• Hindi News
  • Business
  • After The Whole Country, Mumbai And Delhi Will Also Be Occupied By BSNL; Wireless And Fixed Service Will Start From January 1

नई सर्विस:पूरे देश के बाद अब मुंबई और दिल्ली पर भी होगा BSNL का कब्जा; 1 जनवरी से शुरू करेगा वायरलेस और फिक्स्ड सेवा

नई दिल्ली2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • BSNL की ये टेलिकॉम सर्विस फिलहाल 5-6 महीने के लिए ट्रायल के तौर पर दी जाएंगी
  • सरकार ने दोनों कंपनियों के विलय के लिए 68751 करोड़ रुपए का रिवाइवल पैकेज दिया है

अभी तक पूरे भारत में अपनी टेलीफोन और इंटरनेट सेवा देने वाली भारत संचार निगम लिमिटेड (BSNL) अब मुंबई और दिल्ली पर भी कब्जा जमाएगी। खबर है कि एक जनवरी से कंपनी दोनों शहरों में फिक्स्ड और वायरलेस सेवा ट्रायल के आधार पर शुरू कर रही है। इससे आनेवाले समय में जियो के साथ एयरटेल और वोडाफोन की इंटरनेट और फोन सेवा को टक्कर मिलेगी।

बीएसएनएल-एमटीएनएल का विलय होने वाला है

बता दें कि अभी तक दिल्ली और मुंबई में सरकार की ही कंपनी महानगर टेलीफोन निगम लिमिटेड (MTNL) इंटरनेट और फोन सेवा दे रही थी। अब दोनों के बीच मर्जर की खबर है। इसी आधार पर BSNL इन दोनों शहरों में MTNL के तहत अपनी सेवा शुरू करेगी।

हालांकि, दिल्ली और मुंबई में MTNL का पहले से ही इंफ्रास्ट्रक्चर है और BSNL को बस इसे चालू करना है। ऐसे में BSNL को एक बना बनाया इंफ्रा मिल जाएगा, जिससे वह अन्य टेलीकॉम कंपनियों को टक्कर देने की स्थिति में आ जाएगी।

बीएसएनएल की 4G सर्विस शुरू करने भी योजना

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, BSNL पांच-छह माह के लिए एमटीएनएल की ओर से मुंबई और दिल्ली में वायरलेस और फिक्स्ड लाइनें मुहैया कराएगी। शुरूआत में यह सर्विस ट्रायल के तौर पर शुरू होगी। बाद में अगर सबकुछ ठीक रहा तो इसे आगे बढाने पर विचार किया जाएगा। इन शहरों में BSNL अपनी 4G सर्विस भी शुरू करने की योजना बना रही है। हालांकि, इसके लिए प्रधानमंत्री कार्यालय से प्रूफ ऑफ कॉन्सेप्ट (पीओसी) की मंजूरी ली जाएगी।

सरकार ने दोनों कंपनियों के विलय के लिए 68751 करोड़ रुपए का रिवाइवल पैकेज दिया है। इसमें 4 जी स्पेक्ट्रम लोकेशन और इच्छा से रिटायर होने की भी प्लान शामिल है। वायर्ड ब्रॉडबैंड में बीएसएनएल टाप पर है, जिसके पास देशभर में 78.5 लाख ग्राहक हैं। वायरलेस ब्राडबैंड सेवा के मामले में इसने 159 लाख ग्राहक बनाए हैं।

बीएसएनएल के मोबाइल कनेक्शन में 2.14 लाख का इजाफा

भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, अगस्त में MTNL के मोबाइल ग्राहकों की संख्या में 6,081 की गिरावट आई है। हालांकि, BSNL के मोबाइल कनेक्शनों में 2.14 लाख का इजाफा हुआ है। वहीं, BSNL को 2019-20 में 15,500 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था, जबकि इस दौरान MTNL का घाटा 3,694 करोड़ रुपए रहा। इसके अलावा BSNL ने कुछ समय पहले ही सॉवरेन गारंटी बांड से 8,500 करोड़ रुपए से अधिक की धनराशि जुटाई है।

TRAI की हालिया रिपोर्ट के मुताबिक, BSNL और MTNL की बाजार हिस्सेदारी अगस्त तक 10.65 फीसदी थी, जबकि निजी कंपनियों की हिस्सेदारी 89.35 फीसदी थी। दोनों सरकारी कंपनियों के पास 55.18 फीसदी हिस्सेदारी वायरलाइन सेगमेंट में हैं। BSNL के पास 1.68 लाख कर्मचारी हैं, जबकि MTNL के पास 22 हजार कर्मचारी हैं। दोनों कंपनियों के पास 40 हजार करोड़ का कर्ज है।

हाल ही में केंद्र सरकार ने अपने सभी मंत्रालयों, सार्वजनिक विभागों और सार्वजनिक सेक्टर की यूनिट्स के लिए सरकारी दूरसंचार कंपनियों BSNL और MTNL की सेवाओं के उपयोग को अनिवार्य कर दिया है।