• Hindi News
  • Business
  • Market
  • Jio ; Reliance ; Saudi's Sovereign Wealth Fund May Buy Stake In Jio Platform, Exploring Possibility

कॉरपोरेट:जियो प्लेटफॉर्म में हिस्सेदारी खरीद सकता है सउदी का सॉवरेन वेल्थ फंड, तलाश रहा संभावना

नई दिल्ली2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अमेरिका की फेसबुक, सिल्वर लेक और विस्टा इक्विटी पार्टनर्स अभी तक जियो प्लेटफॉर्म में हिस्सेदारी खरीद चुके हैं। - Dainik Bhaskar
अमेरिका की फेसबुक, सिल्वर लेक और विस्टा इक्विटी पार्टनर्स अभी तक जियो प्लेटफॉर्म में हिस्सेदारी खरीद चुके हैं।
  • हिस्सेदारी बिक्री से तीन सप्ताह से कम समय में 60 हजार करोड़ से ज्यादा की राशि जुटा चुका है जियो प्लेटफॉर्म
  • जियो प्लेटफॉर्म की अब तक 13.46 फीसदी हिस्सेदारी बिकी, अरैमको के साथ डील पर अंतिम मुहर भी जल्द संभव

क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के नेतृत्व वाला सउदी अरब का सॉवरेन वेल्थ फंड रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) के डिजिटल प्लेटफॉर्म जियो प्लेटफॉर्म में हिस्सेदारी खरीदने पर विचार कर रहा है। इस मामले से वाकिफ एक सूत्र ने यह जानकारी दी है। बड़े वेल्थ फंड्स में शुमार सउदी अरब का यह पब्लिक इन्वेस्टमेंट फंड 320 बिलियन डॉलर से ज्यादा से एसेट्स का मैनेजमेंट करता है।

जियो प्लेटफॉर्म में हिस्सेदारी खरीदने वाला चौथा निवेशक बन सकता है सउदी फंड
सउदी अरब का पब्लिक इन्वेस्टमेंट फंड इस निवेश में कामयाब हो जाता है तो वह जियो प्लेटफॉर्म में हिस्सेदारी खरीदने वाला चौथा निवेशक बन सकता है। अभी तक फेसबुक, सिल्वर लेक और विस्टा इक्विटी पार्टनर्स ने जियो प्लेटफॉर्म में हिस्सेदारी खरीदी है। इस हिस्सेदारी बिक्री से जियो प्लेटफॉर्म ने ऐसे समय में 60 हजार करोड़ से ज्यादा की राशि जुटाई है जब कोरोनावायरस महामारी के कारण पूरी दुनिया में कोहराम मचा हुआ है। अभी तक जियो प्लेटफॉर्म में अमेरिकी कंपनियों ने हिस्सेदारी खरीदी है।

सउदी अरैमको और आरआईएल में भी चल रही बातचीत
आरआईएल की अपने पेट्रोलियम और पेट्रोकैमिकल कारोबार की 20 फीसदी हिस्सेदारी बेचने को लेकर सउदी अरब की तेल कंपनी सउदी अरैमको के साथ बातचीत चल रही है। सउदी अरैमको अगले सप्ताह वित्तीय नतीजे घोषित कर सकती है। इस दौरान उम्मीद जताई जा रही है कि वह आरआईएल के साथ चल रहे सौदे के ड्यू डिलिजेंस पर कोई प्रतिक्रिया देगी। 30 अप्रैल को बोर्ड बैठक के बाद रिलायंस ने कहा था कि सउदी अरैमको सौदे को लेकर ड्यू डिलिजेंस सही दिशा में चल रहा है।

22 अप्रैल को फेसबुक ने किया था 43,574 करोड़ रुपए का निवेश
अप्रैल में दिग्गज सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक ने जियो प्लेटफॉर्म में 43,574 करोड़ रुपए का निवेश किया था। इस निवेश के बाद जियो प्लेटफॉर्म में फेसबुक की 9.99 फीसदी हिस्सेदारी हो गई है। 22 अप्रैल को रिलायंस इंडस्ट्रीज और फेसबुक ने इस निवेश की घोषणा की थी। यह भारत में अब तक का सबसे बड़ा विदेशी निवेश था।

सिल्वर लेक ने 5656 करोड़ रुपए का निवेश किया
अमेरिकी की निजी इक्विटी निवेश कंपनी सिल्वर लेक ने 4 मई को रिलायंस जियो में 5656 करोड़ रुपए के निवेश की घोषणा की थी। इस निवेश के बाद जियो में सिल्वर लेक की 1.15 फीसदी हिस्सेदारी हो जाएगी। यह निवेश जियो प्लेटफॉर्म की इक्विटी वैल्यू 4.90 लाख करोड़ रुपए और एंटरप्राइजेस वैल्यू 5.15 लाख करोड़ रुपए पर किया गया था। सिल्वर लेक दुनियाभर की टेक कंपनियों में निवेश करती है। इनमें एयरबीएनबी, अलीबाबा, आंट फाइनेंशियल, अल्फाबेट की वैरिली एंड वायमो यूनिट्स, डेल टेक्नोलॉजी और ट्वीटर प्रमुख कंपनियां हैं।

विस्टा इक्विटी पार्टनर्स ने 11,367 करोड़ रुपए में 2.32% हिस्सेदारी खरीदी
अमेरिका की प्राइवेट इक्विटी फर्म विस्टा इक्विटी पार्टनर्स ने 8 मई को आरआईएल के डिजिटल प्लेटफॉर्म जियो प्लेटफॉर्म में 2.32 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी है। यह सौदा 11,367 करोड़ रुपए में हुआ है। यह निवेश जियो प्लेटफॉर्म्स के इक्विटी मूल्य 4.91 लाख करोड़ रुपए और एंटरप्राइज वैल्यू 5.16 लाख करोड़ रुपए पर किया गया है। रिलायंस जियो में हिस्सेदारी खरीदने वाली विस्टा अब दूसरी बड़ी कंपनी बन गई है।