रेप केस / करण ओबेरॉय के वकील ने कोर्ट में कहा- महिला पर जुनून सवार, उन्हें बर्बाद करना चाहती है

Dainik Bhaskar

May 16, 2019, 04:59 PM IST



Karan Oberoi lawyer says Accuser obsessed with the actor, wants to destroy him
Karan Oberoi lawyer says Accuser obsessed with the actor, wants to destroy him
Karan Oberoi lawyer says Accuser obsessed with the actor, wants to destroy him
X
Karan Oberoi lawyer says Accuser obsessed with the actor, wants to destroy him
Karan Oberoi lawyer says Accuser obsessed with the actor, wants to destroy him
Karan Oberoi lawyer says Accuser obsessed with the actor, wants to destroy him

टीवी डेस्क. महिला ज्योतिषी के रेप के आरोप में फंसे एक्टर करण ओबेरॉय की जमानत याचिका पर बुधवार को सुनवाई हुई। इस दौरान बचाव पक्ष की ओर से दलील दी गई है कि जिस महिला ने करण पर रेप का आरोप लगाया है, उस पर उन्हें लेकर जूनून सवार है और वह झूठे आरोप लगाकर उन्हें बर्बाद करना चाहती है। करण के वकील दिनेश तिवारी ने कोर्ट में बहस के दौरान कहा, "वह (महिला) किसी के साथ प्यार में होने का दावा करती है और फिर उसे बर्बाद करने का सोच रही है।"

 

वकील ने कोर्ट में दिया मैसेजेस का हवाला


- लॉयर तिवारी ने कोर्ट में उन मैसेजेस का हवाला दिया, जो करण और महिला के बीच एक्सचेंज हुए थे। उनके मुताबिक, महिला का कहना था कि वह करण को पिछले जन्म से जानती है और इस जन्म में उनके साथ उसकी शादी का योग है। ओबेरॉय महिला के जुनून से परेशान हो चुके थे और इस बात से इनकार करते हैं कि उन्होंने कभी महिला को शादी के लिए प्रपोज किया था।

 

करण कर चुके महिला के खिलाफ एनसी कंप्लेंट: वकील

 

- वकील दिनेश तिवारी ने कोर्ट में कहा कि अक्टूबर 2018 में करण ने महिला के खिलाफ नॉन कॉग्निजेबल (गैर संज्ञेय) शिकायत भी दर्ज कराई थी। इसमें कहा गया था कि महिला ने उससे मुलाकात न करने की स्थिति में उन्हें मुश्किल खड़ी करने और झूठे केस में फंसाने की धमकी दी थी। बचाव पक्ष की ओर से यह दलील भी दी गई कि ओबेरॉय और महिला की मुलाकात अगस्त 2016 में एक पॉपुलर ऐप के जरिए हुई थी। साथ ही FIR में महिला के दावे का खंडन भी किया, जिसमें लिखा गया है कि वह सीरियस रिलेशनशिप चाहती थी। दिनेश तिवारी के मुताबिक, "यह एक डेटिंग ऐप थी, मैट्रिमोनियल नहीं। उसने FIR में दावा किया है कि वह सीरियस रिलेशनशिप चाहती थी। अगर ऐसा होती तो वह डेटिंग ऐप पर नहीं जाती, बल्कि मैट्रिमोनियल साइट पर अपना रजिस्ट्रेशन कराती। यह दो मैच्योर लोगों के बीच का रिश्ता था।"

 

रेप पीड़िता कैसे कर सकती है अपने आरोपी से प्यार: वकील

 

तिवारी का कहना है कि महिला FIR में रेप और फिरौती का आरोप लगाती है और फिर कहती है कि वह बार-बार ओबेरॉय से शादी के लिए कह रही थी। बकौल तिवारी, "यह कैसे हो सकता है कि जिसका रेप हुआ है, वह बाद आरोपी से प्यार करने लगे? और आखिर कैसे उनके बीच शादी को लेकर बातें होने लगती हैं? उसका कहना है कि 6 महीने बाद ओबेरॉय शादी नहीं करते हैं तो उन्हें उसका सामान लौटा देना चाहिए। क्या यह वाकई किसी विक्टिम का असली व्यवहार है?"

 

वकील ने FIR में देरी पर भी उठाया सवाल

 

- तिवारी ने विक्टिम के देरी से शिकायत दर्ज कराने पर भी सवाल उठाया। साथ ही यह भी कहा कि महिला ने पहली बार कथित रेप की तारीख का उल्लेख किया है, जबकि बाक़ी तारीखों का कोई जिक्र नहीं किया है। बकौल तिवारी, "उसने ये आरोप अपनी कोरी कल्पना के आधार पर लगाए हैं।" उनके मुताबिक, महिला ओबेरॉय को गिफ्ट देती थी, क्योंकि वह उनसे प्यार करती थी और मानती थी कि वह उनसे शादी करेगी।तिवारी का कहना यह भी है कि महिला ने प्यार से जुड़े मामलों को सुलझाने के लिए एक व्हाट्सऐप ग्रुप भी बनाया था। 

 

क्या एकतरफ़ा था महिला का प्यार?

 

- दोनों के बीच मैसेजेस के आदान-प्रदान को लेकर तिवारी ने कहा, "ऐसा लगता है, जैसे महिला ओबेरॉय से एकतरफ़ा प्यार करती थी। हर बार वह उनसे दूर चली जाती थी और फिर वापस लौट आती थी। लॉयर ने कहा कि महिला ने ओबेरॉय को कई मैसेज किए और जब ब्लॉक कर दिया गया तो नंबर बदलकर उनसे संपर्क करने लगी। इनमें एक इंटरनेशनल नंबर भी था। गुरुवार को भी इस मामले पर सुनवाई जारी रही।

 

क्या है मामला

 

-  एक महिला ज्योतिषी ने करण पर शादी का झांसा देकर रेप का आरोप लगाया है। ओशिवारा पुलिस थाने में दर्ज एफआईआर के मुताबिक, अक्टूबर 2016 में एक डेटिंग ऐप्लिकेशन के जरिए दोनों की मुलाकात हुई थी। इसके बाद दोनों दोस्त बन गए। पीड़िता ने बताया कि एक दिन करण ने उसे अपने फ्लैट में मिलने बुलाया। यहां एक्टर ने उनसे शादी का वादा किया और कथित तौर पर नारियल पानी में नशीला पदार्थ मिलाकर उसे पिला दिया। इसके बाद एक्टर ने रेप किया और उसका वीडियो भी बनाया। महिला की शिकायत के बाद 4 मई को करण को गिरफ्तार किया गया और 6 मई को 3 दिन की हिरासत में भेजा गया। लेकिन 9 मई की सुनवाई के बाद अंधेरी कोर्ट ने उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। 10 मई को को ओबेरॉय की ओर से कोर्ट में जमानत की अर्जी लगाई गई थी। 
 

COMMENT

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543