पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Business
  • Adani Group's Companies Have Five Times The Debt Of Cash Income, Nine Times Increase In The Earnings Of Adani Ports Since 2014

कर्ज से फल-फूल रहा कारोबार:अडाणी ग्रुप की कंपनियों पर कैश इनकम का पांच गुना कर्ज, अदाणी पोर्ट्स की कमाई में 2014 से अब तक नौ गुना इजाफा

2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कैश फ्रॉम ऑपरेशन करीब 29,630 करोड़ रुपए है, जबकि करीब 1.48 लाख करोड़ रुपए का कर्ज है
  • कर्ज चुकाने की मौजूदा क्षमता कम, दिसंबर 2020 के अंत में ग्रुप का ग्रॉस डेट/EBITDA 5.35 गुना था

अडाणी ग्रुप की छह लिस्टेड कंपनियों के शेयरों में इस हफ्ते पांचों दिन गिरावट का रुझान दिखा है। इसकी वजह मीडिया में आई एक हालिया नेगेटिव खबर है, जो इसमें पैसा लगाए हुए कुछ विदेशी निवेशकों से जुड़ी है। खबर पांच साल पुरानी है और इसका अडाणी ग्रुप से कोई लेना-देना नहीं है, लेकिन इसके चलते सोमवार से शुरू गिरावट का दौर आज भी जारी है।

शेयर से ज्यादा कर्ज की पूंजी
यह तो रही अडाणी ग्रुप की कंपनियों के शेयरों पर सिर्फ एक नेगेटिव खबर की जोरदार चोट की बात। आइए देखते हैं कि ग्रुप इस तरह के दबाव को अपनी पूंजी और इनकम के बूते किस हद तक झेल सकता है। गौरतलब है कि ग्रुप की कंपनियों को अंदरुनी ताकत शेयरों और कर्ज, दोनों से मिल रही है, लेकिन उन पर कर्ज का बोझ आंकड़ों के मुताबिक कुछ ज्यादा ही लगता है।

कैश इनकम का पांच गुना कर्ज

आपको जानकर ताज्जुब होगा कि दुनिया के 15वें सबसे अमीर गौतम अदाणी के ग्रुप का हर कारोबार कर्ज के बूते बढ़ रहा है। सूत्रों के मुताबिक, ग्रुप की कंपनियां हर साल जितना कैश कमाती हैं, उसका पांच गुना कर्ज उन पर है। बताया जाता है कि ग्रुप की कंपनियों का कैश फ्रॉम ऑपरेशन करीब 29,630 करोड़ रुपए है, जबकि करीब 1.48 लाख करोड़ रुपए का कर्ज है। अदाणी पोर्ट्स एसईजेड सालाना करीब 7,408 करोड़ रुपए कमाकर दे रही है और 2014 से अब तक कंपनी की कमाई में करीब नौ गुना इजाफा हुआ है।

कंपनियों की कारोबारी क्षमता में कमी नहीं

जानकारों के मुताबिक, अडाणी ग्रुप की कंपनियों के पास इतनी कमाई करने की क्षमता है कि वे उससे 1.48 लाख करोड़ रुपए का कर्ज पूरा चुका सकें। वे देश की 140 करोड़ आबादी को बिजली और पाइप से गैस मुहैया कराके, इंटरनेट डेटा होस्टिंग करके और एयरपोर्ट्स मैनेज करके यह काम बखूबी कर सकती हैं।

कर्ज चुकाने की मौजूदा क्षमता कम

अगर ग्रुप की कंपनियों के कर्ज चुकाने की मौजूदा क्षमता की बात करें, तो इसको लेकर उन्हें बड़ी दिक्कत आ सकती है। दिसंबर 2020 के अंत में ग्रुप का ग्रॉस डेट/EBITDA 5.35 गुना था। इसकी कंपनियों का इंटरेस्ट कवरेज लगभग एक या उससे कम है। यानी उनकी जितनी कमाई है, उससे कर्ज चुकाने में उनको मुश्किल हो सकती है। दो साल पहले ऐसी खबरें आई थीं कि अडाणी पावर अपनी सब्सिडियरी अडाणी पावर मुंदड़ा को दिवालिया घोषित कराने के लिए NCLT से संपर्क कर सकती है।

ग्रुप की कंपनियों में पांचवें दिन भी लोअर सर्किट
अडाणी ग्रुप की कुछ कंपनियों में शुक्रवार को पांचवें दिन दिन लोअर सर्किट लगा। ये हैं: अडाणी टोटल गैस, अडाणी ग्रीन एनर्जी, अडाणी ट्रांसमिशन, अडाणी पावर। हालांकि, शेयर बाजार में कमजोरी के बीच अडाणी एंटरप्राइजेज लाल-हरे निशान में झूल रहा है जबकि अडाणी पोर्ट्स के शेयरों में थोड़ी-बहुत मजबूती है। पिछले पांच कारोबारी दिनों में अडाणी एंटरप्राइजेज (-14%) को छोड़कर बाकी सभी 5 कंपनियों के शेयरों में 23% की गिरावट आई है।

खबरें और भी हैं...