• Hindi News
  • Business
  • Scindia Tells Lok Sabha | Omicron | 11 Countries Placed In At risk Category

11 देश 'एट रिस्क' कैटेगरी में:सिंधिया ने कहा- यहां से आने वाले सभी यात्रियों का RT-PCR टेस्ट, वैक्सीन की दोनों डोज वालों को भी छूट नहीं

नई दिल्ली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ग्लोबल लेवल पर कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के बढ़ते खतरे के बीच भारत ने 11 दशों को 'एट रिस्क' यानी जोखिम वाले देशों की कैटेगरी में रखा है। इन देशों से भारत पहुंचने वाले सभी यात्रियो का RT-PCR टेस्ट होगा। यूनियन सिविल एविएशन मिनिस्टर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने गुरुवार को संसद में ये जानकारी दी।

जिन 11 देशों को एट रिस्क कैटेगरी में रखा गया है उनमें यूनाइटेड किंगडम, दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील, बोत्सवाना, चीन, जिम्बाब्वे, मॉरीशस, न्यूजीलैंड, हांगकांग, सिंगापुर और इजराइल है। सिंधिया का ये बयान डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (DGCA) के 15 दिसंबर से अंतरराष्ट्रीय उड़ानें फिर से शुरू करने के फैसले को होल्ड करने के बाद आया है।

अंतर्राष्ट्रीय यात्रा को फिर से शुरू करने के लिए एक झटका
सिंधिया ने कहा, 'पिछले छह महीनों में हमारा प्रयास रहा है कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी धीरे-धीरे उड़ानें बढ़ाई जाएं। ओमिक्रॉन निश्चित रूप से अंतर्राष्ट्रीय यात्रा को फिर से शुरू करने के लिए एक झटका है। हम सभी को इससे सुरक्षित रहने की जरूरत है। मुझे लगता है कि हमारी सरकार ने 11 देशों को 'एट रिस्क' कैटेगरी में रखने और टेस्टिंग का जो फैसला लिया है वो सही है।'

वैक्सीन की दोनों डोज वाले लोगों को भी छूट नहीं
ओमिक्रॉन को डेल्टा वैरिएंट से भी अधिक तेजी से फैलने वाला वैरिएंट कहा जा रहा है। ऐसे में सिंधिया ने ये भी स्पष्ट किया कि कोविड टीकों की दोनों डोज वाला व्यक्ति भी ओमिक्रॉन से संक्रमित हो सकता है, इसलिए, वैक्सीन की दोनों डोज वाले व्यक्तियों को एयरपोर्ट पर RT-PCR टेस्ट से छूट नहीं दी जा सकती है।

31 देशों के साथ बायो बबल
सिंधिया ने एयर बबल यात्रा की वर्तमान स्थिति के बारे में पूछ गए एक सवाल के जवाब में कहा, 'वर्तमान में हमारे पास 31 देशों के साथ एयर बबल एग्रीमेंट हैं और 10 अन्य देशों के साथ एयर बबल एग्रीमेंट शुरू करने का प्रस्ताव है।'