• Hindi News
  • Business
  • Economy
  • Airbnb Will Lay Off 25 Per Cent Of The Employees In The Loss Making Hospitality Sector Due To The Lockdown But Will Give Health Insurance Benefits For One Year And Three Months Salary

कोरोना संकट:लाॅकडाउन के चलते घाटे में चल रहा हॉस्पिटैलिटी सेक्टर, एयरबीएनबी करेगी 25 फीसदी कर्मचारियों की छंटनी लेकिन देगी एक साल तक स्वास्थ्य बीमा का लाभ और तीन महीने की सैलरी

नई दिल्ली2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कोविड-19 महमारी का सबसे बुरा असर टूरिज्म एंड हॉस्पिटैलिटी सेक्टर पर पड़ा है। - Dainik Bhaskar
कोविड-19 महमारी का सबसे बुरा असर टूरिज्म एंड हॉस्पिटैलिटी सेक्टर पर पड़ा है।
  • कंपनी ने कहा -कोविड-19 महामारी ने एयरबीएनबी के कारोबार को काफी नुकसान पहुंचाया है।
  • महामारी के कारण इस साल कंपनी का रेवेन्यू लगभग 50 फीसदी से भी कम हो गया है।

एयरबीएनबी (Airbnb) इंक वैश्विक स्तर पर 1900 कर्मचारियों को नौकरी से निकालने का फैसला किया है। कंपनी अपने कुल वर्कफोर्स की संख्या का लगभग 25 फीसदी कर्मचारियों की छंटनी कर रही है। हालांकि इन कर्मचारियों को अगले एक साल तक स्वास्थ्य बीमा का लाभ मिलेगा। साथ ही कंपनी ने तीन महीने की सैलरी देने का भी ऐलान किया है।

कोविड-19 के कारण कारोबार हुआ ठप
किराए पर प्रॉपर्टी देने वाले सैन फ्रांसिस्को-आधारित स्टार्टअप एयरबीएनबी का कहना है कि कोरोनावायरस महामारी के चलते कारोबार पूरा ठप है, ऐसे में कंपनी को भारी नुकसान हुआ है। बता दें कि कोविड-19 महमारी का सबसे बुरा असर टूरिज्म एंड हॉस्पिटैलिटी सेक्टर पर पड़ा है। इस वजह से ओयो समेत कई कंपनियों में काम करने वाले कर्मचारियों की नौकरी दांव पर हैं।

50 फीसदी से कम हुआ कंपनी का रेवेन्यू
एयरबीएनबी के सीईओ ब्रायन चेस्की ने अपने कर्मचारियों को एक ईमेल भेजा है। चेस्की ने कर्मचारियों के इस ज्ञापन में कहा, 'कोविड-19 महामारी ने एयरबीएनबी के कारोबार को काफी नुकसान पहुंचाया है। कंपनी का कुल राजस्व आधे से कम हो गया है।' कंपनी के मुताबिक, पिछले साल कंपनी का रेवेन्यू लगभग 4.8 बिलियन डॉलर के आसपास था जो कि इस साल यह 50 फीसदी से भी कम हो गया है।

महामारी के बाद कंपनी स्ट्रैटेजी में करेगी बदलाव
ईमेल में कर्मचारियों को इस बात का भी भरोसा दिलाया गया है कि कंपनी कोरोना वायरस की महामारी से जूझकर एक बार फिर मज़बूती से कारोबार में वापसी करेगी। हालांकि अब कंपनी अपनी अलग रणनीति के साथ काम शुरू करेगी। कंपनी अगले एक साल तक यानी 2021 तक नई हायरिंग को लेकर योजना को भी टाल दिया है।

कंपनी ने किया था निवेश का ऐलान
बता दें कि पिछले माह ही एयरबीएनबी द्वारा जारी बयान में कहा गया था कि कंपनी अमेरिका की निजी इक्विटी कंपनी सिल्वर लेक और सिक्स्थ स्ट्रीट पार्टनर्स में 1 बिलियन डाॅलर का निवेश करेगी। इतना ही नहीं एयरबीएनबी ने हाल ही में दुनियाभर में उनके होस्ट को बुकिंग रद्द से हुए नुकसान की भरपाई के लिए 25 करोड़ डॉलर का मुआवजा देने का भी ऐलान किया था। कंपनी के चीफ एग्जीक्यूटिव ब्रायन चेस्की ने पत्र लिखकर कहा था कि चीन के अलावा कोरोनावायरस की वजह से सभी मेज़बानों को कैंसीलेशन फी का 25 प्रतिशत देगी।

खबरें और भी हैं...