कार्रवाई / अरविंदो फार्मा के खिलाफ अमेरिकी कोर्ट में याचिका, पेटेंट नियमों के उल्लंघन का आरोप



प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो
X
प्रतीकात्मक फोटोप्रतीकात्मक फोटो

  • फार्मा कंपनी एस्ट्राजेनेका ने 15 मई को न्यू जर्सी की कोर्ट में याचिका दाखिल की थी
  • कंपनी की कोर्ट से अपील- अरविंदों को उसकी दवा का जेनरिक वर्जन बनाने से रोका जाए
     

Dainik Bhaskar

May 19, 2019, 03:06 PM IST

हैदराबाद. फार्मा कंपनी एस्ट्राजेनेका ने अरविंदो फार्मा के खिलाफ अमेरिकी कोर्ट में याचिका दाखिल की है। एस्ट्राजेनेका ने 15 मई को न्यू जर्सी की कोर्ट में दाखिल की गई अपनी याचिका में अपील की है कि अरविंदो को उसकी दवा डलिरेस्प का जेनरिक वर्जन बनाने से रोका जाए। एस्ट्राजेनेका का आरोप है कि इस दवा का पेटेंट उसके पास है और अरविंदो इसका उल्लंघन कर रही है। 

अमेरिकी कोर्ट से परमानेंट इंजेक्शन की मांग

  1. एस्ट्राजेनेका का आरोप है कि अरविंदो ने पेटेंट एक्ट की तीन धाराओं 206, 064 और 142 का उल्लंघन किया है। फार्मा कंपनी ने कोर्ट से अपील की है कि परमानेंट इंजेक्शन के जरिए अरविंदो को अमेरिका में इस दवा का उत्पादन और वितरण करने से रोका जाए।

  2. डलिरेस्प व्यस्क मरीजों को दी जाती है। इसका ज्यादातर इस्तेमाल सेवर क्रॉनिक ओब्सट्रक्टिव डिसीज (सीओपीडी) से ग्रस्त मरीजों के उपचार के लिए किया जाता है। अरविंदो इसका जेनरिक वर्जन तैयार करना चाहती है। डलिरेस्प को फूड एंड ड्रग्स एडमिनिस्ट्रेशन ने पहली बार 28 फरवरी 2011 को मान्यता दी थी।

  3. एस्ट्राजेनेका का कहना है कि अरविंदो ने उसे 5 अप्रैल 2019 को एक पत्र लिखा था। इसमें कहा गया था कि भारतीय कंपनी डलिरेस्प का जेनरिक वर्जन बनाना चाहती है। इसके लिए अरविंदो ने अमेरिकी अथॉरिटी से अनुमति भी मांगी थी। हालांकि, कंपनी के एक अधिकारी का कहना है कि इस तरह के मामलों में कोर्ट में अपील होना कोई नई बात नहीं है।

COMMENT