• Hindi News
  • Business
  • Burger King IPO Listing Price | Burger King India Shares Jump 85 Percent In Market Debut

इस साल भरपूर कमाई:बर्गर किंग IPO लिस्टिंग पर बना किंग, 8 दिन में निवेशकों को दिया 92% फायदा

मुंबईएक वर्ष पहले
  • बर्गर किंग इस साल का चौथा IPO है जो सबसे ज्यादा फायदा दिया है
  • SBI कार्ड सबसे बड़ा IPO रहा है। इसने 10 हजार करोड़ से ज्यादा जुटाया है

इस साल लगातार इनीशियल पब्लिक ऑफर (IPO) निवेशकों को फायदा देने में सफल रहे हैं। बर्गर किंग भी किंग बनकर उभरा है। सोमवार को इसका शेयर 92% प्रीमियम पर लिस्ट हुआ। यानी जिन निवेशकों ने IPO में पैसा लगाया था, उनको लिस्टिंग के दिन 92% का फायदा हुआ है। यह इस साल का चौथा IPO है जो सबसे ज्यादा फायदा दिया है।

2 से 4 दिसंबर तक खुला था

बता दें कि बर्गर किंग का IPO 2 से 4 दिसंबर तक खुला था। इसका मूल्य 58-60 रुपए था। यह सोमवार को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) 115 रुपए पर लिस्ट हुआ। यानी जिन्होंने IPO में 1,000 रुपए लगाए वह 1,920 रुपए हो गया। 2020 में IPO मार्केट का क्रेज जबरदस्त है। निवेशकों ने IPO से तो पैसा कमाया ही, साथ ही सेकेंडरी मार्केट से भी उन्होंने अच्छे पैसे कमाए हैं। सेकेंडरी मार्केट में मार्च से अब तक करीबन 78% का फायदा मिला है। हालांकि जनवरी की तुलना में भी इसमें 10% से ज्यादा का रिटर्न मिला है।

ये तीन आईपीओ ने दिया 100 पर्सेंट से ज्यादा फायदा

बर्गर किंग से पहले 3 IPO ऐसे हैं, जिनकी लिस्टिंग 100% से ज्यादा प्रीमियम पर हुई है। साल 2020 में 70% IPO ऐसे रहे हैं, जिनकी लिस्टिंग प्रीमियम पर हुई है। इस साल अब तक 12 IPO आ चुके हैं। इसमें 8 ने निवेशकों को अच्छा फायदा दिया है। इनमें से 10 कंपनियों का IPO सितंबर या उसके बाद आया है। इस साल की बात करें तो लॉकडाउन की वजह से लंबे समय तक कंपनियां बाजार में एंट्री करने से बचती रहीं। लेकिन एक बार जब अर्थव्यवस्था पटरी पर लौटने लगी तो लगातार कंपनियां IPO ला रही हैं।

25 हजार करोड़ रुपए जुटाया कंपनियों ने

एक्सचेंज के आंकड़ों से पता चलता है कि इस साल कंपनियों ने अब तक 25 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा की रकम जुटाई है। उम्मीद है कि यह आंकड़ा 30 हजार करोड़ रुपए तक जा सकता है। इस साल जिन 12 कंपनियों का IPO आया है, उनमें SBI कार्ड का सबसे बड़ा IPO रहा है। इसने 10 हजार करोड़ से ज्यादा की रकम जुटाई है। उसके बाद कैम्स और यूटीआई म्यूचुअल फंड ने 2000-2000 करोड़ रुपए से ज्यादा की रकम जुटाई है।

फार्मा का सबसे बड़ा आईपीओ

ग्लैंड फार्मा ने देश में अब तक का सबसे बड़ा फार्मा IPO लाया है। इसने 6,400 करोड़ रुपए जुटाया है। इसके अलावा रोसारी बॉयोटेक, रूट मोबाइल, हैप्पिएस्ट माइंड्स, केमकॉन स्पेशिएलिटी, एंजेल ब्रोकिंग, मझगांव डॉक, इक्विटॉस बैंक और बर्गर किंग शामिल हैं। इनके प्रदर्शन की बात करें तो केमकॉन स्पेशियालिटी के IPO का मूल्य 340 रुपए था। यह 731 रुपए पर लिस्ट हुआ था। निवेशकों को इसमें 115% का फायदा हुआ है।

111 पर्सेंट का दिया फायदा

हैप्पिएस्ट माइंड्स का आईपीओ 166 रुपए पर आया था। लिस्टिंग 351 रुपए पर हुई थी। यानी 111% का फायदा निवेशकों को हुआ था। रूट मोबाइल का आईपीओ 102% प्रीमियम पर लिस्ट हुआ था। यह 350 रुपए में IPO आया था। इसकी लिस्टिंग 708 रुपए पर हुई थी। आज लिस्ट हुए बर्गर किंग ने 92% का निवेशकों को फायदा दिया।

बर्गर किंग का 60 रुपए मूल्य

बर्गर किंग के आईपीओ का मूल्य 60 रुपए था। यह 115 रुपए पर लिस्ट हुआ था। यानी निवेशकों को 92% का फायदा हुआ है। रोसारी बायोटेक के IPO ने निवेशकों को 58% का फायदा दिया है। 425 रुपए पर आया यह IPO एक्सचेंज पर 670 रुपए पर लिस्ट हुआ था। इसके अलावा जो IPO लिस्ट हुए हैं उन्होंने भी अच्छा फायदा दिया है। हालांकि यह फायदा 50% से कम रहा है।

मझगांव डाक ने दिया 49 पर्सेंट का फायदा

मझगांव डाक के IPO ने 49% का फायदा निवेशकों को दिया है। इसकी लिस्टिंग 216 रुपए पर हुई थी और IPO का मूल्य 145 रुपए पर था। म्यूचुअल फंड के लिए काम करने वाले कैम्स के IPO ने 25% का फायदा दिया। ग्लैंड फार्मा के आईपीओ ने 14% का फायदा दिया था। इसके IPO का मूल्य 1,500 रुपए था। कुछ आईपीओ ने हालांकि इस समय निवेशकों को घाटा भी दिया था।

इन आईपीओ ने दिया घाटा

फाइनेंशियल सेवा देने वाले इक्विटास होल्डिंग ने निवेशकों को 6% का घाटा दिया था। यह 33 रुपए की तुलना में 31 रुपए पर लिस्ट हुआ था। एंजल ब्रोकिंग ने 10% का घाटा दिया है। इसका भाव 306 रुपए पर था जो 275 पर लिस्ट हुआ था। यूटीआई असेट मैनेजमेंट कंपनी के आईपीओ को भरने में भी काफी मशक्कत करनी पड़ी थी। इसने निवेशकों को 12 पर्सेंट का घाटा दिया था। जबकि एसबीआई कार्ड के आईपीओ ने 13 पर्सेंट का घाटा निवेशकों को दिया है।

कमाई का फिर मौका

वैसे आईपीओ में कमाई के लिए आपको मंगलवार से फिर एक बार मौका मिल रहा है। बर्गर किंग को मटेरियल सप्लाई करने वाली मिसेस बैक्टर का आईपीओ कल से खुल रहा है। यह ग्रे मार्केट में 70 पर्सेंट प्रीमियम पर कारोबार कर रहा है। यानी आईपीओ खुलने से पहले ही निवेशकों में इसकी जबरदस्त मांग है। ऐसे में इसका आईपीओ तो अच्छा भरेगा ही साथ ही लिस्टिंग पर मुनाफा भी अच्छा दे सकता है। कंपनी 540 करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्य रखी है। इसमें कई शेयर धारक अपनी हिस्सेदारी बेचेंगे।

कर्मचारियों के लिए रिजर्व

कर्मचारियों के लिए 15 रुपए का डिस्काउंट है। 50 लाख शेयर उनके लिए आरक्षित है। निवेशक कम से कम 50 शेयरों के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसका मूल्य 286 से 288 रुपए तय किया गया है। दरअसल इस कंपनी का मूल्य कम रहने वाला था। लेकिन इसी बीच जिस तरह से बर्गर किंग के आईपीओ को रिस्पांस मिला, मिसेस बैक्टर का मूल्य बढ़ा दिया गया। बर्गर किंग का आईपीओ 156 गुना भरा था। ऐसे में इसको मटेरियल की सप्लाई करनेवाली कंपनी बैक्टर का भी आईपीओ हिट रहने वाला है।

ये आईपीओ भी लाइन में

इसके अलावा इस साल कल्याण ज्वेलर्स, सरकारी कंपनी रेल टेल, सूर्योदय स्माल फाइनेंस बैंक, नजारा टेक्नोलॉजी और एंटोनी वेस्ट हैंडलिंग का आईपीओ आ रहा है। कल्याण ज्वेलर्स 1750 करोड़ रुपए जुटाएगी। रेल टेल 700 करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्य रखी है। सूर्योदय स्माल फाइनेंस बैंक 1000 करोड़ रुपए, नजारा 1000 करोड़ और एंटोनी 100-500 करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्य रखी है।