पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Business
  • Burger King Q1 Results 2021 Latest News Update; Burger King Loss Of Rs 44.35 Crore In June Quarter

घाटा में आई कमी:बर्गर किंग को जून तिमाही में 44.35 करोड़ रुपए का घाटा, एक साल पहले 80 करोड़ का घाटा था

मुंबईएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मार्च तिमाही से तुलना करें तो जून तिमाही में बिक्री में 76% की रिकवरी रही है।

बर्गर किंग इंडिया को जून 2021 की तिमाही में 44.35 करोड़ रुपए का घाटा हुआ है। एक साल पहले इसी तिमाही में इसे 80.45 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था। यानी इसके घाटे में 55% की गिरावट आई है।

150 करोड़ रुपए रही बिक्री

कंपनी ने शुक्रवार को अपना फाइनेंशियल रिजल्ट जारी किया। इसकी कुल बिक्री इस दौरान 150 करोड़ रुपए रही। मार्च की तुलना में इसकी बिक्री में 25% की कमी आई है। जबकि मार्च की तुलना में घाटा बढ़ा है। मार्च में 26 करोड़ रुपए का घाटा था। कंपनी ने कहा कि मार्च से तुलना करें तो जून तिमाही में बिक्री में 76% की रिकवरी रही है।

कोरोना से बिजनेस पर असर पड़ा

कंपनी ने कहा है कि जून तिमाही में कोरोना से उसके बिजनेस पर असर पड़ा है। कुछ क्षेत्रों में लॉकडाउन से उसे आउटलेट बंद करने पड़े। खासकर अप्रैल 2021 में उसे ज्यादा नुकसान उठाना पड़ा। हालांकि कंपनी का डिलिवरी बिजनेस ठीक रहा है। कंपनी ने कहा कि जुलाई में औसत रोजाना की बिक्री 92% पर थी। इसके रेस्टोरेंट का बिजनेस ऑपरेटिंग प्रॉफिट 16.1 करोड़ रुपए जून तिमाही में था। मार्जिन 10.7% थी।

ग्रॉस मार्जिन 65.2% पर है

एक साल पहले जून तिमाही में कंपनी को 29.1 करोड़ रुपए का ऑपरेटिंग घाटा हुआ था। ग्रॉस मार्जिन अभी भी 65.2% है। मार्च तिमाही में यह 65.6% रहा। लॉकडाउन के बावजूद बर्गर किंग इंडिया ने जून तिमाही में 5 नए स्टोर खोले हैं। इसके साथ ही इसके कुल 270 स्टोर हो गए हैं। कंपनी ने कहा कि 2021-22 में वह 320 रेस्टोरेंट का लक्ष्य रखी है। कंपनी का शेयर शुक्रवार को 170 रुपए पर बंद हुआ।

आईपीओ में 60 रुपए पर शेयर बेचा था

कंपनी ने आईपीओ के समय 60 रुपए पर शेयर बेचा था। लिस्टिंग 115 रुपए पर हुई थी। तीन दिनों में ही यह शेयर 220 रुपए तक चला गया था। बाद में इसके शेयरों में भारी गिरावट आई और यह 130 रुपए तक चला गया था। पर पिछले दो महीनों से यह शेयर फिर से बढ़ रहा है और अब 170 रुपए पर पहुंच गया है।

बेस्ट एग्रो का रेवेन्यू 344 करोड़ रुपए रहा

उधर, एग्रो सेक्टर की कंपनी बेस्ट एग्रो ने भी अपना रिजल्ट जारी किया है। कंपनी ने कहा है कि उसका जून तिमाही में 344 करोड़ रुपए का रेवेन्यू रहा है। जबकि उसे 25.78 करोड़ रुपए का फायदा हुआ है। यह देश की शीर्ष 15 कृषि केमिकल कंपनियों में शामिल है।

सालाना आधार पर 256% की बढ़त

कंपनी के एमडी विमल अलावधी ने कहा कि फायदा में सालाना आधार पर 256% की बढ़त रही है। आने वाली तिमाहियों में बाजार के लीडिंग उत्पादों के माध्यम से आने वाले ग्रोथ और इनोवेशन के बारे में उत्साहित हैं। हम एक बेहद मजबूत पाइपलाइन तैयार कर रहे हैं। कंपनी को हाल में कीटनाशक के लिए एक पेटेंट मिला है। इसकी वैधता 20 सालों के लिए है। अगले वित्त वर्ष में कंपनी ने 400 करोड़ रुपए के रेवेन्यू का लक्ष्य रखा है।

खबरें और भी हैं...