संघर्ष / धर्मेन्द्र को याद आए मुंबई के शुरूआती दिन, बोले- मेरे पास घर नहीं था, गैरेज में रहकर गुजारा करना पड़ा था

Dharmendra remembered the early days of Mumbai, said - I did not have a house, had to live in a garage.
X
Dharmendra remembered the early days of Mumbai, said - I did not have a house, had to live in a garage.

दैनिक भास्कर

Feb 08, 2020, 08:00 AM IST

बॉलीवुड डेस्क.  दिग्गज अभिनेता धर्मेन्द्र हाल ही में सिंगिंग रियलिटी शो 'इंडियन आइडल 11' में पहुंचे। इस दौरान जब एक कंटेस्टेंट ने फिल्म 'चरस' (1976) से उनका गाना 'कल की हसीन मुलाकात के लिए' गाया तो उन्हें अपने संघर्ष के दिनों की याद आ गई। 84 साल के धर्मेन्द्र ने अपने उस दौर का जिक्र करते हुए बताया कि मुंबई में उनके पास घर नहीं था, जिसकी वजह से उन्हें गैरेज में रहकर गुजारा करना पड़ा था। 

महीने के 200 रुपए मिलते थे: धर्मेन्द्र 
बकौल धर्मेन्द्र, "शुरूआती दिनों में मैं गैरेज में रहता था। क्योंकि मुंबई में मेरे पास घर नहीं था। मुंबई में रहने के लिए मैं एक ड्रिलिंग फर्म में काम करता था, जहां से महीने के 200 रुपए मिलते थे। एक्स्ट्रा पैसों के लिए मुझे ओवरटाइम करना पड़ता था।"

जब पुरानी यादों के चलते भावुक हुए थे धर्मेन्द्र 
सितम्बर 2019 में धर्मेन्द्र सिनिंग रियलिटी शो 'सुपरस्टार सिंगर' में पहुंचे थे। शो में जब उनकी जीवन यात्रा पर आधारित एक वीडियो चलाया गया तो वे भावुक हो गए थे। वीडियो में उनके गांव, वहां का पुल और स्कूल समेत कई यादों को शामिल किया गया था। इसे देखने के बाद धर्मेन्द्र ने कहा था,"यही मैं ख्वाब देखता था यहां आने के। उस पुल पे जाता हूं तो उससे कहता हूं कि धर्मेन्द्र तू एक्टर बन गया यार।"

मूलरूप से लुधियाना (पंजाब) से 10 किमी. दूर बसे गांव सानेहवाल के रहने वाले धर्मेन्द्र ने 60, 70 और 80 के दशक में बॉलीवुड पर राज किया है। उनकी प्रमुख फिल्मों में 'हकीकत', 'फूल और पत्थर', 'समाधि', 'ब्लैक मेल', 'शोले', 'प्रोफेसर प्यारेलाल', 'रजिया सुलतान', 'पुलिसवाला गुंडा', 'यमला पगला दीवाना'और 'अपने' शामिल हैं। उन्हें भारत सरकार की और से देश का तीसरा सबसे बड़ा सम्मान पद्म भूषण दिया जा चुका है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना