फाइनेंशियल रिजल्ट:एसबीआई कार्ड के शुद्ध लाभ में 66 प्रतिशत की गिरावट, 249 करोड़ रुपए से घटकर 83 करोड़ रुपए हुआ मुनाफा

मुंबई2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
एसबीआई कार्ड, देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई की सब्सिडियरी है। - Dainik Bhaskar
एसबीआई कार्ड, देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई की सब्सिडियरी है।
  • रेवेन्यू बढ़कर 2,433 करोड़ रुपए रहा
  • एक रुपए का इंटरिम डिविडेंड घोषित

एसबीआई की कार्ड सब्सिडियरी एसबीआई कार्ड को 31 मार्च 2020 को समाप्त तिमाही में 83.54 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ हुआ है। जबकि एक साल पहले समान अवधि में यह लाभ 249 करोड़ रुपए था। यह गिरावट 66 प्रतिशत से थोड़ा ज्यादा रही है।

489 करोड़ रुपए के प्रोविजन से लाभ पर हुआ असर

कंपनी ने शुक्रवार को वित्तीय परिणाम जारी किए। कंपनी ने कहा कि शुद्ध लाभ में यह गिरावट मुख्य रूप से कोविड-19 की वजह से था। इसकी वजह से 489 करोड़ रुपए का प्रोविजन करना पड़ा। मार्च तिमाही में कुल रेवेन्यू 2,433 करोड़ रुपए था, जबकि एक साल पहले यह 1,983 करोड़ रुपए था। इसी तरह ग्रॉस एनपीए कुल एडवांस के अनुपात में 2.01 प्रतिशत रहा है। एक साल पहले समान अवधि में यह 2.44 प्रतिशत था।

शेयरों में 3.55 प्रतिशत की गिरावट

कंपनी के मुताबिक इस दौरान प्रोविजन कवरेज रेशियो बढ़कर 67.20 प्रतिशत हो गया है जो कि एक साल पहले समान अवधि में 66.48 प्रतिशत था। बोर्ड ने इस दौरान एक रुपए का इंटरिम डिविडेंड प्रति शेयर घोषित किया है। एसबीआई कार्ड का शेयर 3.55 प्रतिशत गिरकर 552 रुपए पर बंद हुआ। हालांकि आईपीओ प्राइस की तुलना में यह इस समय 25 प्रतिशत नीचे कारोबार कर रहा है। आईपीओ का मूल्य 750 से 755 रुपए तय किया गया था।  

वित्तीय वर्ष 2019-20 में शुद्ध लाभ 1,245 करोड़ रुपए

एसबीआई कार्ड ने जारी स्टेटमेंट में कहा कि कोविड-19 की वजह से आर्थिक स्थिति में काफी चुनौतियां पैदा हो गई हैं। भारत सरकार ने 25 मार्च 2020 से लॉकडाउन किया है। वित्तीय बोझ को आसान करने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक ने पेमेंट मोराटोरियम को तीन महीने के लिए बढ़ाया है। एसबीआई कार्ड आरबीआई के इन नियमों का पालन कर रहा है। इस दौरान कंपनी की प्रति शेयर आय (ईपीएस) 0.89 रुपए थी जो एक साल पहले समान अवधि में 2.67 रुपए थी। वित्तीय वर्ष 2019-20 में कंपनी का शुद्ध लाभ 1,245 करोड़ रुपए रहा है। 

खबरें और भी हैं...