने यह कहकर कोई भी बयान देने से मना कर दिया कि जांच अभी एक अहम चरण में है।

  4. इस मामले पर तनुश्री ने दावा किया कि जिन गवाहों ने बयान दिया है वे नाना के दोस्त हैं, और वह यौन उत्पीड़न के आरोपों को नहीं मानेंगे। तनुश्री ने कहा था- मुझे यह साबित करने के लिए गवाहों की जरूरत नहीं है कि मेरा शोषण हुआ था। लोगों की मानसिकता ऐसी है कि वे ऐसे अपराधियों को बचाने के लिए झूठ बोलेंगे और महिला को गलत साबित करेंगे। 

  5. तनुश्री ने यह भी आरोप लगाया कि जो गवाह उनके पक्ष में बोलना चाहते थे, उन्हें धमकाया गया। तनुश्री ने बताया-  मेरे सपोर्टर्स को नाना के लोग धमकी भरे फोन कर रहे हैं। लेकिन मुझे अब भी विश्वास है कि सभी आरोपियों को सजा मिलेगी क्योंकि मैं यह लड़ाई अपने लिए नहीं बल्कि उन लोगों के लिए लड़ रही हूं जो पीड़ित हैं और चुप हैं। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना