LIVE राफेल विवाद: मीडिया रिपोर्ट में दावा- दसॉल्त के पास रिलायंस को चुनने के अलावा दूसरा रास्ता नहीं था / LIVE राफेल विवाद: मीडिया रिपोर्ट में दावा- दसॉल्त के पास रिलायंस को चुनने के अलावा दूसरा रास्ता नहीं था

भारत ने फ्रांस की दसॉल्त एविएशन की साथ 36 राफेल फाइटर जेट की डील की है। इसका बजट 59 हजार करोड़ रुपए है।

DainikBhaskar.com

Oct 11, 2018, 09:15 AM IST
rafale deal controversy live updates dassault mediapart reliance defence
पेरिस. राफेल विवाद में फिर एक नया मोड़ आ गया है। दरअसल, फ्रांस से जारी एक मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है राफेल फाइटर जेट बनाने वाली दसॉल्त कंपनी के पास रिलायंस डिफेंस कंपनी को सहयोगी बनाने और उससे करार करने के अलावा कोई दूसरा विकल्प ही नहीं था। मीडियापार्ट नामक वेबसाइट पर जारी ये जानकारी दी गई है। वेबसाइट ने कंपनी के दस्तावेज के आधार पर यह दावा किया है। मीडियापार्ट की रिपोर्ट के मुताबिक, उनके पास ऐसे दस्तावेज मौजूद हैं, जिनसे फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के दावे की भी पुष्टि होती है। ओलांद ने बयान दिया था कि भारत सरकार ने ही अनिल अंबानी की रिलायंस का नाम प्रस्तावित किया था। ऐसे में दसॉल्त एविएशन के पास भारत की दूसरी रक्षा कंपनी को चुनने का विकल्प नहीं था। दसॉल्त एविएशन ने मीडियापार्ट के दावे को सिरे से खारिज कर दिया है। उसने इस बारे में एक बयान जारी किया है। दसॉल्त ने कहा- हमने स्वतंत्र रूप से भारत के रिलायंस ग्रुप को साझीदार के तौर पर चुना। दसॉल्त रिलायंस एयरोस्पेस लिमिटेड के साथ राफेल और फॉल्कन 2000 बिजनेस जेट्स के पुर्जे बनाएंगे। भारत ने फ्रांस की दसॉल्त एविएशन की साथ 36 राफेल फाइटर जेट की डील की है। इसका बजट 59 हजार करोड़ रुपए है। इस डील में मेंटेनेंस पार्टनर भारत की प्राइवेट कंपनी रिलायंस डिफेंस है।
X
rafale deal controversy live updates dassault mediapart reliance defence
COMMENT