--Advertisement--

प्रतिबंध / पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट ने कहा- हमारे चैनलों पर हिंदुस्तानी टीवी शो नहीं चलेंगे, ये हमारी तहज़ीब के लिए खतरा



Pakistan Supreme Court quoted no Indian content will run on TV it damages our culture
X
Pakistan Supreme Court quoted no Indian content will run on TV it damages our culture

  • 2017 में लाहौर हाई कोर्ट ने पेमरा द्वारा लगाया बैन हटा दिया था
  • अक्टूबर 2018 में, सुप्रीम कोर्ट ने इंडियन टीवी शो पर बैन को बहाल कर दिया

Dainik Bhaskar

Jan 09, 2019, 07:06 PM IST

टीवी डेस्क. पाकिस्तान के चीफ जस्टिस साकिब निसार ने कहा है देश का सुप्रीम कोर्ट अब भारतीय टीवी शो को पाकिस्तानी टीवी चैनल्स पर दिखाने की अनुमति नहीं देगा। साकिब का कहना है इंडियन टीवी शो उनके कल्चर को नुकसान पहुंचा रहे हैं। 

याचिका की सुनवाई पर आया बयान

  1. पाकिस्तान के अखबार डॉन न्यूज की खबर के अनुसार साकिब निसार का यह बयान तीन सदस्यों की एपेक्स कोर्ट बेंच की सुनवाई के दौरान आया। जहां वे पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया रेगुलेट्री अथॉरिटी (PEMRA) की याचिका की सुनवाई कर रहे थे। यह याचिका  देश में टीवी चैनलों पर भारतीय सामग्री के प्रसारण पर प्रतिबंध लगाने के उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ दायर की गई थी। 

  2. PEMRA के वकील जफर इकबाल कलानौरी ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि यह बैन हाईकोर्ट के बैन ऑर्डन इशू होने से पहले ही लगा दिया गया था। अथॉरिटी के चेयरमैन सलीम बेग ने कहा फिल्माज़िया चैनल पर दिखाए गए कंटेन्ट का 65 प्रतिशत हिस्सा दूसरे देशों का था। कई बार यह आंकड़ा 80 प्रतिशत तक बढ़ जाता है। 

  3. जब बेंच के सामने यह दलील दी गई कि फ़िल्माज़िया एक न्यूज चैनल नहीं बल्कि एक एंटरटेनमेंट चैनल है। और यह किसी तरह का प्रोपगेंडा नहीं करता था। उस पर चीफ जस्टिस ने पेमरा के वकील को क्रॉस करते हुए कहा- जो भी हो, यह हमारी संस्कृति को नुकसान पहुंचा रहा है। हम कोई भी भारतीय कंटेन्ट चैनल्स पर दिखाने की अनुमति नहीं देंगे। 

  4. फरवरी तक टली सुनवाई

    पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश ने पाकिस्तान ब्रॉडकास्टर्स ऐसोसिएशन के वकील फैजल सिद्दकी के कोर्ट में मौजूद न होने के कारण सुनवाई फरवरी पहले हफ्ते तक के लिए स्थगित कर दी है। 

  5. 2016 में पेमरा ने भारतीय टीवी शो को पाकिस्तान के लोकल चैनल्स और एफएम रेडियो चैनल्स पर टेलीकास्ट करने पर बैन लगा दिया था। हालांकि यह निर्णय जैसे को तैसा के तौर पर लिया गया था, जब भारतीय फिल्म इंडस्ट्री में पाकिस्तानी कलाकारों को बैन करने की बात चल रही थी। 
     

Astrology
Click to listen..