पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Business
  • Amazon Future Deal Dispute; Amazon Appeals To Supreme Court In Future Deal Dispute Say Sources

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

फ्यूचर-रिलायंस डील विवाद:फ्यूचर ग्रुप के खिलाफ अमेजन ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया, अमेजन किसी भी हाल में डील रोकने की कोशिश में

नई दिल्ली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अमेजन ने फ्यूचर ग्रुप की लगभग 24 हजार करोड़ की रिटेल संपत्ति की बिक्री के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में चुनौती पेश की है। सूत्रों ने बताया कि सौदे को रद्द करने के लिए अमेरिकी फर्म ने नए तरीका अपनाया है। अमेजन का आरोप है कि फ्यूचर ग्रुप ने पिछले साल रिलायंस इंडस्ट्रीज को अपनी रिटेल संपत्ति बेचने की सहमति देकर एग्रीमेंट का उल्लंघन किया।

हाई कोर्ट ने इस सप्ताह अमेजन को पिछली कोर्ट के एक फैसले को रद्द करके एक झटका दिया, जिसने इस सौदे को प्रभावी रूप से रोक दिया था। अब अमेजन ने सुप्रीम कोर्ट में इसके खिलाफ अपील दायर की है।

आर्बिट्रेशन कोर्ट द्वारा अक्टूबर में लिया फैसला लागू करने योग्य- अमेजन नई दिल्ली की कोर्ट में अमेजन ने तर्क दिया था कि एक आर्बिट्रेशन कोर्ट द्वारा अक्टूबर में आए निर्णय, जिसने फ्यूचर-रिलायंस सौदे को रोक दिया था, लागू करने योग्य है। इसके पहले दिल्ली की एक कोर्ट के जज ने हाल ही में अमेजन के पक्ष में फैसला सुनाया, जिसने इस सौदे को रोक दिया था। उस निर्णय को सोमवार को दो-जज पीठ ने पलट दिया था। सूत्रों ने कहा कि अमेजन सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देगा कि आर्बिट्रेशन कोर्ट का आदेश लागू करने योग्य है।

फ्यूचर ग्रुप ने एग्रीमेंट का उल्लंघन किया है- अमेजन
यह विवाद फ्यूचर के उस निर्णय से जुड़ा है, जिसमें कंपनी ने अगस्त में अपना रिटेल, थोक और कुछ अन्य व्यवसायों को कर्ज सहित $3.38 बिलियन (लगभग 24 हजार करोड़) में रिलायंस को बेच दिया था। अमेजन का तर्क है कि 2019 में फ्यूचर यूनिट के साथ हुए एक अलग सौदे में यह क्लॉज़ था कि फ्यूचर ग्रुप रिलायंस सहित "प्रतिबंधित व्यक्तियों" की सूची में किसी को भी अपना रिटेल संपत्ति नहीं बेच सकता है। भारत के दूसरे सबसे बड़े रिटेलर फ्यूचर ग्रुप के पास 1700 से ज्यादा स्टोर हैं। फ्यूचर ग्रुप ने कहा कि अगर रिलायंस के साथ उसकी डील फेल होती है तो वह पैसा जुटाने के लिए कोई और रास्ता तलाश सकती है।

फ्यूचर-अमेजन के बीच सौदा कूपन और गिफ्टिंग से जुड़े कारोबार का था
फ्यूचर कूपंस प्राइवेट लिमिटेड और अमेजन के बीच जो सौदा हुआ था वह कूपन और गिफ्टिंग कारोबार का विकास करने, फ्यूचर के ब्रांड्स को ई-कॉमर्स के जरिेए बेचने और रिटेल में FDI की अनुमति मिलने पर उन्हें भी हिस्सेदार बनाने के बारे में था।

क्यों बढ़ा विवाद
अगस्त 2019 में अमेजन ने फ्यूचर कूपंस में 49% हिस्सेदारी खरीदी थी। इसके लिए अमेजन ने 1,500 करोड़ रुपए का भुगतान किया था। इस डील में शर्त थी कि अमेजन को तीन से 10 साल की अवधि के बाद फ्यूचर रिटेल लिमिटेड की हिस्सेदारी खरीदने का अधिकार होगा। साथ ही फ्यूचर रिटेल की हिस्सेदारी रिलायंस इंडस्ट्रीज को नहीं बेचने की शर्त भी थी। इस दौरान किशोर बियानी ने फ्यूचर ग्रुप के खुदरा स्टोर, होलसेल और लॉजिस्टिक्स कारोबार को रिलायंस को बेचने का सौदा कर लिया। इसी के खिलाफ अमेजन ने आर्बिट्रेशन कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था।

अगस्त में हुआ था सौदा
रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) ने अगस्त में किशोर बियानी के फ्यूचर ग्रुप को खरीदने की घोषणा की थी। यह सौदा 24,713 करोड़ रुपए में हुआ था। इस सौदे के तहत फ्यूचर ग्रुप का रिटेल, होलसेल, लॉजिस्टिक्स एंड वेयरहाउसिंग कारोबार रिलायंस को मिलेगा। रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड और रिलायंस रिटेल एंड फैशन लाइफस्टाइल लिमिटेड ने फ्यूचर ग्रुप के इन कारोबारों को खरीदा है। रिलायंस ने देश में रिटेल कारोबार के विस्तार के लिए यह सौदा किया था।

कंपटीशन कमीशन ऑफ इंडिया ने भी दी मंजूरी
रिलायंस और फ्यूचर ग्रुप के बीच हुए सौदे को कंपटीशन कमीशन ऑफ इंडिया (CCI) भी मंजूरी दे चुका है। इस सौदे के तहत फ्यूचर ग्रुप के देशभर में फैले 1800 स्टोर से ज्यादा स्टोर रिलायंस रिटेल को मिलेंगे। इसमें फ्यूचर ग्रुप के बिग बाजार, FBB, ईजीडे, सेंट्रल फूडहॉल फॉर्मेट्स के स्टोर शामिल हैं। फ्यूचर ग्रुप के यह स्टोर देश के 420 शहरों में स्थित हैं। इस अधिग्रहण के तहत फ्यूचर ग्रुप कुछ खास कंपनियों का फ्यूचर एंटरप्राइजेज लिमिटेड में विलय करेगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति पूर्णतः अनुकूल है। बातचीत के माध्यम से आप अपने काम निकलवाने में सक्षम रहेंगे। अपनी किसी कमजोरी पर भी उसे हासिल करने में सक्षम रहेंगे। मित्रों का साथ और सहयोग आपकी हिम्मत और...

और पढ़ें