फ्रेंडशिप-डे / एक्टर्स ने कहा- जीवन में भले एक ही से दाेस्ती करें, पर वाे सच्ची और पक्की हाेनी चाहिए



लेफ्ट टू राइट- रजनीश, शफाक, नाजिया और पूजा। लेफ्ट टू राइट- रजनीश, शफाक, नाजिया और पूजा।
X
लेफ्ट टू राइट- रजनीश, शफाक, नाजिया और पूजा।लेफ्ट टू राइट- रजनीश, शफाक, नाजिया और पूजा।

  • एक्टर्स रजनीश दुग्गल, पूजा, सफाक, नाजिया और डायरेक्टर नितेश तिवारी ने मैसेज दिए

Dainik Bhaskar

Aug 03, 2019, 03:25 PM IST

जयपुर. फ्रेंडशिप एक ऐसा शब्द है, जो हर आम और खास के लिए एक समान होता है। बॉलीवुड में भी दोस्ती के किस्से-कहानियां मशहूर है। जब एक्टर्स या डायरेक्टर्स से दोस्ती पर बात गई तो वे घंटों दोस्तों की बातों डूबे रहे और सभी ने दोस्ती का महत्व अपने-अपने अंदाज में बताया।

 

फ्रेंडशिप डे रविवार को है, लेकिन उससे पहले जयपुर आए बॉलीवुड डायरेक्टर नितेश तिवारी, एक्टर रजनीश दुग्गल, एक्ट्रेस पूजा, शफाक और नाजिया ने बताया कि किस तरह दोस्तों ने उनकाे प्रभावित किया। अलग-अलग प्रोग्राम में आए इन लोगों ने फ्रेंडशिप डे पर मैसेज भी दिए। नितेश तिवारी ने बताया, आईआईटी मुंबई में स्टडी के दौरान दोस्तों के पुश करने पर ही वे राइटिंग फील्ड में आए और आज एक सफल डायरेक्टर हैं। वहीं रजनीश ने कहा, उनकी सबसे अच्छी दोस्त उनकी वाइफ ही है, जो उनका फाइनेंस भी देखती है तो शफाक का कहना है, वे दोस्तों के बिना एक पल भी नहीं रह सकती हैं। उनके अनुसार जीवन में सिर्फ एक से ही दोस्ती करनी चाहिए, लेकिन वे सच्ची और पक्की हाेनी चाहिए।

 

मेरी वाइफ मेरी बेस्ट फ्रेंड : रजनीश दुग्गल

मेरी वाइफ मेरी बेस्ट फ्रेंड हैं। वे मुझे सबसे ज्यादा सपोर्ट करती हैं। सगे रिश्तेदारों से बढ़कर फ्रेंड्स होते हैं। खून के रिश्ते बनकर आते हैं, लेकिन दोस्ती का रिश्ता हम खुद बनाते हैं। बात की जाए बॉलीवुड की तो वहां भी सच्चे दोस्त बनते हैं। कभी-कभी जिसके साथ जितना काम करते हैं, उतने अच्छे दोस्त बनते जाते हैं। रजनीश दुग्गल के साथ आई एक्ट्रेस पूजा, शफाक और नाजिया ने भी फ्रेंडशिप पर खुलकर बात की। रजनीश ने कहा बालीवुड में भी सच्चे दोस्त होते है बस उन्हें पहचानने की जरुरत होती है।

 

खतरों के खिलाड़ी से हुई गहरी दोस्ती
रजनीश ने कहा, खतरों के खिलाड़ी के समय सलमान, निकितन, युसुफ मेरे अच्छे दोस्त बन गए। शो के समय और रेस्ट टाइम पर हम एक-दूसरे काम्पिटीटर नहीं, दोस्त ही होते थे। इंडस्ट्री में हितेन भी मेरा स्ट्रांग फ्रेंड है। ये परिवार के संस्कार पर भी निर्भर करता है, कि आप लोगों से कैसे जुड़ते हैं।


बहुत सारे नहीं, एक सच्चा दोस्त बनाओ
वहीं सभी एक्ट्रेस ने कहा, हम कुछ रिश्ते पैदा होने के साथ लेकर आते हैं और कुछ यहां आकर बनाते हैं। हर कही अच्छे दोस्त बनते हैं। हम एक-दूसरे को प्रोफेशन और पर्सनल लाइफ में सपोर्ट करते हैं। शफाक ने कहा, जिंदगी का एक सैकंड भी दोस्त के बिना नहीं निकाल सकती। मैं तो दोस्तों को उनकी आवाज से भी पहचान जाती हूं। मेरा मानना है, बहुत सारे नहीं एक दोस्त बनाओ लेकिन सच्चा बनाओ।

 

दोस्तों के पुश करने पर ही बढ़ा था कला के क्षेत्र में आगे : तिवारी

जब आईआईटी मुंबई में गया तो मुझे पता नहीं था, कि मैं लिख सकता हूं या डायरेक्शन दे सकता हूं। वहां क्लास मेट्स और सीनियर्स ने लिखने के लिए मोटिवेट किया। दोस्तों ने पुश किया, जिसका मेरे कॅरियर पर बड़ा अहम रोल रहा। यदि दोस्त नहीं होते तो कॉन्फिडेंस नहीं आता। आज जिस मुकाम पर हूं, उसमें उनका भी साथ रहा है। नितेश तिवारी ने कहा फ्रेंडशिप जीवन में बहुत जरूरी है। वे शुक्रवार को जयपुर में स्टूडेंट्स के बीच थे। वे विवेकानंद ग्लोबल यूनिवर्सिटी में चल रहे आरंभ में पहुंचे और स्टूडेंट्स से इंटरेक्ट किया। उन्होंने स्टूडेंट्स को मूवी मेकिंग के प्रोसेस भी बताया।


दोस्त देते हैं जिंदगी को शेप

उन्होंने कहा, काॅलेज में बिताए साल ही जिंदगी को शेप देते हैं। उस दौरान ऐसे दोस्त बनते हैं, जो जिंदगी भर साथ रहते हैं। हालाकि वे टच में न रहे, लेकिन हमेशा जरूरत पड़ने पर आपके साथ खड़े होते हैं। आईआईटी में गुजारे दिनों की झलक मेरी मूवी में दिखाई देती है।


आमिर ही दे सकते थे दो साल

दंगल में आमिर खान के रोल के लिए कहा, दंगल के लिए किसी से भी पूछा तो सिर्फ आमिर सर का ही नाम सामने आया। सबको लगा, कि एक वही हैं जो अपने जीवन के दो साल किसी एक मूवी को दे सकते हैं। उन्होंने दो वर्ष तक मेहनत की और मूवी का रिजल्ट आपके सामने है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना