• Hindi News
  • Business
  • Jack Ma Missing | Alibaba Founder Jack Ma Found In Tokyo After China Crackdown

चीनी अरबपति जैक मा हत्या के डर से जापान भागे:कोई पहचाने ना इसलिए पेंटिंग करते हैं

टोक्यो2 महीने पहले
नवंबर 2020 में जैक मा ने आखिरी ट्वीट किया था और 2021 में एक वीडियो सामने आया।

चीन में जिनपिंग सरकार की आलोचना के बाद गायब हुए दिग्गज ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा के फाउंडर जैक मा टोक्यो में हैं। अमेरिकी अखबार फाइनेंशियल टाइम्स ने अपनी रिपोर्ट में यह दावा किया है। रिपोर्ट के मुताबिक टोक्यो में वे खुद को काफी लो प्रोफाइल रखते हैं। जैक के रहने की जगह से वाकिफ लोगों ने बताया कि वे चीन से अपना पर्सनल शेफ और सिक्योरिटी भी लाए हैं।

जैक मा चीन सरकार की नीतियों की आलोचना के बाद जिनपिंग के निशाने पर आए थे। आशंका जताई जा रही थी कि चीन सरकार उनकी हत्या करा सकती है। मा की एक कंपनी 'एंट ग्रुप' के दुनिया के सबसे बड़े IPO को भी रोक दिया गया था और अरबों डॉलर का जुर्माना लगाया गया था। इस पूरे घटनाक्रम के बाद मा गायब हो गए थे। वो पब्लिकली दिखाई नहीं दिए।

नवंबर 2020 में उन्होंने आखिरी ट्वीट किया था और 2021 में उनका एक वीडियो सामने आया था। वीडियो में जैक कह रहे हैं कि महामारी खत्म होने के बाद हम दोबारा मिलेंगे।

जापान में पेंटिंग करके समय गुजार रहे जैक मा
जापान के मॉडर्न आर्ट सीन से जुड़े लोगों ने जानकारी दी है कि जापान में वह समय गुजारने के लिए वाटर कलर पेंटिंग करते हैं। चीनी सरकार के क्रैकडाउन के बाद मा को स्पेन और नीदरलैंड जैसे देशों में भी देखा गया है। एक साल पहले नीदरलैंड से उनकी एक तस्वीर भी सामने आई थी।

जैक मा (दाएं) पिछले साल नीदरलैंड में एक फ्लावर-ब्रीडिंग कंपनी में दिखे थे। चीनी अधिकारियों से मतभेद के बाद उन्हें अलग-अलग देशों में देखा गया है।
जैक मा (दाएं) पिछले साल नीदरलैंड में एक फ्लावर-ब्रीडिंग कंपनी में दिखे थे। चीनी अधिकारियों से मतभेद के बाद उन्हें अलग-अलग देशों में देखा गया है।

किस्सा उस मीटिंग का, जहां से बात बिगड़ी
जैक मा 24 अक्टूबर 2020 को एक मीटिंग के दौरान निशाने पर आए थे। इस मीटिंग में चीनी राजनीति और अर्थव्यवस्था के सबसे बड़े अधिकारी पहुंचे हुए थे। इसमें जैक मा ने चीनी बैंकों की आलोचना की थी। उन्होंने कहा था, ‘चीनी बैंक फंडिंग के लिए कुछ गिरवी रखने की मांग करते हैं। इससे नई तकनीकों को फंड नहीं मिल पाता और नए प्रयोग रुक जाते हैं।’

उन्होंने चीनी नियमों को भी राह में रोड़ा अटकाने वाला बताया था। वॉल स्ट्रीट जर्नल के मुताबिक, जब चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को जैक मा की कही बातों के बारे में जानकारी मिली, तो वे बहुत नाराज हो गए। उन्होंने जैक मा को सीन से गायब करने का आदेश दे दिया। बस यहीं से चीन की जिनपिंग सरकार के तमाम अफसर चालीस चोरों की तरह अलीबाबा फाउंडर के पीछे लग गए थे।

इस तरह लिखी गई जैक मा की तबाही की कहानी

  • पहले चीन ने अक्टूबर 2020 में जैक मा के एंट ग्रुप के 37 बिलियन डॉलर यानी करीब 2.7 लाख करोड़ रुपए के IPO को रोक दिया। फिर कुछ दिनों बाद ही चीन ने 'एंटी ट्रस्ट नियम' बना दिए। इनके तहत अलीबाबा के खिलाफ जांच शुरू कर दी गई। इससे अलीबाबा के मार्केट कैप में 10 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा की गिरावट आ गई थी।
  • जैक मा को सबक सिखाने के लिए चीन इस हद तक गया कि उसकी सेंट्रल बैंक ने एंट ग्रुप के अफसरों से अपने पूरे बिजनेस को नए नियमों के हिसाब से रजिस्टर करने को कह दिया ताकि क्रेडिट, इंश्योरेंस और मनी मैनेजमेंट से जुड़ी गड़बड़ियों को दूर किया जा सके। किसी गड़बड़ी की स्थिति में कंपनी के अधिकारियों की सीधी जिम्मेदारी भी तय की गई।
  • क्वार्टज के मुताबिक, दुनिया की सबसे वैल्यूएबल कंपनी में से एक को री-स्ट्रक्चर करने की यह कोशिश इसे कर्ज में डुबो देगी। फिर भी एंट ग्रुप के अधिकारी इससे इनकार नहीं कर सके।

इस खबर में पोल है। इसमें हिस्सा लेकर अपनी राय दे सकते हैं...

दुनियाभर में सुपरस्टार थे जैक मा, यही छवि दुश्मन बनी
जैक मा के ई-कॉमर्स और फिनटेक बिजनेस तय करते थे कि चीन के लोग किस तरह शॉपिंग करेंगे, कैसे खर्च करेंगे और कैसे बचत करेंगे। चीनी टेक्नोलॉजी के चेहरे और चीन के अघोषित दूत के तौर पर जैक मा दुनियाभर में मशहूर थे। जैक मा की अंग्रेजी पर पकड़ और सबसे मेलजोल रखने वाली शख्सियत ने उन्हें अलग पहचान दिलाई। यूट्यूब पर उनके वीडियो वायरल हुए।

अलीबाबा के फाउंडर जैक मा की चीन के झेजियांग प्रांत के हांग्जो में 10 सितंबर, 2019 की तस्वीर। हांग्जो ओलंपिक सेंटर स्टेडियम में अलीबाबा की 20वीं वर्षगांठ समारोह के दौरान उन्होंने मंच पर प्रस्तुति दी थी।
अलीबाबा के फाउंडर जैक मा की चीन के झेजियांग प्रांत के हांग्जो में 10 सितंबर, 2019 की तस्वीर। हांग्जो ओलंपिक सेंटर स्टेडियम में अलीबाबा की 20वीं वर्षगांठ समारोह के दौरान उन्होंने मंच पर प्रस्तुति दी थी।

जैक दावोस जैसे अंतरराष्ट्रीय सम्मेलनों में लगातार जाते थे और नेताओं की तरह भाषण देते थे। कभी कंपनी के इवेंट में माइकल जैक्सन जैसे कपड़े पहनकर डांस करते थे, तो कभी शॉर्ट फिल्म में अपने कुंग-फू कौशल का प्रदर्शन करने लगते थे। क्वार्ट्ज के मुताबिक, जैक मा बहुत पॉपुलर हो गए थे। चीन के सुप्रीम लीडर शी जिनपिंग से ज्यादा चर्चा भी उनके लिए खतरा बनी।