कोरोना पर टकराव:अमेरिका ने कहा- ग्लोबल इकोनॉमी को जोखिम में डालने वाले चीन को कीमत चुकानी पड़ेगी

वॉशिंगटन3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो का कहना है कि अभी संक्रमण रोकने, इकोनॉमी सुधारने पर फोकस है। - Dainik Bhaskar
अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो का कहना है कि अभी संक्रमण रोकने, इकोनॉमी सुधारने पर फोकस है।
  • अमेरिका का कहना है कि चीन ने कोरोना के बारे में जानकारी छिपाई, जरूरी कदम नहीं उठाए
  • अमेरिका कोरोनावायरस के चीन से दुनियाभर में फैलने की रिपोर्ट की जांच करवा रहा

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा है कि चीन ने कोरोनावायरस से जुड़ी जानकारी छिपाई, इससे अमेरिका समेत दुनियाभर की अर्थव्यवस्था के सामने बड़ी चुनौतियां खड़ी हो गई हैं। चीन की सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी को इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी। अमेरिका समेत दुनियाभर के देशों का चीन पर दबाव है। कोरोनावायरस से दुनियाभर में 1 लाख 90 हजार 870 मौतें हो चुकी हैं। अमेरिका में 50 हजार लोगों की जान जा चुकी है।
चीन के वुहान से फैला कोरोनावायरस: अमेरिका
पोम्पियो ने ये भी कहा कि अमेरिका का ध्यान अभी चीन की बजाय वायरस के संक्रमण को रोकने और अर्थव्यवस्था को सुधारने पर है। लेकिन, कारोबारी जगत से लेकर आम लोगों तक का ये मानना है कि कोरोनावायरस चीन से वुहान से ही दुनियाभर में फैला है। चीन की सरकार ने जरूरी कदम नहीं उठाए। 
'चीन पर निर्भरता खत्म करेंगे'
पोम्पियो ने कहा है कि वक्त आने पर हम चीन की हरकत को साबित करेंगे। साथ ही यह सुनिश्चित करेंगे कि अमेरिका फार्मा गुड्स के लिए चीन पर निर्भर नहीं रहे। इससे पहले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा था कि चीन के वुहान से कोरोनावायरस के दुनियाभर में फैलने की रिपोर्ट की जांच करवाएंगे।

खबरें और भी हैं...