पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Business
  • Economy
  • Coronavirus ; Lockdown ; In April, Thermal Coal Imports Fell By 30 Per Cent To 7.8 Million Tonnes, Which Is Used To Make Electricity.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लॉकडाउन:अप्रैल में थर्मल कोल का आयात 30 फीसदी घटकर 7.8 मिलियन टन रहा, इसका इस्तेमाल बिजली बनाने में होता है

नई दिल्ली8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चीन और अमेरिका के बाद भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा कोल उत्पादक देश है - Dainik Bhaskar
चीन और अमेरिका के बाद भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा कोल उत्पादक देश है
  • पिछले साल अप्रैल महीने में 11.27 मिलियन टन थर्मल कोल का आयात हुआ था
  • कोकिंग और अन्य कोल का आयात भी अप्रैल 2020 में 17.07 फीसदी घटा

कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन का असर कोल आयात पर भी पड़ा है। इंडियन पोर्ट्स एसोसिएशन (आईपीए) के आंकड़ों के मुताबिक, चालू वित्त वर्ष के पहले महीने अप्रैल में थर्मल कोल आयात में 30.46 फीसदी की कमी दर्ज की गई है। इस अवधि में देश के सभी 12 मुख्य पोर्ट्स के जरिए 7.8 मिलियन टन थर्मल कोल का आयात हुआ है। पिछले साल इस समान अवधि में 11.27 मिलियन टन थर्मल कोल का आयात हुआ था। थर्मल कोल का मुख्य इस्तेमाल बिजली बनाने में होता है।

कोकिंग और अन्य कोल का आयात भी घटा

देश के प्रमुख 12 पोर्ट्स का संचालन करने वाली संस्था आईपीए ने पिछले साल आयात किए गए सभी प्रकार के कोल को लेकर एक ताजा रिपोर्ट जारी की है। इस रिपोर्ट के मुताबिक, अप्रैल 2020 में कोकिंग और अन्य कोल का आयात भी 17.07 फीसदी घटकर 4.27 मिलियन टन रहा है। पिछले साल अप्रैल में 5.15 मिलियन टन कोकिंग कोल का आयात हुआ था। थर्मल कोल भारत के ऊर्जा कार्यक्रम का मुख्य आधार है और करीब 70 फीसदी बिजली का उत्पादन इसी से होता है। वहीं, कोकिंग कोल का मुख्य इस्तेमाल स्टील बनाने में होता है। चीन और अमेरिका के बाद भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा कोल उत्पादक देश है।

कार्गो ट्रैफिक 21 फीसदी घटा

आईपीए ने कहा कि सभी 12 प्रमुख पोर्ट देश के कुल कार्गो ट्रैफिक का 61 फीसदी हिस्सा संभालते हैं। अप्रैल महीने में इन पोर्ट्स पर कार्गो ट्रैफिक 21 फीसदी घटा है। इस अवधि में कुल 47.42 मिलियन टन कार्गो वॉल्यूम रहा है। आईपीए ने कहा कि कोरोना संक्रमण के कारण कार्गो ट्रैफिक में कमी आई है। आईपीए के आंकड़ों के मुताबिक, जवाहरलाल नेहरू पोर्ट ट्रस्ट, चेन्नई, कोचिन और कामराजनगर के पोर्ट में कार्गो हैंडलिंग में बड़ी मात्रा में गिरावट आई है।

कार्गो सेगमेंट पर पड़ेगा प्रतिकूल प्रभाव: इक्रा

पिछले सप्ताह रेटिंग एजेंसी इक्रा ने भी कहा था कि कार्गो सेगमेंट कोरोना की बड़ी चपेट में है और इस सेगमेंट पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ने की संभावना है। एजेंसी ने वित्त वर्ष 2020-21 में कार्गो थ्रोपुट में 5 से 8 फीसदी तक की कमी का अनुमान जताया है। वहीं, कंटेनर सेगमेंट में 12 से 15 फीसदी की गिरावट का अनुमान जताया है। पिछले वित्त वर्ष में देश के सभी प्रमुख पोर्ट्स ने 705 मिलियन टन कार्गो हैंडलिंग की थी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई लाभदायक यात्रा संपन्न हो सकती है। अत्यधिक व्यस्तता के कारण घर पर तो समय व्यतीत नहीं कर पाएंगे, परंतु अपने बहुत से महत्वपूर्ण काम निपटाने में सफल होंगे। कोई भूमि संबंधी लाभ भी होने के य...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser