• Hindi News
  • Business
  • Consumer
  • Lockdown ; Coronavirus ; COVID 19 ; Corona ; Diesel, Indian Oil ; Diesel Will Be Able To Call Home From The Lockdown; Indian Oil Launches Home Delivery Service, Partnership With Startup Companies

कोविड-19:लाॅकडाउन में घर बैठे मंगवा सकेंगे डीजल, इंडियन ऑयल ने शुरू की होम डिलीवरी सर्विस, स्टार्टअप कंपिनयों के साथ की साझेदारी

नई दिल्ली2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कंपनी के इस सर्विस की पायलट परीक्षण के तौर पर सबसे पहले 2018 में शुरूआत की थी। - Dainik Bhaskar
कंपनी के इस सर्विस की पायलट परीक्षण के तौर पर सबसे पहले 2018 में शुरूआत की थी।
  • दो सालों में इंडियन ऑयल के मोबाइल डिस्‍पेंसर्स ने विभिन्‍न क्षेत्रों के डीजल उपभोक्‍ताओं की जरूरतों को पूरा किया है।
  • अपनी पहुंच को बढ़ाने के लिए कंपनी इस क्षेत्र में कार्यरत स्‍टार्टअप्‍स के साथ भी साझेदारी कर रही है।

कोरोनावायरस के चलते लागू लाॅकडाउन में ग्राहकों की सुविधा के लिए देश की सबसे बड़ी तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन लिमिटेड (आईओसीएल) ने मोबाइल डिस्‍पेंसर के जरिए डीजल की डोर-टू-डोर सर्विस शुरू की है। यानी अब आप घर बैठे डीजल मंगवा सकेंगे।

इसके लिए कंपनी ने स्टार्टअप कंपनियों से की साझेदारी
कंपनी ने एक बयान में कहा कि इंडस्ट्रियल, माइनिंग, ग्रामीण और दूरस्‍थ क्षेत्रों में ईंधन की मांग को पूरा करने के लिए इंडियन ऑयल अपने आरओ डीलर्स के राष्‍ट्रीय नेटवर्क के जरिए मोबाइल डिस्‍पेंसर के बेड़े का तेजी से विस्‍तार कर रही है। अपनी पहुंच को बढ़ाने के लिए कंपनी इस क्षेत्र में कार्यरत स्‍टार्टअप्‍स के साथ भी साझेदारी कर रही है। पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय द्वारा स्‍टार्टअप्‍स के जरिए उपभोक्‍ता तक डीजल पहुंचाने की अवधारणा को अपनाया गया है, जो नए व्यावसायिक समाधानों में नए उद्यमियों को शामिल करने के लिए स्टार्टअप को बढ़ावा देने की भारत सरकार की पहल के अनुरूप है।

डिजिटल माध्‍यम के जरिए आसान भुगतान विकल्‍प भी उपलब्‍ध
पिछले दो सालों में इंडियन ऑयल के मोबाइल डिस्‍पेंसर्स ने विभिन्‍न क्षेत्रों के डीजल उपभोक्‍ताओं की जरूरतों को पूरा किया है। इन मोबाइल डिस्‍पेंसिंग यूनिट्स पर इंडियन ऑयल रिमोट कंट्रोल और डिजिटल माध्‍यम के जरिए आसान भुगतान विकल्‍प भी उपलब्‍ध करवा रही है। एमएस और एचएसडी में लीडर इंडियन ऑयल वर्तमान में पेट्रोल व डीजल की बिक्री में 50 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी के साथ सबसे आगे है। बता दें कि कंपनी के इस सर्विस की पायलट परीक्षण के तौर पर सबसे पहले 2018 में शुरूआत की थी।