पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Business
  • Bids For Air India To Be Received By September 15, FII May Get To Invest In LIC Before IPO

15 सितंबर की डेडलाइन:एयर इंडिया के लिए बोली की अंतिम तारीख बढ़ने की संभावना नहीं, IPO से पहले LIC में FII को मिल सकती है निवेश की इजाजत

नई दिल्ली18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सरकार एयर इंडिया के लिए बोली मंगाने की अंतिम तारीख 15 सितंबर से आगे बढ़ाएगी, इसकी संभावना कोई नजर नहीं आ रही है। कंपनी के लिए रिजर्व प्राइस कितनी होगी, यह बोली मिलने के बाद तय किया जाएगा। यह जानकारी सूत्रों से मिली है।

बोली देने वालों के हिसाब से सरकार को शेयर परचेज एग्रीमेंट में कई बार बदलाव करना पड़ा और बीच में कोविड का भी संकट बना रहा। इसके चलते फाइनेंशियल बिड का प्रोसेस महीनों झूलता रहा, लेकिन अब सरकार की उम्मीदें बढ़ी हैं।

नवंबर-दिसंबर तक आएगी वैल्यूएशन रिपोर्ट, फिर तय होगा LIC के IPO का साइज

इन सबके बीच सरकार LIC की लिस्टिंग पर भी काम कर रही है। कंपनी की फुल वैल्यूएशन रिपोर्ट नवंबर-दिसंबर तक आ सकती है। IPO का साइज उसके बाद तय होगा। फिलहाल सरकार कंपनी में FII को 20% निवेश की इजाजत देने के प्रस्ताव पर विचार कर रही है। LIC एक्ट के मुताबिक, कंपनी में कोई विदेशी निवेश नहीं हो सकता, क्योंकि बीमा क्षेत्र में 74% तक विदेशी निवेश की इजाजत LIC पर लागू नहीं होती।

FII/FPI को LIC में प्री-IPO इनवेस्टमेंट की इजाजत मिल सकती है

सरकार विदेशी निवेशकों (FII/FPI) को देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी में प्री-IPO इश्यू के जरिए पैसा लगाने की इजाजत दे सकती है। LIC में विदेशी निवेश के प्रस्ताव की जांच DPIIT (डिपार्टमेंट फॉर प्रमोशन ऑफ इंडस्ट्री एंड इंटरनल ट्रेड), DFS (डिपार्टमेंट ऑफ फाइनेंशियल सर्विसेज) और DIPAM (डिपार्टमेंट ऑफ इनवेस्टमेंट एंड पब्लिक एसेट मैनेजमेंट) से सलाह-मशविरे से होगी।

एयर इंडिया के लिए 15 सितंबर तक बिड मिलने की उम्मीद
केंद्रीय नागर विमानन राज्य मंत्री वीके सिंह ने जुलाई में संसद को एक प्रश्न के लिखित उत्तर में कंपनी के लिए 15 सितंबर तक फाइनेंशियल बिड मिलने की उम्मीद जताई थी। उन्होंने कहा था कि पिछले साल 14 दिसंबर तक अभिरुचि पत्र (EoI) देने की अंतिम तारीख तय की गई थी। EY को कई कंपनियों की EoI मिले थे। वीके सिंह ने कहा था कि निजीकरण के बाद एयरलाइन की चल संपत्तियां नए मालिक के हवाले कर दी जाएंगी। कंपनी का कर्ज घटाने के लिए उसकी अचल संपत्तियों को मोनेटाइज किया जा रहा है।

देनदारियां 2024-25 तक 20 अरब डॉलर से ज्यादा हो सकती हैं
एविएशन कंसल्टेंसी फर्म कापा इंडिया ने अपने इंडिया एविएशन आउटलुक FY22 में कहा था कि कंपनी की देनदारियां 2024-25 तक 20 अरब डॉलर से ज्यादा हो सकती हैं। इसमें कोविड के चलते FY21 और FY22 के दौरान हुआ उसका घाटा भी शामिल होगा। एयर इंडिया 2007 में इंडियन एयरलाइंस में विलय के बाद से कभी नेट प्रॉफिट में नहीं रही है। कंपनी को मार्च 2021 में खत्म तिमाही में ₹9,500- ₹10,000 करोड़ का घाटा होने का अनुमान लगाया गया है।

इसी वित्त वर्ष एयर इंडिया में पूरी हिस्सेदारी बेचना चाहती है सरकार

सरकार यह वित्त वर्ष खत्म होने से पहले एयर इंडिया में अपनी पूरी हिस्सेदारी बेच देना चाहती है। हालिया जानकारी के मुताबिक टाटा ग्रुप होड़ में सबसे आगे थी और स्पाइसजेट के सीएमडी अजय सिंह निजी तौर पर बोले देने के लिए शॉर्टलिस्ट किए गए थे।

खबरें और भी हैं...