पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Business
  • DOW JONES Live Updates| American Market Dow Jones, NASDAQ COMPOSITE , S&P Todays News And Live Updates Know Live Updates Of European Market And Asian Market

गुरुवार को 339 अंकों की गिरावट के साथ खुला डाउ जोंस; जर्मनी, फ्रांस और एशिया के बाजारों में भी गिरावट

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

न्यूयॉर्क. बुधवार को गिरावट के साथ बंद हुए अमेरिकी बाजार गुरुवार को भी गिरावट के साथ खुले। डाउ जोंस 339 अंक नीचे 19559.50 पॉइंट पर खुला। इसी तरह अमेरिका के दूसरे बाजार नैस्डैक कंपोजिट 42 अंक और एसएंडपी 42 पॉइंट नीचे खुले। नैस्डैक 6946.94 अंकों पर और एसएंडपी 2355.70 पर कारोबार कर रहा है। बुधवार को डाउ जोंस 1,338 अंक नीचे 19,898 पर बंद हुआ था। नैस्डैक में 344 और एसएंडपी में 131 अंकों की गिरावट रही थी। नैस्डैक 6,989 अंकों पर और एसएंडपी 2,398 अंकों पर बंद हुआ था।

581 अंक गिरकर 3 साल के निचले स्तर 28,288 पर बंद हुआ सेंसेक्स
शेयर बाजार में गुरुवार को तेज रिकवरी देखी गई। सेंसेक्स में 2155 अंक की गिरावट के बाद 501 अंक की बढ़त दर्ज की गई। इसी तरह निफ्टी 636 पॉइंट गिरने के बाद करीब 107 अंक ऊपर आ गया। हालांकि, बाजार बढ़त के साथ बंद नहीं हो सका। सेंसेक्स ने 581.28 अंक नीचे 28,288.23 पर और निफ्टी ने 205.35 पॉइंट नीचे 8,263.45 पर कारोबार खत्म किया। कारोबार की शुरुआत में बाजार में तेज गिरावट देखी गई थी। सेंसेक्स 1809 अंक नीचे खुला था। उधर, रुपया भी डॉलर के मुकाबले 75 के नीचे फिसल गया।

बीएसई पर 71% कंपनियों के शेयर गिरे  

  • बीएसई का मार्केट कैप 109 लाख करोड़ रुपए रहा
  • 2,561 कंपनियों पर ट्रेड हुआ। जिसमें 572 कंपनियों के शेयर बढ़त में और 1,829 कंपनियों के शेयर में गिरावट रही
  • 14 कंपनियों के शेयर 1 साल के उच्च स्तर और 1,206 कंपनियों के शेयर एक साल के निम्न स्तर पर रहे
  • 77 कंपनियों के शेयर में अपर सर्किट और 463 कंपनियों के शेयर में लोअर सर्किट लगा

भारतीय बाजार में गिराने की 3 बड़ी वजह  
1. कोरोनावायरस का अस
र : कोरोनावायरस के मामले बढ़ने की वजह से दुनियाभर में आर्थिक गतिविधियों में कमी आई है। इससे मंदी गहराने की आशंका बढ़ रही है। ऐसे में विश्लेषक ग्लोबल जीडीपी ग्रोथ में 1% गिरावट का आकलन कर रहे हैं।
2. दुनियाभर के बाजारों में गिरावट : अमेरिकी शेयर बाजार डाउ जोंस बुधवार को 6.3% गिरावट के साथ बंद हुआ। एशियाई बाजारों में भी 6% तक नुकसान देखा जा रहा है। कोरोनावायरस के बढ़ते असर को देखते हुए यूरोपियन सेंट्रल ने 820 अरब डॉलर का राहत पैकेज घोषित किया। इससे बावजूद बाजारों में गिरावट नहीं थमी।
3. विदेशी निवेशक पैसा निकाल रहे : विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) भारतीय बाजार में लगातार शेयर बेच रहे हैं। बुधवार को उन्होंने 5,085.35 करोड़ रुपए के शेयर बेचे। मार्च में महीने में अब तक 43,000 करोड़ के शेयर बेच चुके हैं।

डॉलर के मुकाबले रुपया 75 के नीचे फिसला, 86 पैसे कमजोर हुआ
कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण का असर करंसी बाजार पर भी दिख रहा है। गुरुवार को रुपया 75 के नीचे फिसल गया। पिछले दिनों भारतीय रिजर्व बैंक ने रुपए को संभालने के लिए बड़े पैमाने पर डॉलर की बिक्री की थी। इसके बावजूद रुपए में गिरावट जारी है। कोरोनावायरस से देश की अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले संभावित असर को लेकर करंसी मार्केट में चिंताएं हैं।


दोपहर के कारोबार में रुपए में 86 पैसे की गिरावट दर्ज की गई। यह डॉलर के मुकाबले 75.12 पर ट्रेड कर रहा था। रुपए ने कारोबार की शुरुआत 70 पैसे की गिरावट के साथ 74.96 पर की थी। बुधवार को रुपया 74.26 पर बंद हुआ था। इससे पहले शुक्रवार को रुपए ने 74.50 का रिकॉर्ड निचला स्तर छुआ था। कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए विश्व बैंक, आईएमएफ और ओईसीडी जैसी एजेंसियों ने आर्थिक संकट की चेतावनी दी है। मोर्गन स्टेनले और गोल्डमैन साक्स जैसे प्रतिष्ठित निवेश बैंक के अर्थशास्त्रियों ने भी कहा है कि जून तिमाही में पूरी दुनिया मंदी में फंस सकती है।

कोरोना से निपटने के लिए कई देशों ने किया राहत पैकेज का ऐलान
कोरोनावायरस के कारण हो रहे नुकसान से निपटने के लिए दुनियाभर की सरकारें और संगठन राहत पैकेज की घोषणा कर रहे हैं। अमेरिका ने इसके लिए 1 ट्रिलियन डॉलर, फ्रांस ने 45 बिलियन डॉलर, ब्रिटेन ने 36.8 बिलियन डॉलर, इटली ने 28 बिलियन डॉलर तो यूएई ने 27.2 बिलियन डॉलर का पैकेज घोषित किया है। ऐसे ही राहत पैकेज अंतरराष्ट्रीय संगठनों जैसे यूएन, एडीबी, वर्ल्ड बैंक आदि ने भी घोषित किया है। 

खबरें और भी हैं...