भय्यू जी ने सुसाइड नोट में लिखा- थक चुका हूं, इसलिए जा रहा हूं- कोई जिम्मेदार नहीं

भय्यू जी महाराज ने सुसाइड नोट में लिखा- विनायक मेरा विश्वासपात्र है। सब प्रॉपर्टी इन्वेस्टमेंट वही संभाले।

DainikBhaskar.com| Last Modified - Jun 13, 2018, 01:01 PM IST

इंदौर. अध्यात्मिक गुरू भय्यू जी महाराज ने खुदकुशी से पहले सुसाइड नोट छोड़ा था। पुलिस इसे बरामद कर चुकी है। वो पिस्टल भी बरामद कर ली गई है जिससे भय्यू जी ने खुद को गोली मारी। यह गोली उनकी दाईं कनपटी पर लगी। भय्यू महाराज ने सुसाइड नोट में लिखा- पारिवारिक जिम्मेदारी संभालने के लिए यहां कोई होना चाहिए, मैं बहुत तनाव में हूं। थक चुका हूं, इसलिए जा रहा हूं। विनायक मेरा विश्वासपात्र है। सब प्रॉपर्टी इन्वेस्टमेंट वही संभाले। किसी को तो परिवार की ड्यूटी करनी जरूरी है तो वही करेगा। मुझे उस पर विश्वास है। मैं कमरे में अकेला हूं और सुसाइड नोट लिख रहा हूं। किसी के दबाव में आकर नहीं लिख रहा हूं। कोई इसके लिए जिम्मेदार नहीं है। 

आज दोपहर बाद किया जाएगा भय्यू जी का अंतिम संस्कार, अंतिम दर्शन कर रहे हैं अनुयायी

 कांग्रेस को दिखी साजिश
- मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि भय्यू की खुदकुशी की वजह परिवार में हो रही खींचतान थी। लेकिन, कांग्रेस को संत की मौत में साजिश और राज्य सरकार का दबाव नजर आ रहा है। 
- कांग्रेस के बड़े नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने न्यूज एजेंसी से बातचीत में कहा- वो नर्मदी नदी में शिवराज सरकार की वजह से हो रहे अवैध खनन से बेहद चिंतित थे। उन्हें मंत्री पद का ऑफर दिया गया था ताकि वो इस मसले पर चुप रहें। लेकिन, उन्होंने यह ऑफर ठुकरा दिया था। उन्होंने मुुझसे फोन पर हुई बातचीत में इसकी जानकारी दी थी। 

सीबीआई जांच हो
- वहीं कांग्रेस के एक और नेता मानक अग्रवाल ने भय्यू जी की मौत में साजिश देखी। न्यूज एजेंसी से कहा-  मध्य प्रदेश सरकार भय्यू जी महराज पर प्रस्ताव (राज्यमंत्री का पद स्वीकार करने का ऑफर) स्वीकारने का दबाव डाल रही थी। उन्होंने इससे इनकार कर दिया था। वो मानसिक तौर पर काफी दबाव में थे। इस मामले में सीबीआई जांच होनी चाहिए। 
- मध्य प्रदेश कांग्रेस ने एक ट्वीट में कहा- संत भय्यू महाराज के निधन की खबर से कांग्रेस परिवार समेत पूरा देश हतप्रभ है। भय्यू महाराज का जीवन सदैव समाज के हर वर्ग के विकास के लिए समर्पित रहा है। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे।

भय्यू जी पर दबाव डाल रही थी मध्य प्रदेश सरकार, उनकी मौत की CBI जांच हो: कांग्रेस

नितिन गडकरी ने मराठी में किया ट्वीट
- केंद्रीय मंत्री और भय्यू जी के करीबी मित्र नितिन गडकरी ने मराठी में किए गए ट्वीट में इस अध्यात्मिक गुरू को श्रद्धासुमन अर्पित किए। कहा- आध्यात्मिक गुरु श्री भय्यूजी महाराज यांच्या निधनाची दु:खद बातमी कळली. त्यांच्याशी माझे व्यक्तिगत जिव्हाळ्याचे संबंध होते. त्यांचा हा अकाली मृत्यु मनाला चटका लावणारा आहे. माझी विनम्र श्रद्धांजलि.
- गडकरी ने कहा- अध्यात्मिक गुरू भय्यू जी महाराज के निधन का दुखद समाचार मिला। उनसे मेरे व्यक्तिगत संबंध थे। निधन का समाचार सुनकर झटका लगा। उन्हें मेरी तरफ से विनम्र श्रद्धांजलि। 

शिवराज ने क्या कहा?
- मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने भय्यू जी के निधन पर कहा- मैं उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित करता हूं। देश ने एक निरपेक्ष सेवाभाव वाली हस्ती खो दी है।

 

Topics:
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: BHAYYUJI SUICIDE NOTE SAYS: I AM FED UP, NOBODY'S RESPONSIBLE FOR MY DEATH
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Trending Now