पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Business
  • Dairy Product Business May Remain Subdued This Summer; Demand For Ice Cream, Buttermilk, Flavored Milk Will Remain Weak

नहीं मिलेगा सीजन का सपोर्ट:कोविड से गर्मियों में ठंडा रह सकता है डेयरी कारोबार; आइसक्रीम, छाछ, फ्लेवर्ड मिल्क की मांग रहेगी कमजोर

5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गर्मियों का सीजन आइसक्रीम, छाछ और दूध से खाने-पीने के सामान बनाने वाली कंपनियों के लिए जबर्दस्त कमाई वाला रहता है, यह सब जानते हैं। वैसे भी इस बार गर्मी ने मार्च में ही अपने तेवर दिखा दिए हैं, लेकिन यह इस बार डेयरी प्रॉडक्ट की सेल बढ़ाने के काम नहीं आएगा। कोविड के संक्रमण के मामलों में आए उछाल के चलते लोगों का रिटेल स्टोर जाना कम होने से डेयरी कंपनियों की आमदनी कमजोर रह सकती है।

इन गर्मियों में औसत से कम रह सकती है डेयरी प्रॉडक्ट की मांग

गर्मियों में डेयरी प्रॉडक्ट की मांग कैसी रह सकती है, इसको लेकर दिग्गज ब्रोकरेज फर्म ICICI सिक्योरिटीज ने स्टडी की है। स्टडी के मुताबिक, कोविड की नई लहर पर रोकथाम के लिए राज्यों में नई पाबंदियां और लॉकडाउन लगाए जाने से लोगों का ध्यान रोजमर्रा के इस्तेमाल के जरूरी सामान की खरीदारी पर रह सकता है। ऐसे में इन डेयरी प्रॉडक्ट की मांग इन गर्मियों में थोड़े समय के लिए सही, औसत से कम रह सकती है।

पार्टी-फंक्शन और इवेंट कम होने से आइसक्रीम की खपत घटेगी

ब्रोकरेज फर्म के एनालिस्टों का कहना है कि कोविड के बढ़े खतरे के बीच पार्टी-फंक्शन और इवेंट कम होने से आइसक्रीम की खपत कम रह सकती है। लोगों का रिटेल स्टोर जाना कम होने से लस्सी, छाछ और फ्लेवर्ड मिल्क जैसे डेयरी प्रॉडक्ट की खपत घट सकती है। उन्होंने इन बातों का जिक्र शुक्रवार को जारी डेयरी सेक्टर वाली रिपोर्ट में किया है।

वे प्रोटीन पावडर, प्रीमियम चीज जैसे प्रॉडक्ट की खपत भी घटने की आशंका

एनालिस्टों ने इन गर्मियों में वे प्रोटीन पावडर, दही, प्रीमियम चीज जैसे नए डेयरी प्रॉडक्ट सेगमेंट की खपत भी घटने की आशंका जताई है। जरूरत बन चुके ज्यादातर डेयरी प्रॉडक्ट की डिमांड 31 मार्च 2021 को खत्म वित्त वर्ष में ठीकठाक रही थी। पिछले वित्त वर्ष में डेयरी प्रॉडक्ट की मांग पार्टी-फंक्शन के लिए कम रही लेकिन घरेलू इस्तेमाल ज्यादा रहा था।

ऑर्गनाइज्ड कंपनियों के मार्केट शेयर में बढ़ोतरी जारी रह सकती है

देश में दूध के अलावा बटर, घी और पनीर जैसे डेयरी प्रॉडक्ट की काफी मांग रहती है। यह मांग घरेलू डेयरी कोऑपरेटिव सोसाइटी और बड़ी मल्टीनेशल कंपनियों से पूरी होती है। ICICI सिक्योरिटीज के एनालिस्टों के मुताबिक ऑर्गनाइज्ड डेयरी कंपनियों का मार्केट शेयर पिछले साल अच्छा-खासा बढ़ा था। वह ट्रेंड इस साल भी जारी रह सकता है।

टेट्रा पैक वाले दूध और डेयरी वाइटनर की खपत बढ़ सकती है

ब्रोकरेज फर्म के एनालिस्टों के मुताबिक, डेयरी कंपनियां इस साल बड़ी सोसाइटियों में प्रॉडक्ट सीधे बेचने के लिए अपने संसाधनों यानी लॉजिस्टिक्स का इस्तेमाल करती हैं, तो उनको मार्केट शेयर बढ़ाने में मदद मिलेगी। उन्होंने बताया कि कोविड के डर से लोगों के घरों में ज्यादा समय बिताने पर टेट्रा पैक वाले दूध और डेयरी वाइटनर की भी खपत बढ़ेगी।