• Hindi News
  • Business
  • Consumer
  • Big Delivery In Big Baskets And Growers Orders Due To Increase In Home Delivery Demand For Essentials, Expected To Pick Up Next Month

लॉकडाउन की दिक्कत:जरूरी सामानों की होम डिलिवरी की मांग बढ़ने से बिग बॉस्केट और ग्रोफर्स के ऑर्डर में भारी वृद्धि, अगले महीने और तेजी आने की उम्मीद

मुंबई2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
ऑर्डर्स न मिलने पर लोग घरों के पास की दुकानों का ले रहे हैं सहारा - Dainik Bhaskar
ऑर्डर्स न मिलने पर लोग घरों के पास की दुकानों का ले रहे हैं सहारा
  • पिछले महीने की तुलना में दोगुने हुए ऑर्डर्स
  • अब लोग जरूरी सामानों को घर पर मंगा रहे हैं

ऑन लाइन डिलिवरी में भारत की दो अग्रणी कंपनियों बिग बॉस्केट और ग्रोफर्स को पिछले एक महीने में अच्छे खासे ऑर्डर मिले हैं, जो इसके पहले की तुलना में दोगुने से भी ज्यादा हैं। इसका कारण यह है कि लॉकडाउन के चलते लोग जरूरी सामानों की होम डिलिवरी ज्यादा मंगा रहे हैं।

बिग बॉस्केट रोजाना 2.83 लाख ऑर्डर्स को कर रहा है पूरा

लॉकडाउन की वजह से होम डिलिवरी की मांग बढ़ने से कंपनियां इसे पूरा करने के लिए हरसंभव कोशिश कर रही हैं। बिग बॉस्केट के मुताबिक वह हर रोज 2.83 लाख ऑर्डर्स को पूरा कर रहा है, जबकि कोविड-19 के पहले यह संख्या 1.5 लाख थी। उसकी कंपटीटर कंपनी ग्रोफर्स भी रोजाना 1.9 लाख ऑर्डर्स को पूरा कर रही है जबकि कोविड-19 से पहले यह रोजाना एक लाख ऑर्डर को पूरा करती थी। दोनों कंपनियों के ऑर्डर्स में इतना ज्यादा वृद्धि होने के बाद भी वह अभी अपनी क्षमता के दसवें भाग की क्षमता से काम कर रही हैं।

बिना किसी तैयारी के पूरा हो रहा है ऑर्डर्स

लॉकडाउन की शुरुआत में उन्होंने वेयरहाउस और फैसिलिटीज बंद कर दी थी और दोनों कंपनियां इतना ज्यादा ऑर्डर्स पहुंचाने के लिए महीने भर पहले कोई तैयारी भी नहीं की थीं। इसके सिवाय सप्लाई और मजदूरों की ज्यादा कमी ने भी इन दोनों कंपनियों को इतना ऑर्डर पूरा करने में दिक्कत बढ़ा दी। हालांकि दोनों कंपनियां इस सबके बावजूद आए हुए दिन भर के ऑर्डरों को पूरा करने में जुटी रहती हैं। कुछ ऑर्डर नहीं पहुंचने के कारण इनके ग्राहक नजदीक की दुकानों से आवश्यक सामानों को खरीदते हैं।

न तो पर्याप्त कर्मचारी हैं न सामान है

दोनों कंपनियों के पास डिलिवरी के लिए पर्याप्त कर्मचारी नहीं हैं। कई वस्तुओं का स्टॉक खाली हो गया है और हॉटस्पॉट वाले इलाकों में पूरी तरह से बंद होने से इन्हें और दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। बिग बॉस्केट के सीईओ हरी मेनन ने एक ट्वीट में कहा कि सोमवार को हमारी कंपनी ने 2.83 लाख ऑर्डर्स की डिलिवरी की थी और उसे हम लगातार बढ़ाते रहेंगे। समस्या यह है कि इसकी तुलना में तीन से 6 गुना ऑर्डर्स मिलने की संभावना है और हम उसे पूरा करने का तमाम प्रयास कर रहे हैं।

ज्यादा ऑर्डर्स लेने में हो रही है दिक्कत

मेनन कहते हैं कि लॉकडाउन की घोषणा जब हुई, उसके पहले कंपनियों का ज्यादा स्टॉफ अपने गांव चला गया था। इससे कंपनी की योजना और ऑपरेशंस के लिए काफी दिक्कत झेलनी पड़ी। इसलिए हम ज्यादा ऑर्डर्स भी नहीं ले पा रहे हैं। ग्रोफर्स के सीईओ अल्बिंदर धींडसा कहते हैं कि लॉकडाउन के दौरान हमारे प्लेटफॉर्म पर हमें अभूतपूर्व डिमांड का अनुभव हुआ है। शुरुआत में इन समस्याओं का सामना करने के बाद हम अब तेजी से अपनी क्षमता बढ़ा रहे हैं और 24 शहरों में 25 लाख घर तक सेवा दे रहे हैं। हम रोजाना 1.9 लाख ऑर्डर्स को पूरा कर रहे हैं और आगामी महीने इस संख्या में 50 प्रतिसत की वृद्धि होने का अनुमान है। इस बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए हम ब्रांड्स और मैन्युफैक्चरर्स पार्टनर्स के पास से सप्लाई में वृद्धि कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...