पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Business
  • Advance Tax Income Fell By 25.5 Percent In Second Quarter, Total Collection To Be Rs 1.59 Lakh Crore

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आर्थिक स्थिति में सुधार:दूसरी तिमाही में एडवांस टैक्स की आय में 25.5 प्रतिशत की आई गिरावट, कुल 1.59 लाख करोड़ रुपए रहा कलेक्शन

मुंबई2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सिक्योरिटीज ट्रांजेक्शन टैक्स (एसटीटी) 7,079 करोड़ रुपए रहा है। एक साल पहले यह 5,035 करोड़ रुपए था
  • इनकम टैक्स विभाग ने कुल एक लाख एक हजार 785 करोड़ रुपए की राशि टैक्स देनेवालों को लौटाया है

दूसरी तिमाही में एडवांस टैक्स कलेक्शन में 25.5 प्रतिशत की गिरावट आई है। यह एक लाख 59 हजार 57 करोड़ रुपए रहा है। हालांकि पहली तिमाही (अप्रैल-जून) की तुलना में इसमें सुधार हुआ है। यह जानकारी इनकम टैक्स विभाग के सूत्रों ने दी है।

अप्रैल-जून में टैक्स कलेक्शन में 76 प्रतिशत की गिरावट आई थी

जानकारी के मुताबिक पहली तिमाही यानी अप्रैल से जून के बीच एडवांस टैक्स का रेवेन्यू महज 11,714 करोड़ रुपए था। यानी इसमें एक साल पहले की तुलना में 76 प्रतिशत की गिरावट आई थी। यह इसलिए हुआ था क्योंकि मार्च के अंत में लॉकडाउन लगा था और इसके बाद से पूरी आर्थिक गतिविधियां ठप पड़ गई थीं। एक साल पहले 15 सितंबर 2019 को कुल एडवांस टैक्स कलेक्शन 2 लाख 12 हजार 889 करोड़ रुपए था। उसके एक साल पहले यह तीन लाख 70 हजार 652 करोड़ रुपए था।

कॉर्पोरेट के टैक्स में 27.3 प्रतिशत की गिरावट

चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में सालाना आधार पर 25.5 प्रतिशत की गिरावट टैक्स कलेक्शन में रही है। इसमें कॉर्पोरेट ने एक लाख 29 हजार 619 करोड़ रुपए के टैक्स का भुगतान किया है। एक साल पहले की समान तिमाही की तुलना में इसमें 27.3 प्रतिशत की गिरावट आई है। पर्सनल इनकम में इसी समय में 15 प्रतिशत की गिरावट आई है। यह 34,632 करोड़ से घटकर 29,437.5 करोड़ रुपए रह गई है।

टीडीएस में 5.6 प्रतिशत की कमी

हालांकि टैक्स डिडक्टेड ऐट सोर्स (टीडीएस) में 5.6 प्रतिशत की महज कमी आई है। यह एक लाख 38 हजार 605 करोड़ रुपए रहा है। एक साल पहले इसी समय में यह एक लाख 46 हजार 792 करोड़ रुपए था। जून तिमाही में कॉर्पोरेट टैक्स में 79 प्रतिशत की गिरावट आई थी। यह 8,286 करोड़ रुपए था जबकि एक साल पहले जून तिमाही में यह 39,405 करोड़ रुपए था। पहली तिमाही में एडवांस पर्सनल इनकम टैक्स कलेक्शन 64 प्रतिशत गिरकर 3,428 करोड़ रुपए रही थी। एक साल पहले इसी अवधि में यह 9,512 करोड़ रुपए थी।

हर तिमाही में अंतिम महीने में भरा जाता है एडवांस टैक्स

बता दें कि एडवांस टैक्स हर तिमाही के अंतिम महीने की 15 तारीख को भरा जाता है। इससे यह पता चलता है कि आर्थिक स्थिति कैसी और आय तथा कमाई कैसी है। पहली तिमाही में कुल एडवांस टैक्स का 15 प्रतिशत, दूसरी और तीसरी तिमाही में 25-25 प्रतिशत और बाकी 35 प्रतिशत चौथी तिमाही में भरा जाता है। 2020-21 के बजट में ग्रॉस टैक्स कलेक्शन में 12 प्रतिशत का इजाफा का अनुमान लगाया गया था जो 24.23 लाख करोड़ रुपए था। वित्त वर्ष 2020 में यह 21.63 लाख करोड़ रुपए था।

डायरेक्ट टैक्स का 13.19 लाख करोड़ का लक्ष्य

डायरेक्ट टैक्स के लिए बजट में 13.19 लाख करोड़ रुपए का लक्ष्य रखा गया था। एक साल पहले के 10.28 लाख करोड़ रुपए की तुलना में यह 28 प्रतिशत ज्यादा है। यह लक्ष्य इसलिए ज्यादा रखा गया क्योंकि सरकार को उम्मीद थी कि विवाद से विश्वास स्कीम में उसे पैसे मिल सकते हैं।

कॉर्पोरेट टैक्स कलेक्शन में गिरावट

अधिकारियों ने बताया कि कुल कॉर्पोरेट टैक्स कलेक्शन 16 सितंबर तक 24.3 प्रतिशत गिरकर तीन लाख 17 हजार 571 करोड़ रुपए रहा है। जबकि कुल पर्सनल इनकम टैक्स 15 प्रतिशत गिरकर दो लाख 18 हजार 856 करोड़ रुपए रहा है। शुद्ध टैक्स कलेक्शन 16 सितंबर तक तीन लाख 28 हजार 133 करोड़ रुपए रहा है जो एक साल पहले के 4.40 लाख करोड़ की तुलना में 25.5 प्रतिशत कम है।

ग्रॉस टैक्स कलेक्शन 20 प्रतिशत घटा

इस वित्त वर्ष में ग्रॉस टैक्स कलेक्शन चार लाख 33 हजार 804 करोड़ रुपए रहा है जो एक साल पहले के 5.42 लाख करोड़ रुपए की तुलना में 20 प्रतिशत कम है। इस साल के दौरान इनकम टैक्स विभाग ने कुल एक लाख एक हजार 785 करोड़ रुपए की राशि टैक्स देनेवालों को लौटाई है। एक साल पहले की तुलना में इसमें 3.8 प्रतिशत की गिरावट आई है।

एसटीटी में हुआ इजाफा

इसी तरह टैक्स कलेक्शन में दो और कंपोनेंट जो हैं उसमें सिक्योरिटीज ट्रांजेक्शन टैक्स (एसटीटी) 7,079 करोड़ रुपए रहा है। एक साल पहले यह 5,035 करोड़ रुपए था। इसी तरह इक्विलाइजेशन लेवी 487 करोड़ से बढ़कर 504 करोड़ रुपए हो गई है। टैक्स कलेक्शन में मुंबई के हिस्से में 14 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है। बंगलुरू एकमात्र जोन रहा है जहां से टैक्स कलेक्शन में 9.9 प्रतिशत की वृद्धि दिखी है। इसका हिस्सा 40.665 करोड़ रुपए रहा है।

कोच्चि का योगदान 49 प्रतिशत गिरकर 3,214.7 करोड़ रुपए रहा है। दिल्ली जोन का हिस्सा 33 प्रतिशत गिरकर 33 हजार 176.7 करोड़ रुपए रहा है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- कुछ महत्वपूर्ण नए संपर्क स्थापित होंगे जो कि बहुत ही लाभदायक रहेंगे। अपने भविष्य संबंधी योजनाओं को मूर्तरूप देने का उचित समय है। कोई शुभ कार्य भी संपन्न होगा। इस समय आपको अपनी काबिलियत प्रदर्...

और पढ़ें