पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Business
  • Adani Group May Sell Stake In Mumbai Airport To Qatar Investment Authority

फंड जुटाने की योजना:मुंबई एयरपोर्ट की हिस्सेदारी बेच सकता है अडानी ग्रुप, कतर की इन्वेस्टमेंट अथॉरिटी से चल रही है बातचीत

नई दिल्ली9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अडानी ग्रुप को अहमदाबाद, लखनऊ, मंगलुरू, जयपुर, तिरुवनंतपुरम और गुवाहाटी एयरपोर्ट 50 साल के लिए लीज पर मिले हैं। - Dainik Bhaskar
अडानी ग्रुप को अहमदाबाद, लखनऊ, मंगलुरू, जयपुर, तिरुवनंतपुरम और गुवाहाटी एयरपोर्ट 50 साल के लिए लीज पर मिले हैं।
  • मुंबई एयरपोर्ट की हिस्सेदारी बेचकर 750 मिलियन डॉलर जुटाना चाहता है अडानी ग्रुप
  • अडानी मुंबई इलेक्ट्रिसिटी की 25.1 फीसदी हिस्सेदारी खरीद चुका है क्यूआईए

अडानी ग्रुप की कंपनी अडानी एयरपोर्ट होल्डिंग्स लिमिटेड मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड की आंशिक हिस्सेदारी बेच सकती है। इसके लिए कंपनी की कतर इन्वेस्टमेंट अथॉरिटी (क्यूआईए) के साथ एडवांस स्तर पर बात चल रही है।

मुंबई एयरपोर्ट में निवेश करना चाहती है क्यूआईए

अडानी एयरपोर्ट होल्डिंग्स लिमिटेड अडानी एंटरप्राइजेज लिमिटेड की सब्सिडियरी है। सूत्रों के हवाले से खबरों में कहा गया है कि अडानी एंटरप्राइजेज इस हिस्सेदारी बिक्री से 750 मिलियन डॉलर जुटाना चाहती है। क्यूआईए की प्राथमिकता मुंबई एयरपोर्ट में निवेश की है। लेकिन इसके विकल्प के तौर पर पैरेंट कंपनी अडानी एयरपोर्ट होल्डिंग्स लिमिटेड में भी हिस्सेदारी खरीदी जा सकती है।

अडानी मुंबई इलेक्ट्रिसिटी में भी क्यूआईए की हिस्सेदारी

कतर का सॉवरेन वेल्थ फंड अडानी ट्रांसमिशन की यूनिट अडानी मुंबई इलेक्ट्रिसिटी लिमिटेड में निवेशक भी है। अडानी ट्रांसमिशन मुंबई के 3 करोड़ से ज्यादा ग्राहकों को बिजली की सप्लाई करती है। क्यूआईए ने इसी साल फरवरी में 3220 करोड़ रुपए करीब 452 मिलियन डॉलर में अडानी मुंबई इलेक्ट्रिसिटी की 25.1 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी थी। इसमें 1210 करोड़ रुपए की इक्विटी और 2010 करोड़ रुपए का कर्ज का भुगतान शामिल था।

मुंबई एयरपोर्ट में जीवीके के हिस्सेदारी खरीद सकता है अडानी ग्रुप

पिछले महीने अडानी ग्रुप ने मुंबई एयरपोर्ट में जीवीके एयरपोर्ट डेवलपर्स लिमिटेड की हिस्सेदारी खरीदने की घोषणा की थी। इस खरीदारी से अडानी ग्रुप देश का सबसे बड़ा एयरपोर्ट ऑपरेटर बन जाएगा। जीवीके की मुंबई एयरपोर्ट में 50.5 फीसदी हिस्सेदारी है जो कर्ज के लिए गिरवी रखी है। इसके अलावा अडानी ग्रुप ने एयरपोर्ट कंपनी ऑफ साउथ अफ्रीका और साउथ अफ्रीका के बिवेस्ट ग्रुप की संयुक्त 23.5 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने की भी घोषणा की है। इस खरीदारी के बाद अडानी ग्रुप की मुंबई एयरपोर्ट में 74 फीसदी हिस्सेदारी हो जाएगी। शेष 26 फीसदी हिस्सेदारी एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पास है।

नवी मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट का कंट्रोल भी अडानी ग्रुप को मिलेगा

जीवीके ग्रुप के साथ किए गए सौदे के तहत अडानी एयरपोर्ट को नवी मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट की कंट्रोलिंग हिस्सेदारी मिल जाएगी। देश के मुनाफे वाले एयरपोर्ट्स में शामिल नवी मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट का निर्माण भी जीवीके ग्रुप ने किया है। इसके अलावा अडानी ग्रुप को अहमदाबाद, लखनऊ, मंगलुरू, जयपुर, तिरुवनंतपुरम और गुवाहाटी एयरपोर्ट 50 साल के लिए लीज पर मिले हैं।

खबरें और भी हैं...