एशियन डेवलपमेंट बैंक ने कहा:इस साल भारत की विकास दर 11% रहेगी, व्यापक टीकाकरण से अर्थव्यवस्था को फायदा मिलेगा

नई दिल्ली6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

देश में कोविड-19 की दूसरी लहर का कहर जारी है। इस बीच एशियन डेवलपमेंट बैंक (ADB) ने देश की अर्थव्यवस्था को लेकर अच्छी खबर दी है। ADB ने कहा है कि देश में बेहतर और व्यापक स्तर पर टीकाकरण चल रहा है। इस कारण चालू वित्त वर्ष में भारत की अर्थव्यवस्था 11% की दर से बढ़ सकती है। हालांकि, ADB ने कहा है कि कोविड के मामलों में हाल ही में आई तेजी देश के आर्थिक सुधार के लिए जोखिम साबित हो सकती है।

टीकाकरण से मिलेगा फायदा

बुधवार को ADB ने अपने प्रमुख एशियाई विकास आउटलुक (ADO) 2021 को जारी करते हुए कहा कि बेहतर टीकाकरण के चलते भारतीय अर्थव्यवस्था के वित्त वर्ष 2021 में 11% की दर से बढ़ने की उम्मीद है। रिपोर्ट में अनुमान जताया गया है कि वित्त वर्ष 2022 में भारतीय अर्थव्यवस्था 7% की दर से बढ़ेगी। रिपोर्ट में कहा गया है कि दक्षिण एशिया के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) के इस वर्ष 9.5% तक पहुंचने की उम्मीद है, जो 2020 में 6% तक गिर गई थी। वहीं वित्त वर्ष 2022 में उम्मीद जताई गई है कि दक्षिण एशिया की GDP 6.6 प्रतिशत पर पहुंच जाएगा।

एशिया की अर्थव्यवस्थाएं करेंगी बेहतर प्रदर्शन

ADB ने कहा है कि चालू वित्त वर्ष में विकासशील एशिया की आर्थिक वृद्धि दर 7.3% के आसपास रहेगी। पिछले साल यह दर 0.2% रही थी। ADB का कहना है कि कोरोना महामारी से वैश्विक रिकवरी और कोविड-19 टीकाकरण अभियान की सशक्त शुरुआत का लाभ एशियाई अर्थव्यवस्थाओं को मिलेगा। रिपोर्ट में कहा गया है कि 2022 में इस क्षेत्र की कुल वृद्धि दर 5.3% तक रहने का अनुमान है.

सिंगापुर की आर्थिक विकास दर 7.7% रहने की उम्मीद

ADB का कहना है कि हॉन्गकॉन्ग, चीन, कोरिया की औद्योगिक अर्थव्यवस्थाओं को छोड़कर एशिया की आर्थिक गतिविधि विकसित करने वाले सिंगापुर और ताइपे-चीन में इस वर्ष 7.7% की दर से वृद्धि होने की उम्मीद है। वित्त वर्ष 2022 में यह दर 5.6% हो जाएगी। रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि विकासशील एशिया की अधिकांश अर्थव्यवस्थाएं इस साल और 2022 में बेहतर विकास करेंगी। विकासशील एशिया में भौगोलिक समूह के आधार पर ADB सूची के 46 सदस्य शामिल हैं। इनमें नई औद्योगिक अर्थव्यवस्थाएं, मध्य एशिया के देश, पूर्वी एशिया, दक्षिण एशिया, दक्षिण पूर्व एशिया और प्रशांत क्षेत्र की अर्थव्यवस्थाएं शामिल हैं।

खबरें और भी हैं...