पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Business
  • Economy
  • Reliance Industries' Share Price Has Increased Significantly In Every AGM Week After 2015 As Compared To 2010 2014

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बाजार:2010-2014 की तुलना में 2015 के बाद हर एजीएम वाले हफ्ते में रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों की कीमतों में हुई है अच्छी वृद्धि

अहमदाबाद10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 2010 से 2014 के दौरान शेयरों की कीमतें या तो मामूली कम हुईं या स्थिर रही
  • 2015 के बाद आयोजित एजीएम में जियो को लेकर ज्यादा ऐलान किया गया

(विमुक्त दवे) रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल ) की वार्षिक साधारण सभा ( एजीएम ) को लेकर हर बार इसके निवेशकों और बाजार में एक उत्साह बना रहता है। बुधवार को कंपनी की 43 वीं एजीएम को लेकर इस बार कुछ ज्यादा ही नजर निवेशकों की है। इसके हालांकि कई कारण हैं।

भास्कर ने पिछली 10 एजीएम और एजीएम के हफ्ते के दौरान कंपनी के शेयर की कीमतों पर एक स्टडी की। जिससे यह सामने आया कि पिछले कुछ सालों में एजीएम वाले हफ्ते में कंपनी के शेयरों की कीमतें 2010 से 2014 की तुलना में ज्यादा बढ़ी हैं।

2015 से पहले शेयरों में कम गिरावट रही

वर्ष 2010 से 2014 के दौरान कंपनी के एजीएम के सप्ताह में शेयरों में काफी कम गिरावट रही है। आंकड़े बताते हैं कि यह गिरावट 2 से 3 प्रतिशत रही है। 2015 के बाद जब एजीएम शुरू हुए तो उस हफ्ते में कंपनी का शेयर 5 से 10 प्रतिशत तक बढ़ा। इसका एक प्रमुख कारण यह है कि 2015 के बाद से ही जियो को लेकर कंपनी ने अपनी स्ट्रेटेजी बनानी शुरू की।  

2015 के एजीएम में जियो की बात निकली

कंपनी के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने 2015 की एजीएम में जियो की शुरुआत की बात कही और सितंबर 2016 में इसे लांच कर दिया गया। बाजार के एनालिस्ट जिग्नेश माधवाणी ने बताया कि 2010- 2015 के बीच कंपनी ज्यादातर इन्वेस्टमेंट मोड में थी। खास तौर पर कंपनी ने टेलीकॉम और डिजिटल बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए भारी-भरकम निवेश किया। उसके बाद रिलायंस जियो की लांचिंग से आरआईएल के शेयरों में लगातार तेजी देखी गई।

आरआईएल 2015-16 के बाद ग्रोथ फेज में आई 

मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेस के रिटेल रिसर्च हेड सिद्धार्थ खेमका ने बताया कि कंपनी जब निवेश के चरण में हो तब निवेशक बहुत ज्यादा उम्मीद नहीं करते हैं। इस कारण उस कंपनी के शेयर में ज्यादा मूवमेंट नहीं होती है। आरआईएल 2015 -16 के बाद ग्रोथ फेज में आई है। इस दौरान उसने जितने भी अनाउंस किए, उन सभी को पूरा किया, जिससे इसका शेयर इस समय 1,900 के पार है।

जियो का अनाउंसमेंट ट्रिगर साबित हुआ

एचडीएफसी सिक्योरिटीज़ के टेक्निकल रिसर्च एनालिस्ट विनय राजाणी ने कहा कि, रिलायंस के लिए जियो का अनाउंसमेंट ट्रिगर साबित हुआ है। टेक्निकल तौर पर देखा जाए तो 2008 से 2015 तक भाव में कोई खास मूवमेंट नहीं देखी गई। जियो का ऐलान और उसके बाद के सालों में संबंधित घोषणा से सेंटीमेंट में हुए बदलाव के कारण शेयरों पर पॉजिटिव असर देखा गया।

2010 - 2014 के बीच शेयरों की कीमतों में कमी रही

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई ) के आंकड़ों के मुताबिक, 2010 से 2014 के दौरान पांच एजीएम में आरआईएल के शेयर का भाव 3 बार कम हुआ। यह कमी 0.37 प्रतिशत से लेकर 2.77 प्रतिशत तक रही। हालांकि दो एजीएम में शेयरों की कीमतें बढ़ीं जरूर, लेकिन वह काफी कम रहीं।

आंकड़ों के अनुसार 2015 में एजीएम वाले हफ्ते में रिलायंस के शेयर की कीमत 11.61 प्रतिशत बढ़ी लेकिन 2016 में 2.43 प्रतिशत की गिरावट आई। 2015-2019 के बीच के एजीएम वाले हफ्ते में चार बार शेयर की कीमतें 4.55 प्रतिशत और एक बार 11.61 प्रतिशत बढ़ी।

2015 की एजीएम के बाद अभी तक शेयर 115 प्रतिशत बढ़ा

2015 की एजीएम के बाद से अभी तक कंपनी का शेयर 115 प्रतिशत से ज्यादा बढ़ा है। 12 जून 2015 को आरआईएल का शेयर 889.15 रुपए पर बंद हुआ था। जबकि मंगलवार को यह 1916.65 पर बंद हुआ है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत होगा। जिससे आपकी विचार शैली में नयापन आएगा। दूसरों की मदद करने से आत्मिक खुशी महसूस होगी। तथा व्यक्तिगत कार्य भी शांतिपूर्ण तरीके से सुलझते जाएंगे। नेगेट...

    और पढ़ें