• Hindi News
  • Business
  • CMI Ltd. Announces Foray Into Semi conductor Sector, Shares Rise 50% In A Month

निवेशकों की अच्छी कमाई:बद्दी प्लांट को लीज पर देने के लिए CMI करेगी गठबंधन, शेयर का भाव एक महीने में 50% बढ़ा

मुंबई5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आज कंपनी का शेयर 4% बढ़कर 52 रुपए पर पहुंच गया है। इस आधार पर एक महीने में इसका भाव 50% से ज्यादा बढ़ा है - Dainik Bhaskar
आज कंपनी का शेयर 4% बढ़कर 52 रुपए पर पहुंच गया है। इस आधार पर एक महीने में इसका भाव 50% से ज्यादा बढ़ा है

CMI लिमिटेड ने सेमीकंडक्टर के सेक्टर में उतरने की घोषणा की है। उसकी इस घोषणा से शेयर में शुक्रवार को 20% का अपर सर्किट लगा। यह 48.30 रुपए पर बंद हुआ। B ग्रुप में यह सबसे ज्यादा बढ़ने वाला स्टॉक था।

आज कंपनी का शेयर 4% बढ़ा

हालांकि आज कंपनी का शेयर 4% बढ़कर 52 रुपए पर पहुंच गया है। इस आधार पर एक महीने में इसका भाव 50% से ज्यादा बढ़ा है। एक महीने पहले यह शेयर 35 रुपए पर था जो अब 52 रुपए के पार है। कंपनी ने शेयर बाजार को दी गई सूचना में कहा कि उसके बोर्ड की मीटिंग हुई और उसमें यह फैसला लिया गया है कि कंपनी सेमीकंडक्टर सेक्टर में उतरेगी।

20.32 लाख शेयर्स में कारोबार

BSE और NSE में शुक्रवार को इसके 20.32 लाख शेयरों का कारोबार हुआ। कंपनी हिमाचल के बद्दी में अपने प्लांट में सेमीकंडक्टर का निर्माण करेगी। वो किसी मैन्यूफैक्चरर्स के साथ गठबंधन कर इस सेक्टर में काम करेगी। कंपनी ने बद्दी प्लांट को अमेरिकी कंपनी जनरल केबल्स से 2016 में खरीदा था। इसका ऑपरेशन सितंबर 2016 से शुरू हुआ।

76 हजार करोड़ की सरकार की स्कीम

बता दें कि सेमी कंडक्टर को बूस्ट देने के लिए सरकार ने 76,000 करोड़ रुपए की स्कीम को मंजूरी दी थी। इसके बाद से सेमीकंडक्टर बनाने वाली कई कंपनियां देश में मोटी पूंजी निवेश करने की इच्छुक हैं। दुनिया की प्रमुख कंपनियों ने इसमें काफी रुचि दिखाई है। भारत 20 से ज्यादा सेमीकंडक्टर डिजाइन, कंपोनेंट्स मैन्युफैक्चरिंग और डिस्प्ले फैब्रिकेशन यूनिट्स अगसे 6 सालों में सेट अप करेगा।

चिप की कमी से ऑटो इंडस्ट्री को दिक्कत

इस समय चिप की कमी से ऑटो और इलेक्ट्रॉनिक्स इंडस्ट्री को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इसके कारण इस सेक्टर में आगे चलकर अच्छी खासी निवेश की संभावना दिख रही है जिसका फायदा इस सेक्टर की कंपनियों को होगा। CMI का बद्दी प्लांट 80 हजार वर्ग मीटर में फैला है। यह एकमात्र प्लांट भारत में है जो सिल्वर सर्टिफाइड ग्रीन प्रोजेक्ट के तहत केबल का मैन्युफैक्चरिंग करेगा।

विदेशी कंपनियां देश में निवेश करें

सरकार चाहती है कि इंटेल, TSMC, सैमसंग, ग्लोबल फाउंडरीज और सेमीकंडक्टर टेक्नोलॉजी सेक्टर की दूसरी मैन्युफैक्चरर्स, डिजाइन और टेस्टिंग से जुड़ी कंपनियां देश में निवेश करें। सेमीकंडक्टर प्रोत्साहनों को लेकर गाइडलाइंस जनवरी, 2022 की शुरुआत में जारी की जाएगी। कंपनियों को जवाब देने के लिए लगभग 45 से 90 दिन का समय दिया जाएगा।