• Hindi News
  • Business
  • Electronic Contract Manufacturing In India To Grow Over 6 fold To USD 152 Bn By 2025

Elcina का अनुमान:भारत में 2025 तक 11 लाख करोड़ रु. तक पहुंच सकती है इलेक्ट्रॉनिक्स कॉन्ट्रैक्ट मैन्युफैक्चरिंग, 6 गुना ग्रोथ की संभावना

नई दिल्ली10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
Elcina ने अनुमान जताया है कि देश में करीब 700 EMS प्लेयर हैं। इसमें 100 ग्लोबल और 600 घरेलू कंपनियां शामिल हैं। - Dainik Bhaskar
Elcina ने अनुमान जताया है कि देश में करीब 700 EMS प्लेयर हैं। इसमें 100 ग्लोबल और 600 घरेलू कंपनियां शामिल हैं।
  • 2025 तक 1055 बिलियन डॉलर तक पहुंच सकता है ग्लोबल इलेक्ट्रॉनिक मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर
  • इंडस्ट्री बॉडी Elcina ने कहा- इस सेक्टर को PLI जैसी स्कीम की मदद की जरूरत

इलेक्ट्रॉनिक्स इंडस्ट्रीज एसोसिएशन ऑफ इंडिया (Elcina) ने अनुमान जताया है कि भारत में इलेक्ट्रॉनिक कॉन्ट्रैक्ट मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में 2025 तक 6 गुना की ग्रोथ रह सकती है। इस अवधि में यह सेक्टर 152 बिलियन डॉलर करीब 11 लाख करोड़ रुपए का हो सकता है। 2019 में ग्लोबल स्तर पर इलेक्ट्रॉनिक मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर (EMS) का कारोबार 832 बिलियन डॉलर रहा है। 2025 तक इसके बढ़कर 1,055 बिलियन डॉलर तक पहुंचने का अनुमान है।

इंडियन EMS इंडस्ट्री सरपट दौड़ेगी

Elcina ने अनुमान जताया है कि भारत की EMS इंडस्ट्री सरपट दौड़ते हुए 2019 के 23.5 बिलियन डॉलर से बढ़कर 2025 तक 152 बिलियन डॉलर पर पहुंच जाएगी। Elcina के मुताबिक, ग्लोबल मार्केट की 3% ग्रोथ के मुकाबले अगले पांच साल में भारत की EMS इंडस्ट्री की ग्रोथ करीब 14% रहेगी। Elcina की ओर से तैयार की गई 'EMS टास्क फोर्स रिपोर्ट' को रिलीज करते हुए इलेक्ट्रॉनिक्स एंड IT सचिव अजय प्रकाश साहनी ने देश में प्रिंटिड सर्किट बोर्ड (PCB) असेंबली मैन्युफैक्चर करने और आयात पर निर्भरता घटाने की आवश्यकता पर जोर दिया।

सर्वर, लैपटॉप और टैबलेट्स में असीम संभावनाएं

साहनी ने कहा कि देश में सर्वर्स, लैपटॉप और टैबलेट्स जैसे उत्पादों के निर्माण में असीम संभावनाएं हैं। इंडस्ट्री को हाई वैल्यू वाले और लार्ज वॉल्यूम उत्पादों का निर्माण करने के लिए प्रोत्साहित करने की आवश्यकता है। Elcina EMS टास्क फोर्स के चेयरमैन संजीव नारायण ने निर्यात बाजारों में पहुंच बनाने के लिए इस सेक्टर को सपोर्ट करने के महत्व पर जोर दिया। इस सेक्टर में अभी चीन और वियतनाम का कंट्रोल है।

685 बिलियन डॉलर के इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पादों का निर्यात करता है चीन

चीन पूरी दुनिया में करीब 685 बिलियन डॉलर के इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पादों का निर्यात करता है। भारत ने 2025 तक 100 बिलियन डॉलर के मोबाइल निर्यात का लक्ष्य तय किया है। Elcina का कहना है कि प्रोडक्शन-लिंक्ड इन्सेंटिव (PLI) स्कीम की मदद से यह लक्ष्य हासिल किया जा सकता है। इसका मतलब यह है कि ग्लोबल मोबाइल मार्केट में 25% की भागीदारी होगी। 2025 तक इस सेक्टर के 415 बिलियन डॉलर का होने का अनुमान है। Elcina का कहना है कि नॉन-मोबाइल EMS निर्यात को PLI जैसी स्कीम की मदद मिलने से भारत को ग्लोबल मार्केट में पैठ बनाने में सहायता मिलेगी।

देश में करीब 700 EMS प्लेयर

Elcina ने अनुमान जताया है कि देश में करीब 700 EMS प्लेयर हैं। इसमें 100 ग्लोबल और 600 घरेलू कंपनियां शामिल हैं। EMS कंपोनेंट और फिनिश्ड इक्विपमेंट के बीच की मुख्य कड़ी है। सभी प्रमुख OEM अनिश्चितता को दूर करने और सप्लाई चेन की बाधा से निपटने के लिए वैकल्पिक सोर्स डेवलप करने में जुटी हैं। Elcina के महासचिव राजू गोयल का कहना है कि कोविड-19 से शिक्षा मिली है कि हमें कभी भी सिंगल सोर्स पर निर्भर नहीं रहना चाहिए।