पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रिफाइनरी देख रहीं नए सोर्स:अमेरिका और कनाडा से ऑयल का रिकॉर्ड इंपोर्ट, खाड़ी देशों से आयात आठ महीने के निचले स्तर पर

नई दिल्ली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कनाडा और अमेरिका से क्रूड का इंपोर्ट दिसंबर के मुकाबले जनवरी में डबल
  • यूनाटेड अरब अमीरात के बाद चौथा सबसे बड़ा क्रूड सप्लायर हुआ अमेरिका

पिछले महीने क्रूड ऑयल के इंपोर्ट में कनाडा और अमेरिका का हिस्सा बढ़कर रिकॉर्ड 11% पर पहुंच गया। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, जनवरी में खाड़ी देशों और साउथ अमेरिका से क्रूड का इंपोर्ट घटा। कनाडा और अमेरिका से क्रूड का इंपोर्ट दिसंबर के मुकाबले जनवरी में डबल हो गया। कनाडा से रोजाना 142,000 बैरल जबकि अमेरिका से 367,000 बैरल आया। अमेरिका यूनाटेड अरब अमीरात के बाद भारत का चौथा सबसे बड़ा क्रूड सप्लायर हो गया है।

जनवरी में हुआ 48 लाख बैरल क्रूड का इंपोर्ट

एशिया की तीसरी सबसे बड़ी इकोनॉमी यानी भारत में पिछले महीने लगभग 48 लाख बैरल क्रूड का इंपोर्ट हुआ। यह पिछले साल दिसंबर से 6% कम लेकिन जनवरी 2020 से थोड़ा ज्यादा रहा। रिफाइनिटिव के लीड ऑयल रिसर्च एंड फोरकास्ट एनालिस्ट एहसान उल हक के मुताबिक, ‘भारत में पेट्रोल की मांग दूसरे प्रॉडक्ट्स के मुकाबले ज्यादा बढ़ी है।’ नॉर्थ अमेरिकी क्रूड में पेट्रोल ज्यादा होता है लेकिन खाड़ी देशों के तेल में डिस्टिलेट ज्यादा रहता है। नवंबर में अमेरिका का क्रूड दूसरे सप्लायर से सस्ता था जबकि कनाडा का क्रूड ब्रेंट से बहुत कम में मिलता है।

इंपोर्ट में रुकावट से बचने के लिए डावर्सिफिकेशन

भारत क्रूड इंपोर्ट और कंज्यूम करने वाला दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा देश है। यहां की जरूरत का 80% से ज्यादा क्रूड बाहर से आता है जिसमें बड़ा हिस्सा खाड़ी देशों का होता है। क्रूड के लिए खाड़ी देशों पर भारत की निर्भरता घटने की वजह यह है कि रिफाइनिंग कंपनियां इंपोर्ट में रुकावट से बचने के लिए दूसरे सोर्स को आजमा रही हैं। साथ ही वे सस्ता क्रूड मंगाकर मार्जिन बढ़ाने की भी कोशिश कर रही हैं।

इराक और सऊदी अरब से घटी तेल की सप्लाई

जनवरी में खाड़ी देशों से क्रूड का इंपोर्ट आठ महीने के निचले स्तर 61% पर आ गया। इसकी वजह इराक और सऊदी अरब की सप्लाई में कमी रही। लैटिन अमेरिका से क्रूड का इंपोर्ट भी छह महीने के निचले लेवल 6.4% पर आ गया। इराक ने इस साल इंडियन रिफाइनिंग कंपनियों के साथ डील में एनुअल ऑयल सप्लाई में कटौती की है।

सऊदी अरब से जनवरी में आया 29% कम ऑयल

सऊदी अरब से जनवरी में दिसंबर के मुकाबले 29% कम ऑयल आया। पिछले महीने इराक से कम ऑयल आया, इसके बावजूद वह सऊदी अरब के बाद सबसे बड़ा सप्लायर रहा। खाड़ी देशों और दक्षिण अमेरिका से क्रूड की कम सप्लाई के चलते पिछले अप्रैल से इस जनवरी तक ओपेक देशों से ऑयल का आयात रिकॉर्ड निचले लेवल पर आ गया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों में आपकी व्यस्तता बनी रहेगी। किसी प्रिय व्यक्ति की मदद से आपका कोई रुका हुआ काम भी बन सकता है। बच्चों की शिक्षा व कैरियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी संपन...

    और पढ़ें