पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Business
  • Amul Will Increase The Price By Rs 2 Per Liter, The New Price Will Be Applicable From July 1

खाने के तेल के बाद दूध भी महंगा:अमूल दूध के दाम में 2 रुपए प्रति लीटर का इजाफा, देशभर में कल से ही लागू होंगी बढ़ी हुई कीमतें

मुंबई3 महीने पहले

पेट्रोल-डीजल और खाने के तेल के बाद अब दूध के दाम भी बढ़ गए हैं। गुजरात को-ऑपरेटिव मिल्क मार्केटिंग फेडरेशन (GCMMF) के ब्रांड अमूल ने दूध की कीमतों में 2 रुपए प्रति लीटर का इजाफा कर दिया है। दूध की नई कीमत कल यानी 1 जुलाई से लागू होगी। कंपनी के सभी मिल्क प्रोडक्ट्स अमूल गोल्ड, अमूल शक्ति, अमूल ताज़ा, अमूल टी-स्पेशल, अमूल स्लिम एन्ड ट्रिम में 2 रुपये प्रति लीटर के हिसाब से बढ़ोतरी होगी। बढ़ी हुई कीमतें पूरे देश में लागू होंगी।

इसके बाद मुंबई में अमूल के एक लीटर दूध की कीमत 58 रुपए हो जाएगी। राजधानी दिल्ली की बात करें तो यहां मदर डेयरी का फुल क्रीम दूध का एक लीटर का पैकेट 56 रुपए और पॉस्चुराइड दूध 48 रुपए में बिक रहा है। जबकि अमूल का टोंड मिल्क 46 रुपए प्रति लीटर और गाय का दूध 47 रुपए प्रति लीटर के भाव पर बिक रहा है। कंपनी बटर, चीज और आइसक्रीम भी बेचती है। इनकी कीमतों पर फिलहाल कोई अंतर नहीं आया है।

अमूल ने डेढ़ साल बाद बढ़ाए दूध के दाम
अमूल के मुताबिक, दिसंबर 2019 के बाद पहली बार दूध की कीमतें बढ़ाई जा रही हैं। कीमतों को बढ़ाने के पीछे किसानों के फायदे की बात कही गई है। पैकेजिंग की लागत और कमोडिटी की कीमतों में भी बढ़ोत्तरी होने से दूध की कीमतों को बढ़ाना जरूरी था। वहीं, पेट्रोल-डीजल महंगे होने के चलते कंपनी का लॉजिस्टिक खर्च भी बढ़ गया है।​​​​​​

पूरे देश में लागू होगी बढ़ी हुई कीमत
दूध की कीमतों में 2 रुपए प्रति लीटर के इजाफे का मतलब कि इसकी कीमत में 4% का इजाफा हुआ है। हालांकि, खाने-पीने के बाकी सामानों की महंगाई की तुलना में यह इजाफा कम है। कंपनी ने कहा कि इनपुट लागत बढ़ने से हमारे सदस्यों ने किसानों द्वारा दिए जाने वाले दूध की कीमत बढ़ा दी है। अब इसकी रेंज 45 से 50 रुपए लीटर हो गई है।

एक रुपए में 80 पैसे दूध उत्पादकों को मिलते हैं
GCMMF ने कहा कि अमूल की पॉलिसी के तहत ग्राहकों द्वारा दिए जाने वाले हर रुपए में करीब 80 पैसा दूध उत्पादकों को दिया जाता है। कीमतों में बढ़ोत्तरी से दूध उत्पादकों को आर्थिक मदद मिलेगी। विश्व की टॉप 20 डेयरी कंपनियों की सूची में अमूल 8 वें स्थान पर है। यह भारत की एकमात्र कंपनी है, जो वैश्विक स्तर पर डेयरी कंपनियों में जगह बना पाई है। इसके 7.64 लाख इसके सदस्य हैं जो इसे दूध देते हैं। 50 लाख लीटर की इसकी दूध हैंडलिंग की क्षमता है जबकि रोजाना 33 लाख लीटर दूध कलेक्शन करता है।

अमूल इस समय कई तरह के प्रोडक्ट का निर्माण करता है। सबसे बड़ा दूध उत्पादक देश होने के बाद भी अब तक भारत की कोई भी डेयरी कंपनी इस लिस्ट में शामिल नहीं हुई थी। अमूल गुजरात को ऑपरेटिव मिल्क मार्केटिंग फेडरेशन (GCMMF) का डेयरी ब्रांड है। GCMMF का सालाना टर्नओवर 550 करोड़ डॉलर के बराबर है।

पश्चिम भारत से की थी शुरुआत, अब पूरे भारत में सप्लाई
अमूल ने अपनी शुरुआत पश्चिम भारत यानी गुजरात से की थी और उसके बाद महाराष्ट्र समेत उत्तर भारत और फिर पूर्वी भारत में अपना विस्तार किया। कंपनी ने पिछले साल ही दक्षिण भारत में कदम रखा था और हैदराबाद को अपना हब बनाया है। इस समय 30-40 लाख लीटर दूध की सप्लाई दक्षिण भारत में करने का लक्ष्य रखा है। कंपनी 200-300 करोड़ रुपए के निवेश का लक्ष्य रखी है। इसकी सालाना बिक्री 52 हजार करोड़ रुपए की है।

खबरें और भी हैं...