इंटरव्यू / सिंगल पेरेंट दीपशिखा का दर्द- 4 महीने से घर से दूर हूं, पहली बार बच्चों को अकेला छोड़ा



बेटे विवान और बेटी विधिका के साथ दीपशिखा नागपाल। बेटे विवान और बेटी विधिका के साथ दीपशिखा नागपाल।
दीपशिखा बेटी विधिका के साथ। दीपशिखा बेटी विधिका के साथ।
बेटे विवान के साथ दीपशिखा। बेटे विवान के साथ दीपशिखा।
दीपशिखा बेटी विधिका के साथ। दीपशिखा बेटी विधिका के साथ।
बेटे विवान और बेटी विधिका के साथ दीपशिखा। बेटे विवान और बेटी विधिका के साथ दीपशिखा।
दीपशिखा बेटे विवान और बेटी विधिका के साथ। दीपशिखा बेटे विवान और बेटी विधिका के साथ।
X
बेटे विवान और बेटी विधिका के साथ दीपशिखा नागपाल।बेटे विवान और बेटी विधिका के साथ दीपशिखा नागपाल।
दीपशिखा बेटी विधिका के साथ।दीपशिखा बेटी विधिका के साथ।
बेटे विवान के साथ दीपशिखा।बेटे विवान के साथ दीपशिखा।
दीपशिखा बेटी विधिका के साथ।दीपशिखा बेटी विधिका के साथ।
बेटे विवान और बेटी विधिका के साथ दीपशिखा।बेटे विवान और बेटी विधिका के साथ दीपशिखा।
दीपशिखा बेटे विवान और बेटी विधिका के साथ।दीपशिखा बेटे विवान और बेटी विधिका के साथ।

Dainik Bhaskar

Jun 14, 2019, 09:40 AM IST

किरण जैन/टीवी डेस्क.  एक्ट्रेस दीपशिखा नागपाल पिछले 4 महीने से घर से दूर हैं। वो मुंबई से करीब 1200 किमी. दूर जयपुर में शो मैं भी अर्धांगिनी की शूटिंग कर रही हैं। दीपशिखा सिंगल पेरेंट हैं। ऐसे में जब वो शूटिंग के लिए जयपुर में हैं तो वहीं मुंबई में उनके दोनों बच्चे विधिका(18) और विवान (13) अकेले रह रहे हैं। एक्ट्रेस को शेड्यूल से जब भी कुछ वक्त मिलता है, वो तुरंत मुंबई पहुंच जाती हैं। दैनिक भास्कर से बातचीत में उन्होंने अपनी इस भागदौड़ भरी जिंदगी के बारे में खुलकर बात की। 

दीपशिखा से बातचीत के अंश:-

  1. 'पहला मौका, जब बच्चों से दूर हुई'

    दीपशिखा ने अपना दर्द बयां करते हुए कहा, "मेरी जिंदगी का यह ऐसा मौका है, जिसमें कई बार मेरा दिल टूट जाता है। मैं कई सालों से काम कर रही हूं और ये पहली बार है, जब काम के लिए अपने बच्चों से दूर हुई हूं। शुरुआत में लगा कि सब एडजस्ट हो जाएगा। लेकिन ये सफर इतना कठिन होगा, ये कभी नहीं सोचा था। जब भी समय मिलता है, मैं मुंबई की पहली फ्लाइट पकड़ती हूं और बच्चों के साथ वक्त बिताने निकल जाती हूं।"

  2. 'बच्चों की मुस्कराहट के लिए कुछ भी करूंगी'

    बकौल दीपशिखा, "सुबह 5 बजे की फ्लाइट लेना, मुंबई में बच्चों के साथ वक्त बिताना और फिर देर रात जयपुर लौटना, इस भागदौड़ ने मेरी तबियत का भी बुरा हाल कर दिया है। मैं बहुत थक जाती हूं, लेकिन जब अपने बच्चों की मुस्कराहट और उनके साथ बिताए पलों को याद करती हूं, तो लगता है कि मेरी मेहनत बेकार नहीं गई। मैं उनकी खुशी के लिए कुछ भी करने को तैयार रहती हूं।"

  3. हर दिन बच्चों से करती हैं बात

    तो कैसे वो अपनी प्रोफेशनल और पर्सनल लाइफ को बैलेंस कर रही हैं? इस पर दीपशिखा कहती हैं,  "मैं अपने बच्चों से नियमित रूप से बात करती हूं। कभी-कभी दिन में 5 बार। उनसे दूर भले ही रहूं, लेकिन उनके जीवन में आने वाले सभी उतार-चढ़ाव के बारे में जानती हूं। मुझे लगता है कि इन 4 महीनों में मेरे और बच्चों के बीच का रिश्ता और भी मजबूत हो गया है।"

  4. बच्चों की बेस्ट फ्रेंड बनने की कोशिश

    दीपशिखा आगे कहती हैं, "हर दिन मेरी यही कोशिश रहती है कि मैं बच्चों की बेस्ट फ्रेंड बनूं, लेकिन कई बार हार जाती हूं। क्योंकि मैं एक कामकाजी महिला भी हूं। मेरे बच्चे बहुत समझदार हैं। वो मेरी हर सिचुएशन समझते हैं। एक मां के लिए यह सब बहुत मायने रखता है। सच कहूं तो सिंगल पेरेंट होना बहुत कठिन है।"
     

  5. दो शादियां कर चुकीं दीपशिखा

    1997 में दीपशिखा की पहली शादी एक्टर जीत उपेंद्र से हुई थी। जोड़ी के दो बच्चे (बेटी विधिका और बेटा विहान) हैं। शादी के 10 साल बाद 2007 में इनका तलाक हो गया। 2012 में दीपशिखा नागपाल ने एक्टर केशव अरोड़ा से दूसरी शादी की। लेकिन 4 साल बाद ही दोनों के बीच दूरियां आने लगीं। दोनों ने रिश्ते को दूसरा मौका दिया था। लेकिन चीजें नहीं बदलीं और उन्होंने तलाक लेने का फैसला लिया। 

COMMENT