• Hindi News
  • Business
  • Big Bull Rakesh Jhunjhunwala Sold Shares Of Nine Companies In Q3, Five Of Them Continued Their Upward Journey

क्या मिस हो गए बिग बुल के दाव:झुनझुनवाला ने Q3 में नौ कंपनियों के शेयर बेचे, चार शेयरों ने उनके दाव को सही साबित किया

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

बिग बुल राकेश झुनझुनवाला ने दिसंबर तिमाही में नौ कंपनियों में अपनी हिस्सेदारी घटाई थी। तब से इनमें से चार कंपनियों के शयरों में कमजोरी आई है जबकि पाँच शेयरों के दाम चढ़े हैं। क्या बिग बुल से बाजार की नब्ज पकड़ने में सचमुच चूक हो गई है, यह समय बताएगा। फिलहाल देखते हैं कि उन्होंने किन शेयरों को बेचा था और उनकी स्थिति क्या है।

फोर्टिस को छोड़ ज्यादातर कंपनियों के शेयर मार्च 2020 के लेवल से डबल हो गए हैं

दिसंबर तिमाही में झुनझुनवाला ने अपनी फेवरेट टाइटन कंपनी के अलावा क्रिसिल, एप्टेक, फेडरल बैंक, रैलिस इंडिया, फोर्टिस हेल्थकेयर, ऑटोलाइन इंडस्ट्रीज, एस्कॉर्ट्स और फर्स्टसोर्स सॉल्यूशंस में अपनी हिस्सेदारी घटाई थी। इनमें से फोर्टिस को छोड़ दें तो ज्यादातर कंपनियों के शेयर मार्च 2020 के लेवल से डबल हो गए हैं।

एप्टेक में बिग बुल ने 0.17% हिस्सेदारी बेची थी, दाम में इस साल सबसे ज्यादा उछाल

जिस एडुकेशन टेक्नोलॉजी कंपनी एप्टेक में बिग बुल ने दिसंबर क्वॉर्टर में 0.17% हिस्सेदारी बेची थी, उसके दाम में इस साल अब तक सबसे ज्यादा उछाल आई है। एप्टेक के शेयरों की कीमत इस साल अब तक 40% की उछाल के साथ 218 रुपये पर आ गई है। दिसंबर की बिकवाली के बाद कंपनी में उनकी 23.84% हिस्सेदारी रह गई है।

फेडरल बैंक का शेयर इस साल 1 जनवरी से अब तक 31% मजबूत हो चुका है

झुनझुनवाला ने प्राइवेट सेक्टर के फेडरल बैंक में भी अपनी हिस्सेदारी घटाई है। इसका शेयर इस साल 1 जनवरी से अब तक 31% मजबूत हो चुका है। पिछले साल दिसंबर के अंत में इस बैंक में उनकी शेयरहोल्डिंग 2.4% थी जो सितंबर क्वॉर्टर से 0.31% कम है।

बिग बुल के हिस्सेदारी घटाने के बाद फोर्टिस हेल्थकेयर के शेयरों की कीमत 14.30% बढ़ी

दिसंबर क्वॉर्टर में झुनझुनवाला ने फोर्टिस हेल्थकेयर में अपनी हिस्सेदारी आधा पर्सेंट घटाकर 2.18% कर ली थी। पिछले एक साल में इसका शेयर सिर्फ 45% चढ़ा है लेकिन बिग बुल के हिस्सेदारी घटाने के बाद शेयर की कीमतों में 14.30% की मजबूती आई है।

बिगबुल ने फर्स्टसोर्स सॉल्यूशंस और एस्कॉर्ट्स में भी अपनी शेयरहोल्डिंग घटाई है

झुनझुनवाला ने फर्स्टसोर्स सॉल्यूशंस और एस्कॉर्ट्स में भी अपनी शेयरहोल्डिंग घटाई है। बिकवाली के बाद से एस्कॉर्ट्स का शेयर 4.6% चढ़ा है जबकि फर्स्टसोर्स सॉल्यूशंस के शेयरों में 4% की मजबूती आई है। दिसंबर क्वॉर्टर में झुनझुनवाला ने सबसे ज्यादा स्टेक सेल इन दोनों शेयरों में किया था।

दिसंबर क्वॉर्टर में टाइटन कंपनी में बिग बुल ने अपनी 0.20% हिस्सेदारी बेची थी

ऐसा नहीं है कि बिग बुल को सभी दाव खेलने में चूक (आंकड़ों के मुताबिक फौरी तौर पर) हुई है। भारत के वॉरेन बफेट माने जाने वाले बिग बुल ने दिसंबर क्वॉर्टर में टाइटन कंपनी में अपनी 0.20% हिस्सेदारी बेची थी। यह उनके पोर्टफोलियो में शामिल सबसे बड़े और सबसे पुराने शेयरों में एक है। इस साल की शुरुआत से अब तक टाइटन का शेयर 6% कमजोर हुआ है।

झुनझुनवाला ने क्रिसिल में भी हिस्सेदारी घटाई, शेयर इस साल 1.9% कमजोर हुआ

ऑटोलाइन का शेयर इस साल की शुरुआत से 4% नीचे चल रहा है। अपने पोर्टफोलियो से इस कंपनी के 0.55% शेयर निकालने के बाद झुनझुनवाला की हिस्सेदारी 5.65% रह गई है। रैलिस इंडिया में 3.16% स्टेक की बिकवाली से पहले उसमें बिग बुल का लगभग 10% हिस्सा था। उन्होंने क्रिसिल में भी अपनी हिस्सेदारी घटाई है जिसके शेयरों का दाम इस साल 1.9% कमजोर हुआ है।

खबरें और भी हैं...