• Hindi News
  • Business
  • Economy
  • Coronavirus ; COVID 19 ; Lockdown ; The Country's Economic Situation Is Very Bad, The Center Can Declare A Financial Package In Two three Days: Gadkari

केंद्रीय मंत्री का बयान:देश के आर्थिक हालात बहुत बुरी स्थिति में, केंद्र दो-तीन दिन में घोषित कर सकता है वित्तीय पैकेज: गडकरी

नई दिल्ली3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
केंद्रीय मंत्री गडकरी का कहा है कि जापान और अमेरिका ने बड़े पैकेज की घोषणा की है, क्योंकि वहां की अर्थव्यवस्था भारत के मुकाबले काफी बड़ी है - Dainik Bhaskar
केंद्रीय मंत्री गडकरी का कहा है कि जापान और अमेरिका ने बड़े पैकेज की घोषणा की है, क्योंकि वहां की अर्थव्यवस्था भारत के मुकाबले काफी बड़ी है
  • कर्ज पुनर्भुगतान पर तीन महीने के मोराटोरियम के बाद भी नहीं सुधरे आर्थिक हालात
  • एमएसएमई से जुड़े सुझावों को वित्त मंत्री और प्रधानमंत्री के साथ साझा किया गया

केंद्रीय सड़क परिवहन और एमएसएमई मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार को उम्मीद जताई कि केंद्र सरकार दो-तीन दिनों में वित्तीय पैकेज की घोषणा कर देगी। उन्होंने कहा कि आरबीआई की ओर से लोन पुनर्भुगतान पर तीन महीने का मोराटोरियम देने के बावजूद आर्थिक हालात बहुत बुरी स्थिति में हैं।

सरकार इंडस्ट्री के साथ
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सरकार इंडस्ट्री के साथ खड़ी है लेकिन इंडस्ट्री को भी सरकार की सीमाओं को समझना चाहिए। उन्होंने कहा कि हम प्रत्येक व्यक्ति को अच्छी तरह से बचाने की कोशिश कर रहे हैं। गडकरी ने कहा कि जापान और अमेरिका ने बड़े पैकेज की घोषणा की है, क्योंकि वहां की अर्थव्यवस्था भारत के मुकाबले काफी बड़ी है।

आरबीआई ने की राहत के चरणों की शुरुआत
तेलंगाना के इंडस्ट्री एंड कॉमर्स संगठनों के सदस्यों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत में केंद्रीय मंत्री ने कहा कि लोगों की परेशानियों को दूर करने के लिए उपाय किए जा रहे हैं। आरबीआई ने तीन महीने के मोराटोरियम के ऐलान के साथ राहत के चरणों की शुरुआत की है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि उन्होंने वित्त मंत्रालय को व्यक्तिगत इनकम टैक्स और जीएसटी रिफंड तुरंत बैंक खातों में ट्रांसफर करने का सुझाव दिया है।

वित्त मंत्री-पीएम से साझा किए एमएसएमई से जुड़े सुझाव
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि उन्होंने माइक्रो, स्मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज (एमएसएमई) से जुड़े संगठनों के साथ कई बार बातचीत की है। इन बातचीत के आधार पर जो सुझाव सामने आए हैं, उनको वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ साझा किया गया है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हम दो-तीन दिन में सरकार की ओर से पैकेज की उम्मीद कर रहे हैं। हम इसके लिए इंतजार कर रहे हैं।