• Hindi News
  • National
  • Happy Kiss Day Date 2019: Why Do People Kiss And Types Of Kiss, Kiss Day Kab Hai

Kiss Day 2019 /जानिए वेलेंटाइन वीक में किस तारीख को आता है किस डे, क्या है इसका महत्व, कैसे शुरू हुआ ये और कितने प्रकार के किस

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

नई दिल्ली. 2019 साल का वेलेंटाइन वीक अपने सफर के आखिरी पड़ाव की तरफ बढ़ चुका है। ये सात दिन जिसे वेलेंटाइन सप्ताह भी कहा जाता है, ताउम्र के कुछ अहसास अपने आप में समेटे होते हैं। कुछ यादें जिसे आप सहेज कर रखना चाहते हैं। रोज़ डे से शुरू होता है ये सफर और फिर ठीक आठंवे दिन होता है वेलेंटाइन डे। वही वेलेंटाइन डे से ठीक एक दिन पहले होता है किस डे जो हर साल 13 फरवरी को मनाया जाता है। वेलेंटाइन डे के बाकी दिनों की तरह ही किस डे भी प्यार ज़ाहिर करने के लिए खास दिन है।  लिहाज़ा आज इस दिन को लेकर उत्साह देखा जा रहा है। इन दिन का महत्व भी इसके नाम से जाहिर है। एक प्यार भरा स्पर्श जो अपने आप में काफी है जज्बातों को आवाज देने के लिए। ये भावनाएं प्रेम प्रकट करने का ज़रिया हैं।

 

किस डे: हर किस का अपना महत्व (Why Do People Kiss)
किस डे जो अपने आप में खास है। इसके जरिए आप उस शख्स के प्रति अपना स्नेह, समर्पण और अपनत्व जाहिर करते हैं जो आपके जीवन में बहुत खास महत्व रखता है।

हर किस कुछ कहता है (Types of Kiss)
माथे पर किस करना: यह बताता है कि आप उस शख्स को कितना स्नेह करते हैं। यह भी कि आप जीवन में उसकी भावनाओं को ठेस ना पहुंचाने का संकल्प ले चुके हैं।
चीक किस: यानी गाल पर किस करना। यह भी उस शख्स को यह बताने की कोशिश है कि उसका आपके जीवन में कितना महत्व है और आप उससे कितना स्नेह रखते हैं।
 

हाथों पर किस: इसके जरिए आप यह बताते हैं आप उस शख्स के प्रति कितने समर्पित हैं। उसका कितना सम्मान करते हैं।
  एयर किस: इसे आमतौर पर फ्लाइंग किस कहा जाता है। यानी दूर से ही किस का रूप बनाना और उसे सामने वाले की तरफ हवा के जरिए पैगाम भेजना।

 

 

कैसे शुरू हुआ किस?
किस को लेकर आमतौर पर दो थ्योरीज हैं। कुछ एंथ्रोपोलोजिस्ट्स ये मानते हैं कि यह कुदरती यानी नैसर्गिग प्रक्रिया है प्रेम या स्नेह को प्रकट करने की। दूसरी ओर कुछ एंथ्रोपोलोजिस्ट्स दूसरा नजरिया रखते हैं। इनकी मानें तो यह किस फीडिंग से शुरू हुई। इसको समझते हैं। दरअसल, किस फीडिंग उस प्रक्रिया या प्रॉसेस को कहा जाता है जब एक मां अपने शिशु को अपने मुंह से भोजन कराती थी। इसमें मां पहले कुछ भोजन अपने मुंह में लेती है। इसके बाद उसे अच्छे से चबाती है और फिर इस चबाए हुए भोजन को आहिस्ता-आहिस्ता बच्चे के मुख में किस की शक्ल में पहुंचा देती है। यह पुराने दौर की बात है और तब किया जाता था जब बच्चे अपने दांत से भोजन को चबाने में सक्षम नहीं हो जाते थे।

दैनिक भास्कर की किस डे फोटो गैलरी पर कर सकते हैं क्लिक
अगर आप भी किस डे से संबंधित फोटो, कोट्स , इमेज , पिक या फिर वीडियो खोज रहे हैं तो दैनिक भास्कर की किस डे फोटो गैलरी पर क्लिक कर सकते हैं।

इमेज, वीडियो, कोट्स को बना सकते हैं किस डे वाट्सऐप स्टेटस
इन किस डे इमेज , कोट्स और वीडियो को आप किस के मौके पर व्हाट्सएप स्टेटस भी बना सकते हैं। इस दौर में हर खास मौके के हिसाब से वॉट्सएप स्टेटस लगाना ट्रेंड है। लिहाजा, ऐसे कोट्स और इमेज सर्च किए जाते हैं जिन्हें वॉट्सएप स्टेटस बनाया जा सके। किस डे फोटो गैलरी में जाकर वो सब पा सकते हैं।