पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

फिक्रमंद न हों इनवेस्टर्स:दिसंबर में भी तेजी के घोड़े पर सवार रह सकता है भारतीय शेयर बाजार

नई दिल्ली5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • भले ही पूरे महीने बाजार में निवेश होता न रहे, लेकिन शुरू के कुछ दिनों तक पैसे आते रह सकते हैं
  • दिसंबर के पहले दिन FII ने 11,337 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे, 8,095.25 करोड़ रुपये के शेयर बेचे
  • 2009 के क्रैश से भी ज्यादा तेज गिरावट का शिकार इंडेक्स 70 पर्सेंट से भी ज्यादा ऊपर आ चुका है

भारतीय शेयर बाजार इस साल तेजी के घोड़े पर सवार है और निचले स्तर से काफी ऊपर आ चुका है। ऐसे में निवेशकों का यह सवाल अहम हो जाता है कि क्या बाजार साल के अंतिम महीने में फिसल जाएगा।

डर की जड़

2020 की शुरुआत यानी फरवरी में 42,273.87 के हाई पर पहुँचा सेंसेक्स 23 मार्च 2020 तक लगभग एक तिहाई से ज्यादा टूट गया था। लेकिन आज वह 2009 के ग्लोबल मेल्टडाउन के दौरान हुए क्रैश से भी ज्यादा तेज गिरावट का शिकार इंडेक्स 70 पर्सेंट से भी ज्यादा ऊपर आ चुका है।

सावधानी की जरूरत

जानकारों का कहना है कि शेयर में पैसा लगाने वाले निवेशकों को दिसंबर में गिरावट की चिंता करने की नहीं, सावधानी बरतने की जरूरत है। कार्वी कैपिटल के मुख्य निवेश अधिकारी कुंज बंसल कहते हैं कि भले ही पूरे महीने बाजार में निवेश होता न रहे लेकिन अगले कुछ दिनों तक पैसे आते रह सकते हैं।

FII का जाना मिथक

दरअसल बाजार को यह डर सता रहा है कि विदेशी संस्थागत निवेशक यानी एफआईआई साल के अंतिम महीने में भारतीय शेयर बाजार से पैसा निकाल सकते हैं। पिछले पाँच, 10 और 15 साल के आंकड़े बताते हैं कि साल के आखिरी महीने में भारतीय बाजार में एफआईआई का निवेश बढ़ता है।

पहले दिन पॉजिटिव इनफ्लो

एफआईआई भारतीय बाजार में पैसे डालने वाले सबसे बड़े खिलाड़ी हैं जबकि घरेलू संस्थागत निवेशक (DII) दूसरे और आम निवेशक तीसरे नंबर पर आते हैं। बीएसई पर मौजूद एफआईआई (FII) और एफपीआई (FPI) के निवेश के आंकड़ों के मुताबिक उनकी तरफ से दिसंबर के पहले दिन 11,337.25 करोड़ रुपये के शेयरों की खरीदारी जबकि 8,095.25 करोड़ रुपये के शेयरों की बिकवाली हुई थी, जो बाजार के लिए पॉजिटिव रहा।

क्या कहते हैं जानकार

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के रिसर्च हेड विनोद नायर कहते हैं कि नवंबर में 65000 करोड़ रुपये से ज्यादा की रकम भारतीय बाजार में लगाने के बाद एफआईआई निवेश की रफ्तार घटा सकते हैं। इनका कहना है कि अगले साल के अंत तक यानी दिसंबर 2021 तक निफ्टी 14500 तक जा सकता है यानी लगभग 20 पर्सेंट बढ़ सकता है।

इकनॉमिक इंडिकेटर्स और टीके का बूस्टर

बाजार को जिन दूसरे फैक्टर्स से सहारा मिल सकता है, वे हैं कोविड19 से बचाव वाले टीके की खोज, उसकी प्रभावोत्पादकता और उसकी बिक्री शुरू होने से जुड़ी खबरें। नवंबर में लगातार दूसरे महीने जीएसटी (GST) कलेक्शन का एक लाख करोड़ रुपये का आंकड़ा पार करना इकनामिक रिकवरी के संकेतों को मजबूती दे रहा है। उधर, रिजर्व बैंक (RBI) ने अपने मॉनेटरी पॉलिसी स्टेटमेंट में कहा है कि हाई फ्रिक्वेंसी इकनॉमिक इंडिकेटर कई इकनॉमिक सेक्टर में नेगेटिव ग्रोथ घटने और उनके पॉजिटिव जोन की तरफ बढ़ने के संकेत दे रहे हैं।

बर्गर किंग भी बढ़ाएगा टेस्ट

बर्गर किंग (burger king) का आईपीओ (IPO) 4 दिसंबर यानी शुक्रवार को सब्सक्रिप्शन के लिए बंद हो रहा है और कंपनी के शेयरों को ग्रे मार्केट में डेढ़ गुना भाव मिल रहा है। निवेशक इससे भी अंदाजा लगा सकते हैं कि दिसंबर में भारतीय शेयर बाजार का मूड कैसा रह सकता है।

वायदा बाजार के संकेत

वायदा बाजार के खड़े सौदे दिसंबर के दौरान निफ्टी के 13500 प्वाइंट तक जाने का संकेत दे रहे हैं। इस हिसाब से बाजार के खिलाड़ी निफ्टी मौजूदा लेवल से 200 प्वाइंट और ऊपर जाने की उम्मीद कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए आप अपने प्रयासों में कुछ परिवर्तन लाएंगे और इसमें आपको कामयाबी भी मिलेगी। कुछ समय घर में बागवानी करने तथा बच्चों के साथ व्यतीत करने से मानसिक सुकून मिलेगा...

    और पढ़ें