पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Business
  • Economy
  • Flipkart Will Expand Its Grocery Business To More 20 Cities, Will Cover Tier 2 Cities Like Kanpur And Allahabad

छोटे शहरों के कंज्यूमर पर फोकस:फ्लिपकार्ट और 20 शहरों में ले जाएगी ग्रोसरी बिजनेस, कानपुर और इलाहाबाद जैसे टीयर-2 शहरों को कवर करेगी

4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोविड-19 पर रोकथाम के लिए देशभर में लगाए गए लॉकडाउन के चलते ऑनलाइन ग्रोसरी स्पेस में पिछले एक साल से गहमागहमी बढ़ हुई है। इस बीच वॉलमार्ट के मालिकाना हक वाली ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म फ्लिपकार्ट ने छह महीनों में अपने ग्रोसरी बिजनेस को 20 और शहरों में ले जाने का फैसला किया है।

पहले से ही देश के 50 शहरों में ग्रोसरी बेच रही है फ्लिपकार्ट

फ्लिपकार्ट ने ग्रोसरी बिजनेस के विस्तार का प्लान तब बनाया है जब वह पहले से ही देश के 50 शहरों में ग्रोसरी बेच रही है और टाटा ग्रुप मार्केट लीडर बिग बास्केट को खरीदने जा रहा है। इस ऑनलाइन ग्रोसरी स्टार्टअप में टाटा ग्रुप 9100-9200 करोड़ रुपये से 68% हिस्सेदारी खरीद सकता है।

फ्लिपकार्ट के लिए तेज ग्रोथ वाली कैटेगरी बनी हुई है ग्रोसरी

फ्लिपकार्ट में ग्रोसरी, जनरल मर्चेंडराइज और फर्निचर सेगमेंट के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट मनीष कुमार कहते हैं, ‘ग्रोसरी हमारे लिए तेज ग्रोथ वाली कैटेगरी बनी हुई है। अच्छी क्वॉलिटी वाले खाने और रोजमर्रा के इस्तेमाल वाले घरेलू सामान की खरीदारी ज्यादा हो रही है।’

'चुनने के लिए ज्यादा उत्पाद होंगे, शॉपिंग का अच्छा अनुभव मिलेगा'

कुमार बताते हैं, ‘हमने देशभर में अपने ग्रोसरी कारोबार को बड़ा करने और इकोसिस्टम को मजबूत बनाने के लिए निवेश किया है। इससे खरीदारों को समय पर उत्पाद मिलेंगे, ज्यादा उत्पादों में से चुनाव करने की सुविधा होगी और ग्रोसरी की शॉपिंग का अच्छा अनुभव मिलेगा।’

टीयर-2 शहरों में पिछले साल ग्रोसरी की मांग में तेज उछाल आई थी

कुमार बताते हैं, ‘टीयर-2 शहरों में पिछले साल ग्रोसरी की मांग में तेज उछाल आई थी। ग्राहकों का फोकस घरों से बैठे-बैठे कॉन्टैक्टलेस शॉपिंग करने पर रहा। हमारे हिसाब से यह ट्रेंड बना रहेगा और इससे डेडिकेटेड ग्रोसरी फुलफिलमेंट सेंटर के जरिए देशभर में ई-ग्रोसरी स्पेस की दिशा तय होगी।’

आधे से ज्यादा ग्रोसरी रिटेल स्पेस को कवर कर सकते हैं ऑनलाइन प्लेटफॉर्म

रेडसीयर कंसल्टिंग की हालिया रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में आधे से ज्यादा ग्रोसरी रिटेल स्पेस को ऑनलाइन प्लेटफॉर्म कवर कर सकते हैं। इसमें 40% हिस्सा मेट्रो और टीयर-1 शहरों का होगा।

ग्रोसरी सर्विसेज को कानपुर और इलाहाबाद जैसे शहरों में भी ले जाएगी फ्लिपकार्ट

फ्लिपकार्ट सैटेलाइट एक्सपैंशन मार्केटप्लेस मॉडल पर अपनी ग्रोसरी सर्विस को मेट्रो से बाहर मैसूर, कानपुर, वारंगल, इलाहाबाद, अलीगढ़, जयपुर, चंडीगढ़, राजकोट, वडोदरा, वेल्लोर, तिरुपति और दमन जैसे शहरों में सर्विस दे रही है। फ्लिपकार्ट ग्रोसरी सर्विस के तहत 200 से ज्यादा कैटेगरी में 7000 से ज्यादा प्रॉडक्ट उपलब्ध हैं।

बेंगलुरु में हायपर लोकल डिलीवरी मॉडल ‘फ्लिपकार्ट क्विक’ शुरू किया है

प्रॉडक्ट में रोजाना के खाने-पीने के सामान, स्नैक्स और रोजमर्रा के घरेलू इस्तेमाल के सामान शामिल हैं। फ्लिपकार्ट ने बेंगलुरु में हायपर लोकल डिलीवरी मॉडल ‘फ्लिपकार्ट क्विक’ भी शुरू किया है। इसमें वह 90 मिनट के भीतर डिलीवरी दे रही है।

पिछले एक साल में ग्रोसरी बिजनेस तीन गुना बढ़ने का दावा

ऑनलाइन शॉपिंग में ग्रोसरी बड़ी संभावनाओं वाला बड़ा स्पेस है और फ्लिपकार्ट नए कस्टमर्स को ऑनलाइन शॉपिंग स्पेस में लाने के लिए इस पर फोकस कर रही है। फ्लिपकार्ट ने पिछले एक साल में अपना ग्रोसरी बिजनेस तीन गुना बढ़ने का दावा किया है। उसके ग्रोसरी कारोबार में विस्तार से लोकल फूड प्रोसेसिंग इंडस्ट्री को बड़ा सपोर्ट मिलेगा।

किसान समुदाय को डिजिटल एक्सेस दिलाने के लिए FPO के साथ काम कर रही है

फ्लिपकार्ट के मुताबिक उसके टेक सपोर्टेड मार्केटप्लेस के जरिए फार्मर प्रोड्यूसर ऑर्गनाइजेशंस (FPO) लाखों उपभोक्ताओं से जुड़ सकेंगे। उसने न सिर्फ रिटेलर्स के साथ करार किया है बल्कि वह किसान समुदाय को डिजिटल एक्सेस मुहैया कराने के लिए देश भर के FPO के साथ भी काम कर रही है। FPO किसानों के समूह का बनाया एक संगठन होता है जो उनकी कारोबारी गतिविधियों को संभालता है।