पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Business
  • Aditya Birla Sun Life Mutual Fund Launches 2 New Index Funds | Mutual Fund Investment Update

26 मार्च तक निवेश का अवसर:बिरला सन लाइफ म्यूचुअल फंड ने लांच किया 2 इंडेक्स फंड, 500 रुपए से कर सकते हैं निवेश

मुंबई4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ब्रोकरेज फर्म जेफरीज के मुताबिक शेयर बाजार में जिस-जिस साल उथल-पुथल मची, उसके अगले साल स्मॉल कैप और मिड कैप शेयरों का रिटर्न बेहतर रहा है। इस पैटर्न के हिसाब से इस साल स्मॉल और मिड कैप दोनों तरह की कंपनियों के शेयरों में आउटपरफॉर्मेंस जारी रह सकता है - Dainik Bhaskar
ब्रोकरेज फर्म जेफरीज के मुताबिक शेयर बाजार में जिस-जिस साल उथल-पुथल मची, उसके अगले साल स्मॉल कैप और मिड कैप शेयरों का रिटर्न बेहतर रहा है। इस पैटर्न के हिसाब से इस साल स्मॉल और मिड कैप दोनों तरह की कंपनियों के शेयरों में आउटपरफॉर्मेंस जारी रह सकता है
  • लॉर्ज कैप की तुलना में मिड और स्मॉल कैप की ज्यादा कंपनियां होती हैं
  • सरकार की नीतियों से मिड कैप और स्माल कैप कंपनियों को फायदा होगा

लीडिंग म्यूचुअल फंड कंपनी आदित्य बिरला सन लाइफ म्यूचुअल फंड ने दो नए फंड ऑफर (NFO) को लांच किया है। सोमवार से खुला यह दोनों इंडेक्स फंड है। इसमें 26 मार्च तक निवेश किया जा सकता है। कम से कम 500 रुपए से निवेश कर सकते हैं।

निफ्टी मिड कैप और स्माल कैप पर आधारित है यह फंड

कंपनी की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, इसमें एक इंडेक्स फंड निफ्टी मिड कैप 150 इंडेक्स फंड है। यह स्कीम निफ्टी मिड कैप 150 TRI इंडेक्स को ट्रैक करेगी। दूसरा फंड निफ्टी स्मॉल कैप 50 इंडेक्स फंड है। दोनों ओपन एंडेड स्कीम हैं। यह निफ्टी स्मॉलकैप 50 TRI इंडेक्स को ट्रैक करेगी। इन दोनों प्रोडक्ट के जरिए निवेशक मिड और स्मॉल कैप सेगमेंट में निवेश कर अवसर का लाभ उठा सकते हैं।

अर्थव्यवस्था में तेजी से रिकवरी

आदित्य बिरला सन लाइफ असेट मैनेजमेंट कंपनी के MD एवं CEO ए. बालासुब्रमणियन ने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था में तेजी से रिकवरी दिख रही है। इकोनॉमिक रिकवरी के दौरान बाजार एक ब्रॉड बेस्ड है और यह समय मिड और स्मॉल कैप के आउट परफार्म के लिए पसंदीदा है। उन्होंने कहा कि साइक्लिकल रिकवरी भी मिड और स्मॉल कैप के लिए अच्छा काम कर रही है क्योंकि घरेलू अर्थव्यवस्था में उनका अच्छा एक्सपोजर है।

सरकार ने मैन्युफैक्चरिंग और इंफ्रा ग्रोथ पर फोकस किया और इसके लिए मेक इन इंडिया, आत्मनिर्भर भारत, PLI स्कीम जैसी नीतियां भी बनी हैं। यह सभी घरेलू मिड कैप और स्मॉल कैप कंपनियों के लिए मजबूती प्रदान करेंगी।

नेचुरल सिलेक्शन के नियमों का पालन करता है इंडेक्स फंड

इंडेक्स फंड नेचुरल सिलेक्शन के नियमों का पालन करता है। वे कंपनियां इंडेक्स में होती हैं जो अच्छा प्रदर्शन करती हैं जबकि बाकी बाहर हो जाती हैं। लॉर्ज कैप की तुलना में मिड और स्मॉल कैप की ज्यादा कंपनियां होती हैं। इनका वेटेज कंज्यूमर, IT, फार्मा, कंस्ट्रक्शन, इंडस्ट्रियल मैन्युफैक्चरिंग में होता है। इस दोनों नए इंडेक्स फंड से निवेशकों को बाजार के अवसर में शामिल होने का मौका मिलेगा। जो निवेशक मिड और स्मॉल कैप सेगमेंट में ज्यादा ग्रोथ के लिए निवेश करना चाहते हैं वे इंडेक्स फंड के जरिए इसका फायदा ले सकते हैं। इसमें कम जोखिम होता है।

स्मॉल और मिड कैप का अच्छा प्रदर्शन

ब्रोकरेज फर्म जेफरीज के मुताबिक शेयर बाजार में जिस-जिस साल उथल-पुथल मची, उसके अगले साल स्मॉल कैप और मिड कैप शेयरों का रिटर्न बेहतर रहा है। इस पैटर्न के हिसाब से इस साल स्मॉल और मिड कैप दोनों तरह की कंपनियों के शेयरों में आउटपरफॉर्मेंस जारी रह सकता है। बेंचमार्क इंडेक्स के मुकाबले दोनों इंडेक्स के बेहतर परफॉर्मेंस का ट्रेंड 2009, 2016 और 2017 में दिखा और उनमें कैलेंडर ईयर 2020 में शुरू हुआ आउटपरफॉर्मेंस का हालिया दौर अब तक जारी है।