• Hindi News
  • Business
  • EV Fires: DRDO Probe Finds Severe Defects In Batteries, Cell Quality And Lapses On Part Of Testing Agencies

ईवी में आग लगने की घटनाओं पर खुलासा:स्कूटर में इस्तेमाल हो रही बैटरियों में गंभीर खामियां, परिवहन मंत्रालय ने मांगा स्पष्टीकरण

एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

द डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट आर्गनाइजेशन (DRDO) की सेंटर फॉर फायर, एक्सप्लोसिव एंड एन्वायर्नमेंट सेफ्टी (CFEES) लैब ने ई-स्कूटरों में आग लगने की घटनाओं की जांच पूरी कर ली है। सोमवार को लैब ने रोड ट्रांसपोर्ट मंत्रालय को अपनी रिपोर्ट सौंप दी। सूत्रों का कहना है कि जांच में ईवी में इस्तेमाल हो रही बैटरियों में गंभीर खामियों का पता चला है।

मंत्रालय ने पिछले हफ्ते इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर्स मैन्युफैक्चरर ओला इलेक्ट्रिक, ओकिनावा ऑटोटेक, प्योर ईवी, जितेंद्र इलेक्ट्रिक व्हीकल्स और बूम मोटर्स के रिप्रजेंटेटिव्स को तलब किया है और उनसे दोपहिया में आग लगने के निष्कर्ष पर स्पष्टीकरण देने को कहा है।

कंपनियों का पक्ष को सुनने के बाद निर्णय
सूत्रों का कहना है कि मंत्रालय कंपनियों के पक्ष को पूरी तरह से सुनेगा और फिर निर्णय लेगा कि उनके दिए गए स्पष्टीकरण को स्वीकार किया जाए या नहीं। बता दें कि 28 मार्च को मंत्रालय ने CFEES को ईवी स्कूटरों में लगातार आग लगने की घटनाओं की जांच करने और इसे ठीक करने के उपायों के साथ रिपोर्ट मांगी थी।

आग लगने के आधा दर्जन से ज्यादा मामले सामने आए
पिछले कुछ महीनों में देशभर से इलेक्ट्रिक स्कूटरों में आग लगने के आधा दर्जन से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। अप्रैल में, इंडियन इस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, बेंगलुरु को भी जांच में सहयोग के लिए DRDO के CFEES के साथ जोड़ा गया था। इसके बाद ओला के CEO भाविश अग्रवाल ने भी चिंता जताई थी और कहा था कि सुरक्षा हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। हम इसकी जांच कर रहे हैं और इसे जल्द ठीक कर देंगे।

गडकरी ने कहा था- दोषी पाए गए तो जुर्माना भी
केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने ई-दोपहिया वाहनों में आग की घटना को गंभीरता से लेते हुए कंपनियों से जवाब मांगते हुए इसकी जांच के लिए विशेषज्ञ समिति गठित करने का आदेश दिया था। उन्होंने यह भी कहा था कि जांच में दोषी पाई गई कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई होगी और जुर्माना भी लगाया जा सकता है।
इससे पहले ओला इलेक्ट्रिक ने भी कहा था कि वह ईवी में आग लगने की घटना की स्वतंत्र जांच करेगी। पुणे में आगजनी की घटना के मूल कारणों की जांच की गंभीरता को हम समझ रहे हैं और जांच के बाद हम जल्द ही अपडेट साझा करेंगे और खामियां दुरुस्त करेंगे।