पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Business
  • 5G Technology, Spectrum, MTNL, Reliance Jio, Bharti Airtel, Vodafone Idea, Department Of Telecom, DoT

टेलीकॉम कंपनियों को निर्देश देगा DoT:गांवों में भी 5G की टेस्टिंग की जाए, MTNL भी ट्रायल जल्द शुरू करेगी

नई दिल्ली18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अगली पीढ़ी की कम्युनिकेशन सेवा यानी 5G की दिशा देश एक कदम आगे बढ़ चुका है। डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकॉम (DoT) ने देश की तीन प्रमुख कंपनियों को 5G स्पेक्ट्रम आवंटित कर दिया है। अब DoT टेलीकॉम कंपनियां को शहरों के साथ गांवों में भी 5G की टेस्टिंग करने का निर्देश देगा। DoT ने शहरी केंद्रों के साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी 5G टेस्टिंग की मंजूरी दी है। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी है।

इन कंपनियों को ट्रायल के लिए मिला 5G स्पेक्ट्रम

DoT ने रिलायंस जियो, भारती एयरटेल और वोडाफोन-आइडिया को 5G ट्रायल के लिए स्पेक्ट्रम का आवंटन किया है। यह स्पेक्ट्रम 6 महीने के लिए दिया गया है। सूत्रों के मुताबिक, सरकारी टेलीकॉम कंपनी महानगर टेलीकॉम निगम लिमिटेड (MTNL) को 5000 हजार करोड़ रुपए की फीस जमा करने के बाद ट्रायल के लिए 5G स्पेक्ट्रम आवंटित कर दिया जाएगा। सूत्र का कहना है कि टेलीकॉम कंपनियों से शहरी केंद्रों के साथ गांवों में भी 5G टेस्टिंग के लिए कहा जाएगा।

MTNL दिल्ली में करेगी ट्रायल

DoT के अधिकारी के मुताबिक, MTNL देश की राजधानी दिल्ली में 5G ट्रायल करेगी। इसके लिए कंपनी ने C-DoT के साथ साझेदारी की है। MTNL दिल्ली के नजफगढ़ क्षेत्र में ट्रायल करेगी। अधिकारी का कहना है कि फीस जमा होते ही MTNL को स्पेक्ट्रम का आवंटन कर दिया जाएगा। टेलीकॉम कंपनियों को 700 मेगाहर्टज, 3.5 गीगाहर्टज और 26 गीगाहर्टज बैंड के स्पेक्ट्रम का आवंटन किया है।

इनके साथ साझेदारी कर सकती हैं भारतीय कंपनियां

DoT ने 5G के ट्रायल में शामिल होने वाली विदेशी कंपनियों की लिस्ट भी जारी कर दी है। भारतीय कंपनियां ट्रायल के लिए एरिक्शन, नोकिया, सैमसंग और C-DoT के साथ साझेदारी कर सकती हैं। DoT ने किसी भी चाइनीज कंपनी को ट्रायल में शामिल होने की मंजूरी नहीं दी है। इंडस्ट्री से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, रिलायंस जियो अपनी तकनीक और सैमसंग के उपकरणों से ट्रायल करेगा।

देश के कई शहरों में होगा ट्रायल

टेलीकॉम कंपनियों देश के कई शहरों में 5G का ट्रायल करेंगी। इसमें दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, बेंगलुरु, गुजरात और हैदराबाद शामिल हैं। भारती एयरटेल दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और बेंगलुरु में ट्रायल करेगी। रिलायंस जियो ने दिल्ली, मुंबई, गुजरात और हैदराबाद में ट्रायल के लिए आवेदन किया था। ट्रायल के दौरान कंपनियां भारतीय ऐप्लीकेशंस की टेस्टिंग कर सकेंगी। इसमें टेली-मेडिशिन, टेली-एजुकेशन और ड्रोन-बेस्ड एग्रीकल्चर मॉनिटरिंग शामिल हैं। इसके अलावा टेलीकॉम कंपनियां अपने नेटवर्क पर विभिन्न 5G उपकरणों की टेस्टिंग कर सकती है।

4G के मुकाबले 10 गुना बेहतर डाउनलोड स्पीड मिलेगी

DoT ने कुल 6 महीने के लिए स्पेक्ट्रम का आवंटन किया है। इसमें 2 महीने उपकरणों की खरीदारी और इंस्टॉलेशन के लिए भी शामिल हैं। DoT के मुताबिक, 4G तकनीक के मुकाबले 5G तकनीक में 10 गुना बेहतर डाउनलोड स्पीड मिलने की उम्मीद है।

ट्रायल के लिए 13 आवेदनों को मिली है मंजूरी

इस महीने की शुरुआत में एक रिपोर्ट में कहा गया था कि DoT ने 5G ट्रायल के लिए 13 आवेदनों को मंजूरी दी है। ट्रायल के लिए DoT को कुल 16 आवेदन मिले थे। ट्रायल के आवेदन मंजूरी में DoT ने कई प्रकार की शर्तें रखी हैं। इसमें एयरवेव का इस्तेमाल केवल ट्रायल के लिए करना शामिल है। DoT ने कहा है कि इन वेव्स का कॉमर्शियल इस्तेमाल बिलकुल न किया जाए। यदि कंपनियां इन शर्तों का उल्लंघन करती है तो उन्हें गंभीर परिणाम भुगतने होंगे।