पुलवामा अटैक: सलमान खान की वजह से अटका सिद्धू को सोनी टीवी से बाहर करने का अंतिम फैसला, चैनल को कहा- मामला ठंडा होने तक इंतजार करें

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

मुंबई. पुलवामा अटैक पर अपने बयान की वजह से विवादों में चल रहे नवजोत सिंह सिद्धू को सोनी टीवी से हटाने या न हटाने का फैसला फिलहाल होल्ड पर है। सूत्रों की मानें तो 'द कपिल शर्मा शो' के प्रोड्यूसर सलमान खान और होस्ट कपिल शर्मा की वजह से अभी तक उन पर कोई फैसला नहीं लिया जा सकता है। सलमान ने सिद्धू को शो से रिजाइन करने को तो कहा, लेकिन चैनल को सलाह दी है कि वे अंतिम फैसले के लिए कुछ इंतजार करें। सलमान ने तुरंत मांगा सिद्धू से रिजाइन...

- सूत्र बताते हैं कि जब सिद्धू ने पुलवामा मामले में बयान दिया और विवाद खड़ा हुआ तो चैनल इस दुविधा में था कि उसे क्या करना चाहिए। ऐसे में सलमान ने देरी नहीं लगाई। उन्होंने चैनल के कोई भी निर्णय लेने से पहले ही सिद्धू से रिजाइन मांग लिया। जाहिरतौर पर वे एक प्रोड्यूसर की तौर पर शो को खतरे में नहीं डालना चाहते थे। वो भी ऐसे दौर में जब शो टीआरपी के लिहाज से अच्छा चल रहा है। इसलिए वे एक व्यक्ति की वजह से शो को नुकसान नहीं होने देना चाहते थे। यही वजह है कि उन्होंने तुरंत कॉल लिया और सिद्धू से रिजाइन मांग लिया।

कपिल की वजह से चैनल दुविधा में

- चर्चा यह भी है कि चैनल अभी भी दुविधा में है, क्योंकि शो के होस्ट कपिल सिद्धू के पक्ष में हैं। एक मीडिया से बातचीत में कपिल ने कहा कि सिद्धू को शो से हटाना या किसी को बैन करना कोई सॉल्युशन नहीं हो सकता। इसके लिए कोई परमानेंट सॉल्युशन निकालना चाहिए। एक अन्य सूत्र का कहना है, "प्रोड्यूसर और चैनल के बीच अभी बातचीत जारी है और सिद्धू को बाहर करने का फैसला अभी होल्ड पर रखा गया है। सलमान खान ने चैनल को सलाह दी है कि उन्हें अंतिम फैसला लेने से पहले मामले को ठंडा होने देना चाहिए। जाहिर है कि सिद्धू आने वाले कुछ एपिसोड्स की शूटिंग नहीं करेंगे, लेकिन शो में उनकी वापसी की पूरी संभावना जताई जा रही है।"

सिद्धू ने यह कहा था अपने बयान में

- 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती आतंकी हमला और CRPF के 40 जवान शहीद हुए। पाकिस्तान बेस्ड आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने हमले की जिम्मेदारी ली। इसे लेकर सिद्धू ने अपने रिएक्शन में कहा था, "मुट्ठीभर लोगों के लिए पूरे देश को जिम्मेदार कैसे ठहराया जा सकता है।" उन्होंने आगे कहा, "यह हमला कायरतापूर्ण है और मैं इसकी दृढ़ता से निंदा करता हूं। कोई भी हिंसा बर्दाश्त नहीं की जा सकती, जो दोषी हैं उन्हें सजा मिलनी चाहिए।" हालांकि, पकिस्तान की तरफदारी वाले बयान ने पहले से ही गुस्से में लाल जनता के लिए आग में घी डालने का काम किया। लोग सोशल मीडिया पर सिद्धू का विरोध कर रहे हैं। साथ ही सिद्धू की मौजूदगी के चलते 'द कपिल शर्मा शो' न देखने की चेतावनी दे रहे हैं।


इनपुट : किरण जैन।