• Hindi News
  • Business
  • After Piramal Group For DHFL, Oaktree Raised Money, Email Just Before Committee Meeting

नीलामी में कंपीटीशन:DHFL के लिए पीरामल ग्रुप के बाद ऑकट्री ने भी बढ़ाई रकम, कमेटी की बैठक से ठीक पहले किया ईमेल

मुंबई10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दीवान हाउसिंग फाइनेंस कॉर्पोरेशन (DHFL) के लिए ऑकट्री कैपिटल मैनेजमेंट ने ऑफर बढ़ाकर 1,700 करोड़ रुपए कर दिया है। इससे पहले DHFL असेट्स के लिए अन्य बिडर्स पीरामल कैपिटल एंड हाउसिंग फाइनेंस (PCHFL) ने भी इंट्रेस्ट इनकम में इतनी ही रकम बढ़ाई थी।

कमिटी ऑफ क्रेडिटर्स को कंपनी का ईमेल

कमिटी ऑफ क्रेडिटर्स (CoC) को भेजे ईमेल में कंपनी ने कहा कि हम ब्याज की अतिरिक्त आय और बीमा कंपनी में हिस्सेदारी के लिए दूसरी सबसे बड़ी बोली की कुल के रकम के समान ही दे रहे हैं। यह बोली इसी तरह लगातार जारी रहने वाली है। हालांकि यह स्थितियों का गलत तरीके से फायदा उठाना नहीं है।

बिड में ऑकट्री की स्थिति

इसके बाद DHFL के लिए ऑकट्री की कुल बिड 38,400 करोड़ रुपए हो जाएगी। हालांकि कंपनी ने कहा कि उसके द्वारा ऑफर बिड पीरामल के बिड से 1,150 करोड़ रुपए अधिक है। इसके अलावा कंपनी ने दावा किया है कि उसका नेट प्रजेंट वैल्यू (NPV) भी प्रतिद्वंदी बिडर्स से 1,501 करोड़ रुपए अधिक है। बता दें कि हाल के राउंड में DHFL के लिए बोली में ऑकट्री कैपिटल के अलावा पीरामल कैपिटल और अदाणी प्रॉपर्टीज ने भी बिड जमा किए थे।

बता दें कि DHFL की इंसॉल्वेंसी प्रक्रिया 3 दिसंबर से NCLT मुंबई में जारी है। कंपनी पर 10 सितंबर 2020 तक कुल 87,120 करोड़ रुपए का कर्ज रहा। इसमें सबसे अधिक स्टेट बैंक का कर्ज 10,083 करोड़ रुपए का कर्ज है।

DHFL की कहानी में अब तक की घटनाएं

  • नवंबर 2019 में भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने DHFL के बोर्ड को भंग करके आर. सुब्रमण्यकुमार को एडमिनिस्ट्रेटर नियुक्त किया।
  • बैंक लोन के भुगतान में विफल रहने के बाद दिसंबर 2019 में नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (NCLT) ने DHFL के खिलाफ दिवालिया प्रक्रिया चलाने का आदेश दिया।
  • जनवरी 2020 में लैंडर्स ने पूरी DHFL या इसके अलग-अलग पोर्टफोलियो के लिए इंटरेस्ट ऑफ एक्सप्रेशन (EoI) आमंत्रित किए।
  • फरवरी 2020 में 24 कंपनियों ने DHFL को खरीदने के लिए निविदा जमा की।
  • अक्टूबर 2020 में केवल 4 कंपनियों ने फाइनेंशियल निविदा जमा की।