ट्विटर के स्टाफ से बात करेंगे एलन मस्क:डील के ऐलान के बाद पहली बार होगी वर्चुअल बैठक, इसमें वे कर्मचारियों के सवालों का जवाब देंगे

नई दिल्ली15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

टेस्ला और स्पेसएक्स के मालिक और दुनिया के सबसे अमीर आदमी एलन मस्क ने गुरुवार को ट्विटर के स्टाफ के साथ बैठक करने वाले हैं। अप्रैल में ट्विटर को खरीदने के एलान के बाद उनकी ट्विटर के कर्मचारियों और ऑफिसर के साथ यह पहली बैठक होगी। यह बैठक टाउन हॉल में होगी जहां वे स्टॉफ के सवालों का जवाब देंगे। सोर्स का कहना है कि इस बात का खुलासा कर्मचारियों को भेजे गए पराग अग्रवाल के मेल से हुआ है।

मस्क-ट्विटर डील और इस सोशल मीडिया साइट के फेक अकाउंट को लेकर लंबे समय से अनबन चल रही है। ट्विटर के स्टाफ में भी मस्क को लेकर कई तरह के संदेह हैं। कई कर्मचारियों ने डील का विरोध भी किया था। ऐसे में इस वर्चुअल मीटिंग से मस्क डील को लेकर कई बातों का खुलासा कर सकते हैं।

ट्विटर डील से जुड़े सोर्स के मुताबिक अप्रैल अंत में 44 अरब डॉलर में ट्विटर को खरीदने के ऐलान के बाद यह पहला मौका है जब टेस्ला के CEO यह बैठक करेंगे। मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि मस्क इस हफ्ते ट्विटर के स्टाफ से बात करेंगे। माना जा रहा है कि यह बैठक अमेरिकी समय के मुताबिक गुरुवार सुबह हो सकती है।

CEO पराग अग्रवाल ने ट्विटर में कई बदलाव किए
मस्क द्वारा खरीदने के प्रस्ताव के बाद इसके CEO पराग अग्रवाल ने भी ट्विटर में कई बदलाव किए हैं। उन्होंने खरीदी सौदे के ऐलान के बाद से कंपनी की लागत में कटौती के भी कई एलान किए हैं।

डील रद्द करने की भी दी धमकी
एलन मस्क ने कुछ पहले कहा था कि यदि उन्हें फर्जी या नकली ट्विटर अकाउंट्स डेटा नहीं दिया गया तो वे 44 अरब डॉलर की डील को रद्द कर सकते हैं।

मस्क ने कहा था कि प्लेटफॉर्म पर फर्जी या स्पैम अकाउंट्स की संख्या पांच फीसदी से कम है। इसके बाद उन्होंने एक और ट्वीट किया। इसमें उन्होंने कहा था कि वे अब भी सौदे के लिए प्रतिबद्ध हैं। हालांकि, यह साफ नहीं हो पाया है कि स्पैम एवं फर्जी खातों से जुड़ा ब्योरा इस सौदे को कायम रखने में कितना बड़ा जोखिम है।

ट्विटर शेयरहोल्डर दर्ज करा चुके हैं मस्क के खिलाफ केस
इससे पहले ट्विटर के शेयरहोल्डर्स ने एलन मस्क पर मुकदमा भी किया था। शेयरहोल्डर्स का आरोप है कि मस्क की वजह से शेयर की कीमत लगातार घट रही है। मस्क पर आरोप है कि उन्होंने जानबूझकर शेयर की कीमतें कम की हैं, ताकि 44 अरब डॉलर की डील से उन्हें राहत मिले और ट्विटर की नई कीमत लगाई जाए। एलन मस्क पर यह भी आरोप है कि उन्होंने इस सौदे को लेकर कई सारे संदेह पैदा करने वाले बयान दिए हैं।