पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

क्या महंगा, क्या सस्ता:सोना प्रति 10 ग्राम 1896 और चांदी प्रति किलो 1900 रुपए सस्ता हुआ; मोबाइल, फ्रिज और एसी महंगे

नई दिल्ली3 महीने पहले
  • मोबाइल पार्ट्स, बैटरी और चार्जर पर इंपोर्ट ड्यूटी 2.5% से 5% तक बढ़ाई गई, फ्रिज-एसी पर 5% का इजाफा
  • गोल्ड-सिल्वर और प्लेटिनम की ज्वैलरी पर इंपोर्ट ड्यूटी 5% कम की गई और स्टील के प्रोडक्ट्स पर 5% घटाई
  • 4 साल में सरकार ने मोबाइल फोन और उससे जुड़े प्रोडक्ट पर औसतन 10% तक इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ाई, इससे देश में प्रोडक्शन 3 गुना बढ़ा

हर बार की तरह इस बार भी आम बजट में कुछ चीजें सस्ती हुई हैं, तो कुछ महंगी। लेकिन सबसे ज्यादा असर सोने-चांदी पर पड़ा है। इन पर इंपोर्ट ड्यूटी 5% कम की गई है। इससे ज्वैलरी सस्ती होगी। HDFC सिक्योरिटी में कमोडिटी एक्सपर्ट्स तपन पटेल ने बताया कि सोने-चांदी पर बजट में इंपोर्ट ड्यूटी घटाने से उसकी कीमत में कमी में भी देखने को मिली है।

सोमवार सुबह तक MCX (मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज) में सोने की कीमत प्रति 10 ग्राम 49096 रुपए थी। बजट में ड्यूटी घटाने के बाद यह 47200 रुपए हो गई। यानी सोना 1896 रुपए सस्ता हुआ है। इसी तरह चांदी की कीमत सुबह पहले प्रति किलो 74400 रुपए थी, इंपोर्ट ड्यूटी कम करने के बाद अब यह 72500 रुपए हो गई है। यानी चांदी 1900 रुपए सस्ता हो गया है।

हालांकि ऐसी बहुत सारी चीजें नहीं हैं, जिन पर असर पड़ा हो। जैसा कि बहुत पहले हुआ करता था। कुल 18 प्रोडक्ट्स महंगे हुए हैं और महज 8 सामान सस्ते। दरअसल 3 साल पहले आए GST ने सामानों और सर्विसेज को महंगा-सस्ता करने की ताकत बजट से छीन ली है। अब 90% चीजों की कीमत GST तय करता है, लेकिन विदेश से मंगाई जाने वाली वस्तुओं पर इंपोर्ट ड्यूटी का असर रहता है और इसकी घोषणा बजट में की जाती है। इसलिए पेट्रोल, डीजल, LPG, CNG और इंपोर्टेड प्रोडक्ट्स जैसे- शराब, लेदर, सोना-चांदी, इलेक्ट्राॅनिक प्रोडक्ट्स, मोबाइल, केमिकल, गाड़ियां जैसी चीजों की कीमत पर बजट घोषणाओं का असर पड़ता है। इन पर ही सरकार इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ाती या घटाती है। इस बजट में भी वित्त मंत्री ने यही किया है।

आइए अब जानते हैं कि इस बजट के कारण क्या महंगा हुआ है और क्या सस्ता...
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ऑटो पार्ट्स पर 7.5% इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ा दी है, इससे गाड़ियां महंगी होंगी। मोबाइल फोन के पार्ट्स, चार्जर और बैटरी पर इंपोर्ट ड्यूटी 2.5% से 5% तक बढ़ा दी गई है। इससे ये चीजें भी महंगी होंगी।

स्टील प्रोडक्ट पर इंपोर्ट ड्यूटी 4.5% तक कम की है, इससे स्टील के बर्तन सस्ते होंगे। तांबे पर इंपोर्ट ड्यूटी 2.5% घटाई गई है, इससे तांबे के बर्तन, पाइप और वायर सस्ते होंगे।

अब देखते हैं महंगे हुए सामानों की पूरी लिस्ट, पहले इसलिए क्योंकि ये थोड़ी लंबी है-

अब देखते हैं सस्ते सामानों की लिस्ट, आखिर में इसलिए क्योंकि इसमें हमसे जुड़ी चीजें बहुत कम हैं-

और सबसे आखिर में पढ़िए हर किसी से जुड़ी मोबाइल की खबर, इस पर इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ने से क्या होगा...

  • ड्यूटी बढ़ाने से देश में मोबाइल का प्रोडक्शन बढ़ गया

मोबाइल, चार्जर, बैटरी, हेडफोन और महंगे होंगे, क्योंकि सरकार ने विदेश से आने वाले मोबाइल और उससे जुड़े उपकरणों पर इंपोर्ट ड्यूटी 2.5% से 5% तक बढ़ा दी है। पिछले 4 साल में सरकार ने इन प्रोडक्ट्स पर औसतन करीब 10% तक इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ाई है। इससे देश में मोबाइल फोन का प्रोडक्शन करीब तीन गुना तक बढ़ गया है, लेकिन ये चीजें महंगी हुई हैं। इसी का असर है कि 2016-17 तक देश में 18,900 करोड़ रुपए के मोबाइल फोन बनते थे। 2019-20 में देश में 1.7 लाख करोड़ रुपए के फोन बनने लगे।

  • अब देश में हर साल 35 करोड़ मोबाइल फोन बन रहे, 6.7 लाख लोगों को जॉब मिली

इंडिया सेल्युलर एंड इलेक्ट्रॉनिक्स एसोसिएशन के मुताबिक भारत में मोबाइल फोन प्रोडक्शन की 268 यूनिट हैं। यहां हर साल 35 करोड़ रुपए के मोबाइल फोन बन रहे हैं। इन यूनिट्स में 6.7 लाख लोगों को नौकरी मिली हुई है। 2017 तक विदेश से 7.89 करोड़ मोबाइल फोन आयात होते थे। 2019 में यह घटकर 2.7 करोड़ रह गए।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन सामान्य ही व्यतीत होगा। कोई भी काम करने से पहले उसके बारे में गहराई से जानकारी अवश्य लें। मुश्किल समय में किसी प्रभावशाली व्यक्ति की सलाह तथा सहयोग भी मिलेगा। समाज सेवी संस्थाओं के प्रति ...

और पढ़ें