मुंबई से महंगा दिल्ली:कनॉट प्लेस में 8175 रुपए प्रति वर्ग फुट है ऑफिस का किराया, BKC में 7650 रुपए

मुंबईएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दिल्ली का कनॉट प्लेस ऑफिस के किराए के मामले में काफी महंगा है। यहां ऑफिस का किराया 8,175 रुपए प्रति वर्ग फुट है। सैनफ्रांसिस्को हो या मुंबई का सबसे महंगा फाइनेंशियल इलाका बांद्रा कुर्ला कांप्लेक्स (BKC), सब इससे पीछे हैं।

दिल्ली, मुंबई टॉप पर

इंटरनेशनल प्रॉपर्टी कंसल्टेंट JLL के आंकड़ों के मुताबिक, कनॉट प्लेस में ऑफिस का किराया प्रति वर्ग फुट 109 डॉलर (8175 रुपए) है। मुंबई के BKC के भाव 102 डॉलर, यानी 7650 रुपए की तुलना में यह 525 रुपए ज्यादा है। चेन्नई में किराया 21 डॉलर (1,575 रुपए) प्रति वर्ग फुट है। यह वैश्विक स्तर पर चौथा सबसे सस्ता शहर है। किराए का यह भाव सालाना आधार पर है।

कनॉट प्लेस 17 वें रैंक पर

JLL के प्रीमियम ऑफिस रेंट ट्रैकर के मुताबिक, कनॉट प्लेस पिछले साल ग्लोबली 25 वें रैंक पर था। अब यह और महंगा होकर 17 वें रैंक पर आ गया है। यहां ऑफिस का भाव सैनफ्रांसिस्को से भी ज्यादा है। दरअसल लिमिटेड उपलब्धता और कंस्ट्रक्शन में धीमेपन की वजह से प्राइमरी बाजार की लागत बढ़ रही है। दिल्ली और मुंबई लगातार देश में प्रीमियम ऑफिस ऑक्यूपेंसी के मामले में महंगे इलाके बने हुए हैं।

बंगलुरू और गुड़गांव में कम किराया

बंगलुरू और गुड़गांव में ग्लोबल बाजारों की तुलना में कम भाव है। यहां पर ज्यादातर आंतरप्रेन्योरिशिप का जलवा है। इस वजह से प्रीमियम क्वॉलिटी ऑफिस स्पेस के मामले में यह दोनों शहर आकर्षक बने हुए हैं। JLL के इस सातवें संस्करण में कुल 112 शहरों के 127 ऑफिेस शामिल किए गए थे। शहरों की ऑफिस का जो भाव निकाला गया है, वह सालाना किराए, सर्विस चार्ज जैसे मेंटिनेंस और सरकार के टैक्स आदि को जोड़कर निकाला गया है।

मुंबई 23 वें रैंक पर

मुंबई का BKC इलाका दूसरा सबसे महंगा इलाका है। यह पिछले साल 24 वें नंबर से इस साल 23 वें नंबर पर आ गया है। बंगलुरू में ऑफिस का किराया स्थिर रहा है। यहां प्रति वर्ग फुट किराया 51 डॉलर, यानी 3,825 रुपए है; जबकि बंगलुरू 74 वें नंबर से 77 वें नंबर पर आ गया है। गुड़गांव और दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) में किराया 3,600 रुपए प्रति वर्ग फुट सालाना से घटकर 3,300 रुपए पर आ गया है।

तकरीबन सभी बाजारों में किराए में कमी

JLL ने कहा कि दिल्ली के कनॉट प्लेस और बंगलुरू को छोड़ दें तो तकरीबन सभी बड़े बाजारों के ऑफिस के किराए में कमी आई है। ऐसा इसलिए क्योंकि कोरोना की वजह से नए किराएदार नहीं मिले और इस वजह से ऑफिस के मालिक वर्तमान किराएदारों को बनाए रखने के लिए किराए में कमी कर दी। 2020 की तुलना में ग्लोबल प्राइम ऑफिस रेंटल्स दुनिया के सभी शहरों में करीबन 0.8% कम हुआ है।

19,575 रुपए है न्यूयॉर्क का किराया

दुनिया में सबसे महंगा ऑफिस वाले शहर हॉन्गकॉन्ग और न्यूयॉर्क हैं। यहां पर ऑफिस का प्रति फुट किराया 19,575 रुपए प्रति वर्ग फुट है। यह बैंकिंग और फाइनेंस वाले इलाके हैं। इसी तरह का इलाका दिल्ली का कनॉट प्लेस और मुंबई का BKC है। प्रीमियम ऑफिस में ज्यादातर हिस्सा बैंकिंग और फाइनेंस का ही है। पूरी दुनिया में 42% ऑफिसेस पर इनका कब्जा है। टेक का कब्जा 17% ऑफिसेस पर है।