बिटकॉइन का ETF शुरू:बिटकॉइन की कीमत 66 हजार डॉलर के पार पहुंची, पहली बार इस लेवल पर पहुंची कीमत

मुंबईएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

क्रिप्टो की लोकप्रिय करेंसी बिटकॉइन की कीमत 66 हजार डॉलर के पार पहुंच गई है। पहली बार इस लेवल पर बिटकॉइन की कीमत पहुंची है। देर रात यह 6% बढ़त के साथ कारोबार कर रही थी। इसकी अंतिम कीमत 66,974 डॉलर पर थी।

अप्रैल में 64 हजार डॉलर थी कीमत

बिटकॉइन की अभी तक की सबसे ज्यादा कीमत अप्रैल 2021 में थी। उस समय बिटकॉइन 64,889 डॉलर पर कारोबार कर रही थी। उसके बाद इस करेंसी में भारी गिरावट आई थी। इस कारण बिटकॉइन की कीमत 30 हजार डॉलर तक पहुंच गई थी। जानकारों का मानना है कि बहुत जल्द बिटकॉइन की कीमत एक लाख डॉलर के आंकड़े को पार कर सकती है।

मार्केट कैप 2.5 लाख करोड़ डॉलर

बिटकॉइन की कीमतों में तेजी से इसका मार्केट कैप 2.5 लाख करोड़ डॉलर के पार पहुंच गया है। अधिकांश निवेशकों को क्रिप्टो में निवेश के लिए कहा जा रहा है। ज्यादातर विश्लेषक निवेशकों को क्रिप्टो को अपने पोर्टफोलियो में शामिल करने की सलाह दे रहे हैं और इसे भी एक असेट क्लास के रूप में बता रहे हैं। भारत में क्रिप्टो का बाजार 2030 तक 241 मिलियन डॉलर होने की उम्मीद है। दुनिया भर में 2.3 अरब डॉलर का बाजार 2026 तक हो सकता है।

भारत में 1.5 करोड़ क्रिप्टो के निवेशक

नैस्कॉम की रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में क्रिप्टो के सेगमेंट में निवेशकों की संख्या 1.5 करोड़ है। बिटकॉइन की तेजी का प्रमुख कारण यह है कि अमेरिका ने बिटकॉइन एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ETF) लॉन्च कर दिया है। बुधवार को कारोबार के पहले ही तीन घंटे में बिटकॉइन का कुल वोल्यूम 19.6 मिलियन रहा। इससे निवेशकों का उत्साह जबरदस्त तेजी में है। इससे पहले अलसल्वाडोर नामक देश ने बिटकॉइन को कानूनी मान्यता दे दी थी।

नई इंडस्ट्री के रूप में बिटकॉइन

हालांकि अमेरिकी बाजार का बिटकॉइन का ETF सीधे बिटकॉइन में निवेश नहीं करता है। ETF शुरू होने से बिटकॉइन को एक नई इंडस्ट्री के रूप में देखा जा रहा है। जुलाई में बिटकॉइन की कीमत 32 हजार से भी नीचे पहुंच गई थी। यानी अप्रैल के भाव से इसमें 50% की गिरावट आई थी। जबकि जुलाई की तुलना में अब बिटकॉइन की कीमत 100% बढ़ गई है।

बिटकॉइन सबसे लोकप्रिय करेंसी

क्रिप्टो की तमाम करेंसीज में बिटकॉइन सबसे लोकप्रिय है। चीन में क्रिप्टो का बड़ा बिजनेस था। हालांकि पिछले महीने ही चीन ने क्रिप्टो पर बैन लगा दिया था। उसने सिचुआन में क्रिप्टो करेंसी के माइनिंग प्रोजेक्ट को बंद कर दिया था। क्रिप्टो के जानकारों का मानना है कि नवंबर में बिटकॉइन की कीमत 98 हजार डॉलर और साल के अंत में 1.35 लाख डॉलर तक जा सकती है। बिटकॉइन साल 2008 में शुरु हुई थी।