• Hindi News
  • Business
  • Market
  • Despite The Pressure From AGR, The Telecom Sector Is Ineffective By The Lockdown, Brokers House Is Now Giving A Buying Opinion

सलाह:एजीआर के दबाव के बावजूद लॉकडाउन से बेअसर है टेलीकॉम सेक्टर , ब्रोकर्स हाउस अब दे रहे हैं खरीदने की राय

मुंबई3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
इस हफ्ते टेलीकॉम कंपनियों के शेयरों में रहा है उछाल - Dainik Bhaskar
इस हफ्ते टेलीकॉम कंपनियों के शेयरों में रहा है उछाल
  • फिलहाल भारती और वोडाफोन पर ब्रोकरेज हाउस हैं बुलिश
  • कई ब्रोकरेज हाउस ने हाल में पेश की है टेलीकॉम पर रिपोर्ट

सभी सेक्टर्स के स्टॉक्स में हाल के हफ्तों में फिर से रेटिंग हो रही है। क्योंकि विश्लेषकों ने कोविड-19 से संबंधित अड़चनों के बाद विकास अनुमानों (growth projections) और मूल्य के लक्ष्यों में कटौती कर दी है। परंतु इसमें से टेलीकॉम एक ऐसा सेक्टर है जिस पर लॉकडाउन का कोई असर नहीं हुआ है। निवेशक अब भी उसमें अपना विश्वास बनाए हुए हैं। ब्रोकरेज हाउस इस सेक्टर में खरीदारी की सलाह दे रहे हैं।

टेलीकॉम सेक्टर के जरिए बनाया जा सकता है पैसा

कुछ विश्लेषकों का अनुमान है कि टेलीकॉम सेक्टर के शेयरों के जरिए थोड़े ही समय में अच्छा पैसा बनाया जा सकता है। कुछ महीने पहले तक यह सेक्टर निवेशकों की आंखों का कांटा था। इसलिए क्योंकि इसमें उस समय कई विवाद चल रहे थे। इस सेक्टर के लिए विश्लेषक लॉकडाउन के बीच बढ़े हुए आंकड़ों पर भरोसा कर रहे हैं। इसके अलावा voice usage, पिछले साल के अंत में टैरिफ वृद्धि, शेयर की कीमतों और राजस्व के बारे में उनके तेजी के अनुमान भी हैं। वे आगे और भी टैरिफ वृद्धि के अनुमानों पर भरोसा कर रहे हैं।

विशेषता के दम पर निवेशकों को लुभा रहा है टेलीकॉम सेक्टर

एंबिट कैपिटल के विवेकानंद सुब्बारामन द्वारा तैयार की गई एक रिपोर्ट में कहा गया है, "हर टेलीकॉम की अपनी एक विशिष्टता है। इसी के दम पर यह निवेशकों को लुभाने में कामयाब होती है। इसलिए, हम अगले दशक में टेलीकॉम के क्षेत्र में 14 प्रतिशत सीएजीआर की दर से राजस्व वृद्धि की उम्मीद करते हैं। कैपेक्स इंटेंसिटी बिक्री के 18 प्रतिशत तक गिर जाएगी। वह वोडाफोन आइडिया पर सबसे ज्यादा आश्वस्त हैं। उन्हें उम्मीद है कि वह दूसरों के साथ मिलकर पोस्टपेड और प्रीमियम उपभोक्ताओं के लिए कीमतों में तेजी से बढ़ोतरी करेगा।

मार्च से 73 प्रतिशत बढ़ा है वोडाफोन का शेयर

अपनी रिपोर्ट में, सुब्बारामन ने कहा कि पोस्टपेड ग्राहकों की tiering से प्रति उपयोगकर्ता (Arpu) के औसत रेवेन्यू में मदद मिलने की संभावना है। भले ही कंपनी दूसरी प्रतिस्पर्धात्मक कंपनी द्वारा किए गए निवेश से असमर्थता के कारण अपनी बाजार हिस्सेदारी खो दे। वोडाफोन को उन्होंने 'बाय' रेटिंग के साथ स्टॉक का लक्ष्य अगले 12 महीनों में 19 रुपये का रखा है। यह लक्ष्य पिछले क्लोजिंग से 248 प्रतिशत ऊपर जाता है। इसके बाद यह स्टॉक मार्च से 73 फीसदी से अधिक बढ़ गया है।

टेलीकॉम सेक्टर की कमाई में हो रहा है सुधार

निप्पॉन इंडिया म्यूचुअल फंड में डिप्टी सीआईओ शैलेष राज भान का मानना है कि टेलीकॉम में बहुत अच्छा स्पेस है। क्योंकि उस सेक्टर की कमाई में सुधार हो रहा है। वोडाफोन आइडिया की प्रतिद्वंदी भारती एयरटेल का शेयर हाल ही में ज्यादातर विश्लेषकों का पसंदीदा बन गया है। हर ब्रोकरेज अब इसे खरीदने की सलाह दे रहा है। यह तब हो रहा है, जब कंपनी ने भारी-भरकम घाटा पेश किया है।

26 विश्लेषकों में से 16 ने भारती पर लगाया दांव

रॉयटर्स के आंकड़े बताते हैं कि 26 विश्लेषकों में से 16 ने भारती एयरटेल के शेयर को खरीदने की सलाह दी है। 7 ब्रोकरेज हाउस ने आउट परफॉर्म की सलाह दी है। इसमें सीएलएसए और मॉर्गन स्टेनली का भी समावेश है।हाल ही में घोषित चौथी तिमाही के परिणामों में सीएलएसए ने कहा कि एयरटेल का भारतीय मोबाइल रेवेन्यू अनुमानों से आगे था। हालांकि एयरटेल अफ्रीका ऑपरेशंस ने सकारात्मक रूप से आश्चर्यचकित कर दिया। इसकी कीमत 670 रुपए है, जो 12 फीसदी ऊपर जाने का संकेत दे रही है।

भारती एयरटेल भी बना है ब्रोकरेज हाउस का पसंदीदा

मॉर्गन स्टेनली ने प्राइस टारगेट 575 रुपए से बढ़ाकर 725 रुपए कर दिया है। इसने कहा है कि यह स्टॉक पर ओवरवेट है। उन्होंने कहा कि एयरटेल एक डिजिटल लेयर जोड़ रहा है और दूरसंचार क्षेत्र में मजबूती से उभर रहा है। यह एक सकारात्मक संकेत है।यह स्टॉक मौजूदा कैलेंडर वर्ष में मजबूत हो रहा है और टॉप ब्लू चिप में से एक है। यह आज की तारीख में 31 प्रतिशत ऊपर है और ब्रोकरेज काउंटर पर इसमें औऱ अधिक तेजी देखते हैं।

डेटा उपयोग से कंपनियों को हो रहा है फायदा

एंबिट कैपिटल भारती इंफ्राटेल पर 'बाय' कॉल और 264 रुपए के प्राइस टारगेट पर बुलिश है। जिसका अर्थ है 21 प्रतिशत की संभावित तेजी। हालांकि, यह हाल के महीनों में डेटा के उपयोग में हुई वृद्धि से ज्यादा लाभ नहीं देखता है। स्क्रिप के लिए टारगेट प्राइस 690 रुपये (15 फीसदी upside) बढ़ाते हुए कोटक इंस्टीट्यूशनल इक्विटीज के रोहित चोरडिया ने कहा कि भारती एयरटेल भारतीय वायरलेस इंडस्ट्री की दिशा पर ध्यान दे या ना दे, विजेता बनकर उभरेगी।

इस ब्रोकरेज हाउस ने एयरटेल के शेयर का भाव 690 रुपए तय किया है। यह वर्तमान भाव से 15 प्रतिशत ऊपर है। एंबिट कैपिटल ने इसकी कीमत का लक्ष्य 808 रुपए तय किया है। यानी वर्तमान भाव से यह 35 प्रतिशत ऊपर है।

खबरें और भी हैं...