ETF लॉन्च होने की उम्मीद से तेजी:बिटकॉइन की कीमत पहुंची 60 हजार डॉलर के पार, अप्रैल के बाद पहली बार इस लेवल पर

मुंबई3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बिटकॉइन की कीमत 60 हजार डॉलर के पार पहुंच गई है। अप्रैल 2021 के बाद पहली बार इस लेवल पर यह करेंसी पहुंची है। एक महीना में इसकी कीमत में 40% की बढ़त आई है।

ETF को मिल सकती है हरी झंडी

दरअसल ऐसी उम्मीद है कि अमेरिकी रेगुलेटर्स क्रिप्टोकरेंसी के लिए पहले फ्यूचर्स एक्सचेंज-ट्रेडेड फंड (ETF) को हरी झंडी दे सकता है। Vस वजह से बिटकॉइन की कीमतों में तेजी आई है। आंकड़ों के अनुसार, यह डिजिटल करेंसी एक महीने में 40% बढ़कर 60,126 डॉलर पर पहुंच गई है। अमेरिकी सिक्योरिटी एंड एक्सचेंज कमीशन (SEC) ETF को अगले सप्ताह तक कारोबार करने की मंजूरी दे सकता है।

पहले रिजेक्ट हो गया था ETF

SEC ने 2013 के बाद से इस तरह के ETF बनाने के प्रयासों को रिजेक्ट कर दिया था। OANDA में वरिष्ठ बाजार विश्लेषक एडवर्ड मोया ने कहा कि बिटकॉइन ETF अप्रूवल क्रिप्टो इंडस्ट्री के लिए एक बहुत बड़ा मौका है। ETF एक फाइनेंशियल प्रोडक्ट है जिसमें विभिन्न असेट्स शामिल हो सकती हैं। अन्य स्टॉक की तरह एक्सचेंज पर इसका कारोबार किया जा सकता है।

बाद की तारीख में तय मूल्य पर खरीदा या बेचा जा सकेगा प्रोडक्ट

एक वायदा (फ्यूचर) ETF का मतलब है कि प्रोडक्ट को बाद की तारीख में निर्धारित मूल्य पर खरीदा या बेचा जाएगा। SEC ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट डालकर अमेरिकी रेगुलेटर्स द्वारा अप्रूवल दिए जाने की अटकलों को हवा दे दी। इसमें कहा गया कि बिटकॉइन वायदा कॉन्ट्रैक्ट रखने वाले फंड में निवेश करने से पहले संभावित जोखिमों और लाभों का ध्यान से आंकलन कर लें।

18 अक्टूबर को फाइलिंग होने की उम्मीद

ETF की फाइलिंग 18 अक्टूबर को होने की उम्मीद है। ETF की तुरंत ट्रेडिंग शुरू नहीं हो सकती है। लोगों को विश्वास है कि बिटकॉइन ETF के माध्यम से वास्तविक क्रिप्टो की तुलना में बिटकॉइन में रुचि रखने वाले व्यक्तियों के लिए क्रिप्टो करेंसी ज्यादा आसानी से सुलभ होगी, क्योंकि अब एक और विकल्प निवेशकों को मिल जाएगा। प्रोडक्ट बिटकॉइन की कीमत के बजाय बिटकॉइन वायदा को ट्रैक करेगा।

क्रिप्टोकरेंसी में हाल के रुझान को बिटकॉइन ETF के SEC की मंजूरी के साथ बैलेंस बनाना होगा। क्रिप्टो दुनिया के लिए पहले बिटकॉइन फ्यूचर एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स (ETF) को सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमिशन (SEC) ने आगे बढ़ने की परमिशन दे दी है। यह मुद्दा सामने तब आया जब इस पर चर्चा के लिए रेगुलेटर के 5 कमिश्नर ने बैठक की।